"BSF में राशन घोटाला उठाने वाला जवान गिरफ्तार : पत्नी ने किया खुलासा" ------------------------------------------------------------ नईदिल्ली:बीएसएफ में जवानों का राशन बाजार में बेच देने वाले मामले को सोशल मीडिया पर उठाने वाले जवान को गिरफ्तार कर लिया गया। यह खुलासा जवान तेज बहादुर की पत्नी ने किया है। तेज बहादुर की पत्नी का कहना है कि वह 31 तरीख से अपने पति के लौटने का इंतजार कर रही थी लेकिन वह नहीं आएं। उन्होंने फोन करके बताया कि उन पर रिटायरमेंट का दबाव डाला जा रहा है। तेजबहादुर की पत्नी ने कहा कि उनकी रिटायरमेंट को एक घंटे में कैंसिल कर दिया गया ओर उसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। जवान की पत्नी ने बताया कि किसी तरह से उन्होंने फोन किया और बताया कि उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। इतना ही नहीं उन्हें धमकी दी जा रही है और मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा है। वो दोषी है लेकिन गिरफ्तार नहीं किया: BSF वहीं बीएसएफ सूत्रों का कहना है कि तेज बहादुर को जांच में दोषी पाया गया है लेकिन गिरफ्तार नहीं किया गया है। उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की सिफारिश की है, जो अभी मंजूर नहीं हुई है। गौरतलब है कि तेजबहादुर जम्मू-कश्मीर के पुंछ सेक्टर में सरहद पर तैनात थे। खराब खाने के वीडियो वायरल करने के बाद उन्हें वहां से हटाकर हेडक्वार्टर में लगा दिया गया था।

‘सपा-कांग्रेस के साथ आने का मुलायम सिंह ने विरोध कर यह साबित कर दिया है कि यह गठबंधन नहीं ठगबंधन है। राहुल गांधी ने 10 साल देश को लूटा, अखिलेश ने पांच साल प्रदेश को लूटा, अब दोनों मिलकर प्रदेश को लूटने की तैयारी में लगे हैं। ऐसे में जरूरत है सुशासन की सरकार की, जो सिर्फ भाजपा ही दे सकती है।’ ये बातें भाजपा के फायर ब्रांड नेता और सांसद महंत आदित्यनाथ ने कहीं। वह लोनी और साहिबाबाद में भाजपा प्रत्याशियों नंद किशोर गुर्जर और सुनील शर्मा के समर्थन में प्रचार करने आए थे। आदित्यनाथ ने कहा कि सपा के राज में सिर्फ अपराध का विकास हुआ है। मुजफ्फरनगर, कैराना और कांधला की घटनाएं यह साबित करती हैं कि सपा सरकार जाति और पंथ देखकर शासन करती है। जाति-पंथ के अनुसार उनके कानून बदल जाते हैं। कैराना से हिंदुओं के पलायन को देखकर लगता है कि जैसे सरकार पश्चिमी उत्तर प्रदेश को भी कश्मीर बना देगी। पिछले दिनों साहिबाबाद के शहीदनगर में भी छेड़छाड़ का विरोध करने पर बुजुर्ग की हत्या करने वाले अपराधी अभी तक खुले में घूम रहे हैं। भाजपा सरकार आई तो दंगाई, अपराधी और घोटालेबाज सभी जेल में होंगे। उन्होंने कहा कि एक बसपा की सरकार थी, जिसने पत्थर की प्रतिमाएं लगा दीं, सपा सरकार है, जिसने अपराध और गुंडाराज की प्रतिमाएं स्थापित की हैं। भाजपा ने अपना घोषणापत्र नहीं संकल्प पत्र जारी किया है। भाजपा ने प्रदेश का विकास कराने की घोषणाएं नहीं की बल्कि संकल्प लिया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कोई भी बने, पर वह भाजपा का सच्चा कार्यकर्ता होगा। गोरखपुर से हिंदू युवा वाहिनी के उम्मीदवार उतारने की बात को उन्होंने सिरे से खारिज किया। उन्होंने कहा कि हिंदू युवा वाहिनी गैर राजनीतिक संगठन है।

Published in Gorakhpur

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ कैबिनेट में मंत्री रहे नारद राय ने रविवार को बहुजन समाज पार्टी (बसपा) का दामन थाम लिया। नारद राय को मुलायम और शिवपाल यादव का करीबी माना जाता है। इससे पहले अंबिका चौधरी भी समाजवादी पार्टी (सपा) छोड़कर बसपा में शामिल हो गए थे। उनके बसपा में आने पर पार्टी प्रमुख मायावती ने कहा था कि शिवपाल यादव भी आएं तो उनका स्वागत है। लखनऊ में बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने नारद राय को बसपा की सदस्यता दिलाई। राय ने कहा कि सपा में जब मुलायम का ही सम्मान नहीं है, तब वहां रहने का कोई मतलब नहीं था। राय ने कहा कि सपा अपनी नीतियों से भटक गई है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने जिस तरह का व्यवहार अपने पिता के साथ किया, वह काफी दुखद है। ऐसा नहीं होना चाहिए था। उल्लेखनीय है कि कभी शिवपाल की पहल पर कौमी एकता दल (कौएद) का सपा में विलय हो गया था, लेकिन अखिलेश को यह मंजूर नहीं हुआ। मुलायम झुके थे और विलय वापस ले लिया गया। कौएद के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी और अफजल अंसारी परिवार सहित अब बसपा में शामिल हो गए हैं। अंसारी बंधुओं की भले ही आपराधिक छवि रही हो, लेकिन ये पूर्वाचल में गहरी पैठ रखने वाले नेता हैं।

Published in Gorakhpur

बीएसएफ जवान तेज बहादुर की पत्‍नी ने कहा- मेरे पति पर शिकायत वापस लेने और माफी मांगने का बनाया जा रहा है दबाव* सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवान तेज बहादुर यादव की पत्‍नी शर्मिला यादव ने गुरुवार को दावा किया कि मेरे पति पर शिकायत वापस लेने का दबाव बनाया जा रहा है। साथ ही मेरे पति पर माफी मांगने का दबाव बनाया जा रहा है। तेज बहादुर ने नया आरोप लगाते हुए कहा है कि उस पर शिकायत वापस लेने का दबाव बनाया जा रहा है। बता दें कि जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर तैनात बीएसएफ जवान तेज बहादुर यादव ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्‍ट कर आरोप लगाया है कि जवानों को घटिया खाना खिलाया जाता है और कई बार उन्हें ‘खाली पेट’ रहना पड़ता है। *तेज बहादुर ने कल पत्नी से बातचीत में दबाव की बाबत खुलासा किया है। तेज बहादुर की पत्नी ने बुधवार को मीडिया में ऑडियो जारी कर आरोप लगाया है कि बीएसएफ जांच का दिखावा कर रही है और तेजबहादुर पर आरोप वापस लेने का दबाव बनाया जा रहा है। तेज बहादुर की पत्नी ने कहा है कि अगर उनके पति को कुछ हुआ तो सरकार जिम्मेदार होगी। शर्मिला यादव ने यह भी दावा किया कि मेरे पति से कहा जा रहा है कि मीडिया से इस मामले में बात क्‍यों की। तेज बहादुर ने पत्‍नी से फोन पर बात कर इसका खुलासा किया है। तेज बहादुर ने नया आरोप लगाया है कि अधिकरी मेरे ऊपर दबाव बना रहे हैं। मुझ पर शिकायत वापस लेने का दबाव बनाया जा रहा है।* *मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, जवान तेज बहादुर को दूसरी यूनिट में भेज दिया गया है और उसे प्लम्बर का काम सौंपा गया है। प्लंबर का काम दिए जाने पर आलोचना के बाद बीएसएफ ने कहा कि तेज बहादुर को कोई सजा नहीं दी गई है। निष्पक्ष जांच के लिए उसे अलग यूनिट में रखा गया है। तेज बहादुर के साथ न्याय होने की बात कही गई है।* बता दें कि तेज बहादुर ने सीमा पर बीएसएफ जवानों को मिलने वाले खाने की शिकायत करते हुए दो दिन पहले फेसबुक पर वीडियो पोस्‍ट किया था। इसके बाद ये वीडियो वायरल हो गया और बीएसएफ में खराब खाने के मुद्दे ने काफी जोर पकड़ लिया। गौर हो कि जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर तैनात बीएसएफ जवान तेज बहादुर यादव ने आरोप लगाया है कि जवानों को घटिया खाना खिलाया जाता है और कई बार उन्हें ‘खाली पेट’ रहना पड़ता है। बीएसएफ ने आरोप की जांच शुरू कर दी है। सोशल मीडिया मंच पर अपलोड किए गए वीडियो में वर्दी में और राइफल लिए इस जवान ने दावा किया है कि सरकार उनके लिए जरूरी चीजें खरीदती हैं लेकिन उच्च अधिकारी उसे ‘अवैध तरीके से बाजार में बेच देते हैं।’ चार मिनट से अधिक के तीन अलग अलग वीडियो में बीएसएफ की 29 वीं बटालियन के कांस्टेबल टीबी यादव ने वह खाना भी दिखाया है जो उन्हें कथित तौर पर खिलाया जाता है। यादव ने आरोप लगाया कि हमें नाश्ता में बस परांठा और चाय मिलती है और वह भी बिना अचार या सब्जी के। हम 11 घंटे ड्यूटी करते हैं, और कई बार हमें पूरी ड्यूटी के दौरान खड़ा रहना पड़ता है। भोजन में हमें दाल रोटी मिलती है और दाल में बस हल्दी और नमक होते हैं। यह है खाने की गुणवत्ता जो हमें मिलती है। (ऐसे में) कोई जवान कैसे अपनी ड्यूटी कर सकता है। उन्होंने आरोप लगाया कि मैं प्रधानमंत्री से इसकी जांच कराने का अनुरोध करता हूं। कोई हमारी पीड़ा नहीं दिखाता।

NEW DELHI: बॉर्डर सिक्‍युरिटी फोर्स (बीएसएफ) के जवान तेज बहादुर का वीडियो सामने आने के बाद पूरे देश में सैनिकों को मिलने वाली सुविधाओं पर लंबी बहस छिड़ चुकी है, वहीं इसबीच एक और जवान के वायरल वीडियो ने लोगों के बीच चर्चाओं का बाजार गर्म कर दिया है। सामने आया नया वीडियो कहां और कब फिल्‍माया गया इसकी जानकारी अबतक नहीं प्राप्‍त हुई है। वीडियो में अपनी पीड़ा व्‍यक्‍त कर रहा युवक खुद को सीआरपीएफ का जवान बता रहा है। उसने अपना नाम कांस्‍टेबल जीत सिंह बताया है। बताई अपनी पीड़ा जीत सिंह नाम के जवान ने वीडियो के जरिए अपनी पीड़ा व्‍यक्‍त करते हुए कहा है कि वह सीआरपीएफ में कार्यरत है। उसने बताया कि सीआरपीएफ के जवान देश में विषम परिस्‍थितयों में अपनी ड्यूटी देते हैं। लोकसभा चुनावों से लेकर ग्राम पंचायत के चुनाव में सीआरपीएफ के जवानों को तैनात किया जाता है। उसने कहा कि कश्‍मीर से लेकर छत्‍तीसढ़ के जंगलों, वीवीआईपी-वीआईपी सिक्‍युरिटी, एयरपोर्ट, मंदिर-मस्‍जिद और बाजारों में भी सीआरपीएफ के जवान अपनी सेवा देते हैं बावजूद इसके उन्‍हें दी जाने वाली सुविधाएं नाकाफी हैं। पीएम मोदी से लगाई है गुहार वायरल हुए इस नए वीडियो में जीत सिंह ने सरकार से मांग की है कि सीआरपीएफ के जवानों के साथ भेदभाव बंद किया जाए। उसने मांग की है कि सेना के जवानों की तरह ही सीआरपीएफ के जवानों को भी पेंशन सुविधा, मेडिकल सुविधा, कैंटीन की सुविधा प्रदान की जाए। जीत सिंह ने प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी का ध्‍यान अपनी मांगों की तरफ आकृष्‍ट किया है। वीडियो में सीआरपीएफ जवान ने यह भी कहा कि जहां एक तरफ देश में शिक्षकों के लिए अच्‍छी तनख्‍वाह के साथ-साथ परिवार के साथ पर्व-त्‍यौहार मनाने के लिए छुट्टियों की सुविधाएं मिलती हैं वहीं सीआरपीएफ जवानों के साथ भेदभाव क्‍यों अपनाया जाता है। जवान ने सेना और सीआरपीएफ के जवानों को मिलने वाली सुविधाओं में अंतर को भी बताया है। .

Page 1 of 3

Media News

  • Bollywood
  • Life Style
  • Trending
  • +18
Post by Source
- Mar 28, 2017
मुंबई। कई दिनों से सुनील ग्रोवर और कपिल शर्मा की लड़ाई सुर्ख़ियों में है। बात यहां तक पहुंच गयी कि लगा कपिल शर्मा का शो ...
Post by Source
- Mar 28, 2017
अगर आप चमकीले और साफ-सुथरे दिखने वाले फल खरीद रहे हैं तो चौकन्ने हो जाएं। ये फल शरीर को ताकत देने ...
Post by Source
- Mar 28, 2017
एटीएम का इस्‍तेमाल हम सभी करते हैं। जब भी पैसे निकालने की जरूरत पड़ी, एटीएम गए और पैसे निकाल लिए। यह कितना आसान है। ...
Post by Source
- Mar 26, 2017
पुरूष-महिला के रिश्ते के दौरान संभोग एक ऐसी प्रक्रिया है जिसका आनंद हर कोई उठाना चाहता है। लेकिन इससे होने वाले दर्द की ...

Living and Entertainment

Newsletter

Quas mattis tenetur illo suscipit, eleifend praesentium impedit!
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…