*अमर ने गाए मोदी के तराने???* *वाराणसी*:- समाजवादी पार्टी से राज्‍य सभा सांसद अमर सिंह अब मुलायम सिंह यादव के विरोध में उतर आए हैं। पिछले दिनों उन्‍होंने कहा था कि अखिलेश यादव और शिवपाल यादव के बीच झगड़ा मुलायम ने रचा था ताकि अखिलेश को आगे बढ़ाया जा सके। शुक्रवार को वाराणसी में पत्रकारों से बातचीत में उन्‍होंने एक बार फिर से दावे को दोहराया। साथ ही अमर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ की। काशी विश्‍वनाथ मंदिर में दर्शन के बाद उन्‍होंने कहा कि सपा में कुछ लोग उन्‍हें बाहरी कह रहे हैं लेकिन भारत में रहने वाला व्‍यक्ति किसी भी राज्‍य का हो वह बाहरी कैसे हो सकता है। उन्‍होंने यूपी चुनावों की रैलियों में पीएम मोदी को बाहरी बताने वालों को भी निशाने पर लिया और कहा कि ये लोग राज ठाकरे की जुबान बोल रहे हैं। गांधी परिवार भी कश्‍मीर का रहने वाला है तो इस तरह से तो उन्‍हें भी उत्‍तर प्रदेश में राजनीति नहीं करनी चाहिए। नरेंद्र मोदी वडोदरा से भी जीते थे लेकिन उन्‍होंने बनारस को ही चुना। उन्‍होंने मोदी के बारे में एक टीवी चैनल से बातचीत में कहा कि भगवान कृष्‍ण मथुरा से थे लेकिन उन्‍होंने गुजरात के द्वारका में जाकर रहना पसंद किया। उसी तरह से मोदी ने बनारस को, यूपी को चुना है। मोदी अपने भाषण में कहते हैं कि देश का प्रधानमंत्री यूपी से होना चाहिए। इसलिए उन्‍होंने बनारस को चुना। अमर सिंह ने साथ ही कहा कि वे दूसरी पार्टियों में जाने का मौका भी तलाश रहे हैं। जब भी अच्‍छा अवसर मिला वे चले जाएंगे। हालांकि किस पार्टी में जाएंगे इस बारे में उन्‍होंने कुछ नहीं बताया। टीवी चैनल से अमर सिंह ने कहा कि मुलायम ने उन्‍हें उत्‍तर प्रदेश से बाहर चले जाने को कहा। उन्‍हें सपा के रजत जयंत समारोह से दूर रहने को कहा गया। कहा गया कि समारोह में मत आना। अखिलेश के समर्थक हंगामा करेंगे। इसलिए देश से बाहर सिंगापुर या कहीं ओर चले जाओ। बता दें कि अखिलेश यादव और शिवपाल के बीच कलह में आरोप अमर सिंह पर लगा था। इसके बाद अखिलेश ने अमर सिंह को पार्टी से निकाल दिया था। लेकिन उस समय अमर सिंह सपा सुप्रीमो मुलायम के साथ होने की बात कर रहे थे। प्रतिक

सलेमपुर। प्रत्याशी बदलने को लेकर सपा में चल रहा घमासान तेज होता जा रहा है। विधायक की कार्यप्रणाली से नाराज सपा नेताओं ने मोहम्मद इस्लाम की अध्यक्षता में बैठक कर विधायक पर पार्टी विरोध काम करने का आरोप लगाया।विधायक की जगह दूसरे को टिकट नहीं जारी किया गया तो सड़क पर उतरने की चेतावनी दी है। सलेमपुर सुरक्षित सीट से विधायक मनबोध प्रसाद को प्रत्याशी बनाए जाने से नाराज कार्यकर्ता दो खेमे में बंट गए हैं। सपा नेता रामनरायण यादव ने कहा कि पांच वर्षों में विधायक ने कार्यकर्ताओं को दरकिनार कर पार्टी के विरोध में काम किया। कार्यकर्ताओं को छोड़ विरोधी दलों के प्रभावी लोगों की खुलेआम सहयोग किया। विधायक का कार्यप्रणाली से सलेमपुर के कार्यकर्ताओं में नाराजगी है। अगर प्रत्याशी नहीं बदला गया तो कार्यकर्ता किसी भी कीमत पर विधायक के साथ नहीं देंगे। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष को नेताओं ने चेतावनी दिया है कि अगर तीन फरवरी तक मांग पर विचार नहीं हुआ तो चार से कार्यकर्ता सड़क  पर उतरेंगे। इस दौरान बदरे आलम, दिग्विजय नाथ तिवारी, मंजूर आलम, गोपाल यादव, अवधेश प्रसाद, विश्वेन्द्र प्रताप यादव, शहनवाज लारी समेत कई लोग मौजूद रहे। इस बाबत विधायक मनबोध प्रसाद ने कहा कि सपा कार्यकर्ता ऐसा नहीं कर सकते हैं। विरोध जताने वाले पार्टी के लोग नहीं हैं। सलेमपुर में कार्यकर्ता मजबूती के साथ चुनाव में लगे हैं।

Published in Gorakhpur

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ कैबिनेट में मंत्री रहे नारद राय ने रविवार को बहुजन समाज पार्टी (बसपा) का दामन थाम लिया। नारद राय को मुलायम और शिवपाल यादव का करीबी माना जाता है। इससे पहले अंबिका चौधरी भी समाजवादी पार्टी (सपा) छोड़कर बसपा में शामिल हो गए थे। उनके बसपा में आने पर पार्टी प्रमुख मायावती ने कहा था कि शिवपाल यादव भी आएं तो उनका स्वागत है। लखनऊ में बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने नारद राय को बसपा की सदस्यता दिलाई। राय ने कहा कि सपा में जब मुलायम का ही सम्मान नहीं है, तब वहां रहने का कोई मतलब नहीं था। राय ने कहा कि सपा अपनी नीतियों से भटक गई है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने जिस तरह का व्यवहार अपने पिता के साथ किया, वह काफी दुखद है। ऐसा नहीं होना चाहिए था। उल्लेखनीय है कि कभी शिवपाल की पहल पर कौमी एकता दल (कौएद) का सपा में विलय हो गया था, लेकिन अखिलेश को यह मंजूर नहीं हुआ। मुलायम झुके थे और विलय वापस ले लिया गया। कौएद के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी और अफजल अंसारी परिवार सहित अब बसपा में शामिल हो गए हैं। अंसारी बंधुओं की भले ही आपराधिक छवि रही हो, लेकिन ये पूर्वाचल में गहरी पैठ रखने वाले नेता हैं।

Published in Gorakhpur

लखनऊ । उत्तर प्रदेश में एक बड़े सियासी घटनाक्रम में बहुजन समाज पार्टी ने समाजवादी पार्टी को एक बड़ा झटका देते हुए बाहुबली मुख्तार अंसारी को मऊ विधानसभा से टिकिट दिए दिया है । मुख्तार अंसारी को बसपा टिकिट मिलने से सपा के पूर्वांचल के चुनावी गणित पर बड़ा असर पड़ सकता है । बता दें कि मुख्तार अंसारी की पार्टी कौमी एकता दल के विलय को लेकर समाजवादी पार्टी में अखिलेश यादव और शिवपाल के बीच काफी तनातनी हुई थी जिसके बाद कौमी एकता दल का सपा में विलय हो गया था । बदले घटनाक्रम में समाजवादी पार्टी ने पहले मुख्तार अंसारी को पार्टी प्रत्याशी घोषित किया था लेकिन पार्टी में शुरू हुई उठापटक के बाद मुख्तार अंसारी का टिकिट काट दिया गया था । सपा से टिकिट कटने के बाद सपा नेता शिवपाल यादव के खेमे के कई नेता बसपा के संपर्क में थे । मुख्तार अंसारी को बसपा टिकिट मिलने से अब ऐसे आसार बनते दिख रहे हैं कि अगले कुछ दिनों में कई और सपा नेता बसपा की तरफ रुख कर सकते हैं ।

Published in Gorakhpur

यूपी विधानसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी में टिकट बंटवारे के बाद कई विधायक और मंत्री बागी हो गये. ऐसे नेताओं में कईयों ने दूसरी पार्टी ज्वाइन कर ली तो कई नेताओं ने अखिलेश के प्रत्याशी के विरोध में निर्दलीय लड़ने का ऐलान कर दिया है. सपा छोड़कर जाने वाले नेताओं में से एक नेता और सपा का बड़ा चेहरा माने जाना वाले अंबिका चौधरी भी हैं. जिन्होंने पिछले दिनों बहुजन समाजवादी पार्टी को ज्वाइन कर लिया. इन्ही नेताओं को लेकर मुख्यमंत्री अखिलेश बड़ा बयान दिया है. उन्होंने ऐलान करते हुए कहा है कि जो भी नेता बुआजी(बसपा मुखिया मायावती) के पास जाना चाहते है वो बिना कोई रोक टोक जा सकते हैं. उनलोगों से हम कोई मतलब नहीं रखेंगे. मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने तो यहां तक कह दिया है कि वो पार्टी से बाहर जाने वाले नेता को बुलाने भी नहीं जाएंगे. अखिलेश ने अंबिका चौधरी पर निशाना साधते हुए कहा कि वो इतने बड़े नेता नहीं हैं कि मैं उन्‍हें बुलाने जाऊं. वो अब बुआ के साथ ही खुश रहे. बसपा पर हमला करते हुए कहा कि सपा से पहले की सरकार ने हाथी लगवाने में पैसा बर्बाद कर दिया. क्योंकि विकास करने से उन्हें कोई लेना देना नहीं था. इसके साथ ही अखिलेश ने सपा और कांग्रेस के गठबंधन को सही बताते हुए फिर से सत्ता में आने का दावा किया है. अखिलेश ने कहा, ‘मैं खिलाड़ी हूं और हमने अच्‍छा खेल खेला. जनता को फिर समाजवादी सरकार देंगे. कांग्रेस से गठबंधन के बाद अब 300 से ज्‍यादा सीटें जीतेंगे.’

Published in Gorakhpur
Page 1 of 11

Media News

  • Bollywood
  • Life Style
  • Trending
  • +18
Post by Source
- Feb 27, 2017
89वें एकेडमी अवॉर्ड यानी ऑस्कर का आयोजन 27 फरवरी को लॉस एंजिलिस में होगा। ऑस्कर अवॉर्ड में जितनी उत्सुकता विनर्स को ...
Post by अंकिशा राय
- Feb 27, 2017
हमारे यहाँ की परम्पराओ में ताली बजाने का चलन बरसो से चला आ रहा है। जब भी हम ख़ुशी महसूस करते है, ...
Post by अंकिशा राय
- Feb 27, 2017
मैंने प्यार किया' की भाग्यश्री को तो आप सब जानते ही हैं। फिल्म में उनकी मासूम अदाओं ने लाखों को अपना दीवाना बना दिया ...
Post by Source
- Feb 09, 2017
लड़कियों का फेवरेट होता है मेकअप , मेकअप में भी लिपस्टिक होती है सब लड़कियों की फेवरेट । लेकिन क्‍या आप जानते हैं ...

Living and Entertainment

Newsletter

Quas mattis tenetur illo suscipit, eleifend praesentium impedit!
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…