1492959798 Image 1492959787033

ट्रंप के राष्ट्रपति बनने की भविष्यवाणी कर चुके शख्स ने कहा है कि तीसरा विश्व युद्ध मई महीने में होगा. यह खबर इंटरनेशनल मीडिया में सुर्खियां बना रही है. क्लेयरवायंट होरोसिओ विलगैस नाम के शख्स ने यह भी कहा है कि 13 मई के दिन ही युद्ध शुरू होगा.
दुनिया में रूस, अमेरिका और सीरिया के बीच तनाव मौजूद है. विलगैस ने 2015 में ही डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति बनने की भविष्यवाणी कर दी थी. उन्होंने तीसरे विश्व युद्ध के होने का कारण भी ट्रंप को बताया था.
रिपोर्ट्स के मुताबिक, विलगैस ने कहा है कि दुनिया के ताकतवर नेता सीरिया पर हमला करेंगे. केमिकल अटैक भी किया जा सकता है. इस वजह से रूस, नॉर्थ कोरिया और चीन के बीच संघर्ष शुरू हो जाएगा.
सैकड़ों शक्तियां टकराएंगी 

विलियगस ने नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी का भी समर्थन किया है. नास्त्रेदमस ने कहा था कि एक साथ सैकड़ों शक्तियां टकराएंगी और काफी संख्या में मौतें होंगी.
विलियगस ने यह भी कहा है कि सीरिया के राष्ट्रपति असद की बम विस्फोट में मौत हो जाएगी. भविष्यवाणी के मुताबिक 13 अप्रैल से 13 मई के बीच कई तरह की अजीबोगरीब खबरें आएंगी.
उनका कहना है कि झूठी सूचनाओं पर आधारित हमलें की खबरें भी आएंगी. इनमें उत्तरी कोरिया और सीरिया से जुड़ी खबरें अधिक होंगी.

Published in International

1492959502 Image 1492959487719

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में रहने वाला एक व्यक्ति अत्यंत गरीबी के कारण पिछले 25 सालों से पेड़ों की पत्तियां और टहनियां खाकर जिंदगी गुजार रहा है. द न्यूज इंटरनेशनल की रिपोर्ट के मुताबिक, गुजरावालां जिले के महमूद बट्ट के पास कोई काम नहीं था और उसके पास खाना जुटाने तक के लिए पैसे नहीं थे, इसलिए उसने जिंदा रहने के लिए पत्तियां खानी शुरू कर दी.
हैरानी की बात यह है कि वह इतने सालों से पत्तियां खाने के बावजूद कभी बीमार नहीं पड़ा. बट्ट ने कहा, 'मेरा परिवार बेहद गरीब है. मेरे लिए खाना जुटाना भी बेहद मुश्किल था, इसलिए मैंने सोचा कि सड़क पर भीख मांगने से बेहतर है कि मैं पत्तियां और टहनियां खाकर ही गुजारा कर लूं.'
कई सालों बाद काम मिलने और आर्थिक स्थिति बेहतर होने के बावजूद अब भी उनकी यह अनोखी आदत वैसी ही बनी हुई है. बट्ट ने कहा, 'लकड़ी और पत्तियां खाना अब मेरी आदत में शुमार है.'

बट्ट के पड़ोसियों ने कहा कि अब वह हर रोज 600 पाकिस्तानी रुपये कमाता है, लेकिन वह हर जगह ताजी पत्तियों और टहनियों की तलाश में रहता है. उसके पड़ोसी गुलाम मोहम्मद ने कहा, 'वह किसी भी समय सड़क किनारे अपनी गधा गाड़ी रोककर पेड़ की ताजी टहनियां खाने लगता है.'
बट्ट अपनी इस अनोखी आदत और उसके बावजूद कभी बीमार न पड़ने के कारण अपने इलाके में खासा लोकप्रिय है. मोहम्मद ने कहा, 'उसे कभी भी किसी डॉक्टर के पास नहीं जाना पड़ा. हमें भी यह देखकर हैरानी होती है कि इतने सालों से पत्तियां और टहनियां खाने के बावजूद कोई व्यक्ति स्वस्थ कैसे रह सकता है.'

Published in International

1492512089 Image

कारोबारी विजय माल्या को लंदन में गिरफ्तार किया गया है. भारत सरकार के आग्रह पर आज इंटरपोल के जरिये हिरासत में लिया गया है. इसे भारत सरकार की बड़ी सफलता के रूप में लेना चाहिए. भारत की टीम जल्द ही लंदन जा सकती है.

गिरफ्तारी के बाद विजय माल्या को लंदन की अदालत में पेश किया गया है. माल्या को भारत लाने की प्रक्रिया में सरकार जुटी है. माल्या से पूछताछ के लिए सीबीआई की टीम लंदन जाने वाली है, सीबीआई की टीम ही माल्या को लेकर आएगी.


विजय माल्या पर कुल 17 बैंकों का लगभग 7,800 करोड़ रुपये का कर्ज है. विजय माल्या ने 2003 में किंगफिशर एयरलाइंस की शुरुआत की थी. 2005 में पहली बार एयरलाइंस ने दिल्ली-मुंबई के बीच उड़ान भरनी शुरू की.

इसके बाद कंपनी ने एयर डेक्कन का भी अधिग्रहण किया, लेकिन 2008 के बाद किंगफिशर की उड़ान रनवे से फिसलती चली गई और 2014 में इसकी उड़ान पर पूरी तरह से ब्रेक लग गया.

विजय माल्या एक वक्त में दुनिया की सबसे बड़ी शराब बनाने वाली कंपनी युनाइटेट स्पिरिट्स के चेयरमैन थे . लेकिन किंगफिशर एयरलाइंस में घाटे का असर उन्हें इस कंपनी को गंवा कर चुकाना पड़ा .

दुनिया की बड़ी शराब निर्माता कंपनियों में से एक युनाइटेड स्पिरिट्स ग्रुप के मालिक थे . 2013 में विदेशी कंपनी डियाजियो ने माल्या की युनाइटेड स्पिरिट्स में बड़ी हिस्सेदारी खरीद ली , लेकिन हाल ही में उन्होंने डियाजियो से 515 करोड़ लेकर कंपनी के चेयरमैन पद से इस्तीफा दे दिया .
कलकत्ता यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट माल्या तड़क-भड़क, आलीशान पार्टियों और विन्टेज कारों के लिए जाने जाते रहे हैं . फोटो कैलेंडर लॉन्चिंग के वक्त पर उनकी मॉडलों के साथ तस्वीरें पिछले कई सालों तक सुर्खियों में रहीं . विजय माल्या के पास 250 से ज्यादा लग्जरी और विन्टेज कारें थीं . माल्या को यूबी समूह पिता से 28 साल की उम्र में विरासत में मिला था .

विजय माल्या ने राजनीति में भी दस्तक दी थी . हालांकि अब विजय माल्या न तो राजनीति में और न ही कारोबार के धुरंधर खिलाड़ी रह गए हैं . अब वो सिर्फ भारत के सबसे बड़े कर्जदारों में से एक हैं जिन पर बैंकों का करीब 7800 करोड़ रुपये बकाया है .

Published in International

1492497104 Image

भारतीय नेवी के रिटायर्ड अधिकारी कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान ने मौत की सजा सुनाई है। भारत की तरफ से उसे बचाने की हरसंभव कोशिश की जा रही है, लेकिन पाकिस्तानी आर्मी ने एक बार फिर जाधव तक कांउसलर एक्सेस देने से इनकार कर दिया। भारत अब तक जाधव तक पहुंचने की 14 कोशिशें कर चुका है। बता दें कि PAK की आर्मी कोर्ट ने इंडियन नेवी के पूर्व ऑफिसर कुलभूषण को जासूसी के आरोप में फांसी की सजा सुनाई है। इस भारत ने सख्त रुख अपनाते हुए कहा था कि पाक ने जाधव को जो सजा सुनाई है, वो सोचा-समझा मर्डर है।


- पाकिस्तानी आर्मी के सपोक्सपर्सन मेजर जनरल आसिफ गफूर ने सोमवार को मीडियाकर्मियों से कहा, 'कानून के मुताबिक हम जाधव तक राजनियक पहुंच नहीं दे सकते, जो कि जासूसी में शामिल था। जाधव पाकिस्तान के खिलाफ एक्टिविटीज में शामिल था। आर्मी की जिम्मेदारी है कि उसे सजा दी जाए। हमने इस पर कोई समझौता नहीं किया है और उसे सजा सुनाई है।"
- " ट्रायल के दौरान जाधव की कानूनी जरूरतों को पूरा किया गया था। जाधव को ऐसे सबूतों के आधार पर सजा सुनाई गई है जिन्हें किसी भी फोरम पर गलत नहीं साबित किया जा सकता।"
- " भारतीय नागरिक फैसले के खिलाफ आर्मी की अपीलीय कोर्ट में जा सकता है और उसके बाद आर्मी चीफ के पास अपील कर सकता है। वह सुप्रीम कोर्ट और पाकिस्तान के प्रेसिडेंट के सामने भी अपील दायर कर सकता है, लेकिन सेना हर फोरम पर उसका विरोध करेगी।"

भारत ने ऑर्डर की कॉपी मांगी थी, जाधव से मिलने की अपील की थी
- इस्लामाबाद में 14 अप्रैल को इंडिया के हाई कमिश्नर गौतम बम्बावले ने PAK फॉरेन सेक्रेटरी तहमीना जंजुआ से मुलाकात की थी।
- बम्बावले ने कहा था, "उन लोगों ने जाधव से मिलने की हमारी रिक्वेस्ट 13 बार ठुकराई। मैंने एक बार फिर फॉरेन सेक्रेटरी से रिक्वेस्ट की है कि हमें जाधव से मिलने दिया जाए, ताकि हम अपील कर सकें।" - "हम निश्चित रूप से इस फैसले के खिलाफ अपील करेंगे। लेकिन, हम तब तक ऐसा नहीं कर सकते हैं, जब तक हम चार्जशीट और फैसले की कॉपी न देख लें। इसलिए मेरी पहली मांग ये कॉपी दी जाए।"

क्या है मामला?
- पाक आर्मी ने वहां की जेल में बंद भारतीय अफसर कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा सुनाई है। पाक ने आरोप लगाया था कि जाधव भारतीय जासूस है।
- पाक मिलिट्री के अफसर मेजर जनरल आसिफ गफूर ने ट्वीट किया था कि पाकिस्तान आर्मी एक्ट के तहत जाधव का फील्ड जनरल कोर्ट मार्शल (FGCM) किया गया और फांसी की सजा सुनाई गई।
- इसके बाद भारत ने पाकिस्तान के हाई कमिश्नर अब्दुल बासित को तलब किया। उन्हें डिमार्शे (डिप्लोमैटिक डिमांड लेटर) सौंपा। इसमें कहा गया- अगर सजा पर अमल होता है तो ये कानून के बुनियादी नियमों के खिलाफ होगा। इसे सोचा-समझा कत्ल कहा जाएगा।
- डिमार्शे में आगे कहा गया- ये ध्यान रखा जाना चाहिए कि पाकिस्तान में इंडियन हाई कमीशन को ये बताने की जरूरत भी नहीं समझी गई कि कुलभूषण पर केस चल रहा है। भारत के लोग और सरकार इसे सोचा-समझा कत्ल ही मानेंगे।
- वहीं, पाकिस्तान ने कहा है कि कुलभूषण जाधव को सुनाई गई फांसी की सजा के खिलाफ 60 दिन के अंदर अपील की जा सकती है।

Published in International

मिस्र की इमान अहमद ने यहां के सैफी अस्पताल में अपने मोटापे का इलाज कराते हुए 262 किलोग्राम वजन कम किया है। इसके बावजूद अंदेशा है कि वह कभी चल नहीं पाएंगी। डॉक्टरों का कहना है कि अर्से से बिस्तर पर पड़े रहने के कारण इमान की मांसपेशियां काफी कमजोर हो गई हैं। वह तंत्रिकाओं से जुड़ी नई चुनौती का सामना कर रही हैं। इमान यहां आने से पहले दुनिया की सबसे मोटी महिला थीं। उनका वजन करीब 500 किलोग्राम था। वह 11 फरवरी को एक चार्टर्ड विमान से यहां इलाज के लिए आईं। तब से वह सैफी अस्पताल में जाने-माने बेरिएट्रिक सर्जन मुफज्जल लकड़ावाला और उनकी टीम की निगरानी में हैं। उनका वजन कम करने के लिए एक सर्जरी भी की गई है। मांसपेशियां बेहद कमजोर इमान का उपचार करने वाले डॉक्टरों का कहना है कि इमान ढाई दशक से बिस्तर पर हैं। इस कारण उनके पैरों की मांसपेशियां काफी कमजोर हो गई हैं। इससे उनके चल पाने की उम्मीद काफी कम रह गई है। डॉक्टर लकड़ावाला ने कहा, इमान के मोटापे का उपचार पूरा हो चुका है। अब उनको तंत्रिका संबंधी समस्याएं हैं। तीन साल पहले वह लकवाग्रस्त हो गईं थीं। तबसे उनकी मांसपेशियों में बेहद कम गतिविधि हुई। इसने तथा बाद में बढ़े वजन ने उनकी सेहत संबंधी समस्याओं को जटिल बना दिया।  बैठने और झुकने में सक्षम इमान की अब फिजियोथेरेपी की जा रही है। डाक्टर अब उनकी तंत्रिकाओं के पुनर्वास पर ध्यान दे रहे हैं। डॉक्टर लकड़ावाला ने कहा, अब वह बैठने और थोड़ा झुकने में सक्षम हैं। लेकिन उनका अपने पैरों पर चल पाना मुमकिन नहीं लग रहा है। लकड़ावाला ने कहा, जब इमान को मुंबई लाया गया था तब उनका वजन 498 किलोग्राम था। उनके अंगों की कार्यक्षमता पांच फीसदी थी जो अब 60 फीसदी हो गई है।  अभी और कम होगा वजन इमान थोड़ा बहुत अवसाद में भी हैं क्योंकि यहां उनसे बात करने वाला एकाध ही है। उन्हें अपने परिवार की कमी खलती है। गैर अरबी भाषा में उनसे बात करना और मुश्किल हो जाता है। लगभग आधा वजन कम हो जाने के बावजूद वह अब भी सीटी स्कैन मशीन में समा नहीं पा रहीं। इसलिए डॉक्टर उनका वजन 50 किलो और करने की योजना बना रहे हैं। 

Published in International
Page 1 of 7

Media News

  • Bollywood
  • Life Style
  • Trending
  • +18
  • IPL 2017
Post by साकेत सिंह धोनी
- Apr 26, 2017
रवीना टंडन इन दिनों काफी चर्चा में हैं, वजह है उनकी हालिया रिलीज फिल्‍म मातृ द मदर। इस फिल्‍म में वो एक गैंग रेप शिकार ...
Post by साकेत सिंह धोनी
- Apr 25, 2017
यह सच है कि अभी तक कैंसर की कोई कारगर दवा तैयार नहीं हुई है। लेकिन कुछ बातों का हम पहले से ही ख्याल ...
Post by सत्य चरण राय (लक्की)
- Apr 26, 2017
क्या सच में हुआ योग गुरु बाबा रामदेव का एक्सीडेंट ? जानिए इस फोटो की सच्चाईयोग गुरु बाबा रामदेव के एक्सीडेंट की खबर इन ...
Post by साकेत सिंह धोनी
- Apr 24, 2017
कई फेयरनेस क्रीमों में पुरुषों के स्पर्म मिलाया जाता है। लेकिन एक महिला रोजाना तरह-तरह के ड्रिंक्स में पुरुषों का ...
Post by साकेत सिंह धोनी
- Apr 24, 2017
बेहतरीन पारी खेलकर फॉर्म में वापसी करने वाले महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि अगर कोई खिलाड़ी धैर्य बरकरार रखता है तो कोई भी ...
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…