एटीएम का इस्‍तेमाल हम सभी करते हैं। जब भी पैसे निकालने की जरूरत पड़ी, एटीएम गए और पैसे निकाल लिए। यह कितना आसान है। लेकिन कभी सोचा है इस मशीन का निर्माण किसने किया था। एटीएम से पैसे निकालने वाला पहला आदमी कौन था। अगर नहीं पता तो जान लें...पढ़ें पूरी खबर...

1. एटीएम का आविष्कार जॉन शेफर्ड बैरन ने किया था। बैरन स्‍कॉटलैंड के रहने वाले थे लेकिन उनका जन्‍म भारत में हुआ था। जॉन शेफर्ड बैरन का जन्म 23 जून 1925 को मेघालय के शिलांग में हुआ था। उस समय उनके स्कॉटिश पिता विलफ्रिड बैरन चिटगांव पोर्ट कमिश्‍नर के चीफ इंजीनियर थे।


2. क्‍या आपको पता है कैश निकालने वाला पहला एटीएम 27 जून 1967 को लगाया गया था। इसे लंदन के बारक्लेज बैंक में लगाया गया था।


3. उस समय कुछ ही ग्राहकों को इसकी सेवा का लाभ मिल पाया था। उस समय डेबिट कार्ड के बजाए क्रेडिट कार्ड के जरिए इसकी सेवाओं का उपयोग किया जाता था। एटीएम के पहले उपयोगकर्ता कॉमेडी एक्टर रेग वरने थे।


4. जॉन शेफर्ड बैरन एटीएम का पिन नंबर 6 डिजिट का रखना चाहते थे लेकिन उनकी पत्नी कारोलिन को 6 डिजिट याद नहीं होते थे। फिर उन्होंने सोचा लोग 6 डिजिट का पिन याद नही रख पाएंगे और उन्होंने 4 डिजिट का पिन ही बनाया। आज भी 4 डिजिट का ही पिन चलन में है।


5. भारत में पहला एटीएम साल 1987 में लगाया गया था। भारत में पहला एटीएम मुंबई में हांगकांग एंड शंघाई बैंकिंग कॉर्पोरेशन (HSBC) के द्वारा लगाया गया था। देश में अब एटीएम की संख्या तेजी से बढ़ रही है। पूरी दुनिया में लगभग 30 लाख एटीएम हैं जिनमें से 2.5 लाख एटीएम भारत में हैं। भारत में एटीएम से किसी ओर दिन की बजाय सबसे ज़्यादा कैश शुक्रवार को निकाला जाता है।


6. केरल के कोचि शहर में पहला तैरने वाला एटीएम लगाया गया था। ये मशीन स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया ने झंकार में लगाई थी। इसकी ओनर Kerala Shipping and Inland Navigation Corporation (KSINC) कंपनी थी।


7. दुनिया का सबसे ऊँचा एटीएम नाथू-ला में है। समुद्र तल से इसकी ऊँचाई 14300 फ़ीट है। इसे यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया के द्वारा संचालित किया जाता है। यह एटीएम भारत-चीन बॉर्डर पर मौजूद आर्मी के लिए लगाया गया है।


8. ब्राजील में बैंकिंग ट्रांज़ेक्शन और पासवर्ड को ज़्यादा सेफ बनाने के लिए बायोमेट्रिक एटीएम का उपयोग किया जाता है। इस प्रकार के एटीएम में पैसा निकालने के लिए पिन की जगह फिंगरप्रिंट प्रयोग होते है।


9. एटीएम से सिर्फ पैसे ही नहीं बल्कि गोल्ड भी निकलता है। आबूधाबी के अमीरात पैलेस होटल की लॉबी में गोल्ड-प्लेट निकालने वाली पहली मशीन लगाई गयी थी। इससे 320 तरह के गोल्ड आयटम निकाले जा सकते थे।


10. दुनिया का सबसे अकेला एटीएम अंटार्कटिका में है। वास्तव में यहाँ दो मशीने हैं (यदि एक ख़राब हो जाये तो दूसरी काम आ सके)। इन्हें Wells Fargo Bank के द्वारा संचालित किया जाता है।

यूपी के बलिया में आपसी सौहार्द्र की अनोखी मिसाल देखने को मिली है. यहां एक मुस्लिम परिवार ने शादी के कार्ड पर श्री गणेशाय नम: छपवाया और फिर इसके बाद पूरे गांव में चर्चा का विषय बन गया.
रिसेप्शन का कार्ड बांटने वाले इस मुस्लिम परिवार का दावा है कि इस पहल से हमलोगों के बीच आपसी रिश्ते और मजबूत होंगे.

दरअसल, पिंडारी गांव के रहने वाले सिराजुद्दीन का 23 मार्च को निकाह हुआ था. आपसी सौहार्द्र और प्यार का ही प्रभाव है कि रिसेप्शन के निमंत्रण पत्र पर उन्होंने श्री गणेशाय नम: लिखवाया है. इतना ही नहीं निमंत्रण पत्र पर नारियल युक्त कलश पर स्वास्तिक का चित्र भी बना है.
खास बात यह है कि इस कार्ड पर मंगलम् भगवान विष्णु: मंगलम गरुड़ध्वज:, मंगलम् पुंडरीकांक्ष मंगलाय तनो हरि भी लिखा गया है.
इस अनोखी पहल पर सिराजुद्दीन ने बताया कि हम लोग हिन्दू-मुस्लिम मिलकर सभी शादी समारोह एक साथ मनाते हैं. हमलोगों ने करीब 700 कार्ड बांटे हैं. मुझे उम्मीद है कि रिसेप्शन में सभी हिंदू परिवार शामिल होंगे.

लखनऊ : भारतीय जनता पार्टी को उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत मिलने के बाद सीएम की कुर्सी संभालने के पांच दिन में ही आदित्यनाथ ने अपने तेवर दिखा दिए हैं। प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने 20 मार्च को अपना कार्यभार संभाला था, जिसके बाद से अभी तक आदित्यनाथ योगी की सरकार को राज्य का कार्य संभाले करीब छह दिन का समय बीता है। मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने शपथ समारोह के बाद से ही एक के बाद एक फैसले लिए हैं, जिनमें से कुछ फैसले काफी महत्वपूर्ण हैं। यह भी पढ़ें: सीएम योगी का अल्टीमेटम, 18 से 20 घंटे काम करने वाले ही साथ रहें 'योगी सरकार' के छह दिन के फैसले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी की सरकार को सूबे में करीब छह दिन हो चुके हैं। इसके दौरान यह सरकार तक 50 महत्वपूर्ण फैसले कर चुकी है* 1- गौ तस्करी पर पूर्ण प्रतिबन्ध। 2- अवैध बूचडख़ानों को तत्काल प्रभाव से बंद करने के आदेश। 3- राजनेताओं को दी गयी सुरक्षा की समीक्षा। 4- अधिकारी-मंत्री अपनी संपत्ति और खातों की जानकारी 15 दिन में दें। 5- कर्मचारी, अधिकारी और मंत्री समय से अपने विभाग में पहुंचे। 6- अधिकारी अपनी योजनाओं को भाजपा के घोषणा पत्र के अनुरूप करें। 7- नवरात्रि और राम नवमी के उपलक्ष्य में 24 घंटे बिजली दी जाये। 8- मंदिरों में पूजा-अर्चना के दौरान श्रद्धालुओं की सुविधा का ख्याल रखा जाये। 9- अयोध्या में राम नवमी के मौके पर आधारभूत सुविधाओं को मुहैया कराया जाये। 10- अधिकारी सूबे के गांवों में 24 घंटे बिजली की व्यवस्था की योजना बनायें। 11- सरकार अस्पतालों के डॉक्टर सही समय पर अस्पताल पहुंचे। 12- 3000 नई मेडिकल शॉप्स खुलवाई जाएंगी, जहां सस्ती दरों पर दवाई उपलब्ध कराई जाएगी। 13- स्वास्थ्य विभाग को एप्प बनाने को कहा गया है। 14- आगरा, इलाहाबाद, मेरठ, गोरखपुर, झांसी में मेट्रो बनायीं जाएगी, 5- सरकार किसानों का शत-प्रतिशत अनाज खरीदेगी। 16- अनाज के क्रय के लिए सरकार छत्तीसगढ़ का मॉडल अपनाएगी। 17- सभी शुगर मिल्स गन्ना खरीद के 14 दिनों के भीतर उसका भुगतान सुनिश्चित करें। 18- सभी सहकारी समितियों को फिर से कार्य करने योग्य बनाया जायेगा। 19- अच्छी छवि वालों को सरकारी ठेकों में प्रमुखता से जगह दी जाएगी। 20- सूखा-बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदाओं से सम्बंधित नुक्सान को संभालने के लिए अधिकारी ध्यान दें। 21- आवास-विकास विभाग अब प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत काम करेगा। 22- शिक्षा के क्षेत्र में अध्यापक गुरु-शिष्य की परंपरा को मजबूती दें। 23- अध्यापक स्कूल में टी-शर्ट न पहनें। 24- साथ ही सभी अध्यापक स्कूल में बेवजह मोबाइल फोन के इस्तेमाल से बचें। 25- सभी गांवों में सड़कों का जाल बिछायेंगे। 26- ट्रांसफार्मर के फुंकने के बाद अधिकारी मौके पर पहुंचकर अपनी देख-रेख में बदलवाएं। 27- सभी मंत्री अपने विभागों की प्रेजेंटेशन 27, 28 और 29 मार्च को देंगे। 28- मंत्री हर हफ्ते अपने विभागों की फाइलों की सूची बनायें। 29- कोई भी मंत्री अपने विभागों से सम्बंधित फाइलों को घर नहीं ले जा सकता है। 30- सरकारी दफ्तरों के कमरों में सीसीटीवी कैमरा लगाये जाएं। 31- बायो मेट्रिक मशीनों से सरकारी दफ्तरों में उपस्थिति दर्ज कराई जाएगी। 32- नागरिक घोषणा पत्र के जरिये लोगों की समस्याओं को जल्द से जल्द सुलझाया जाए 33- फाइलों का निस्तारण जल्द हो 34- सभी सरकारी दफ्तरों में स्वच्छता का विशेष ख्याल रखा जाये। 35- सरकारी दफ्तरों में पॉलिथीन के प्रयोग पर रोक। 36- दफ्तरों में पान-गुटखा आदि पर बैन। 37- साइबर क्राइम अपराधों की रोकथाम के लिए ब्लूप्रिंट तैयार किया जाये। 38- सूबे में महिला पुलिस कर्मियों की संख्या को बढ़ाया जाये। 39- जेलों में सुविधाओं को बढ़ाया जाये। 40- सभी पुलिस थानों में एक महिला और पुरुष पुलिस रिसेप्शन में मौजूद हो। 41- फरियादियों के लिए पीने के पानी की व्यवस्था की जाये। 42- यूपी पुलिस आम जनता के साथ अच्छा व्यवहार करे। 43- किसी भी शिकायत की तत्काल प्रभाव से प्राथमिकी दर्ज हो। 44- सहमति से एक साथ बैठे युवक-युवतियों को पुलिस परेशान न करे। 45- किशोरियों से छेड़छाड़ के मामले के लिए पूरी तरह से अधिकारी जिम्मेदार होंगे। 46- एंटी-रोमियो स्क्वाड का गठन। 47- प्रदेश की सभी सड़कों के गड्ढों को 15 जून तक ठीक किया जायेगा। 48- कैलाश मानसरोवर के लिए राज्य सरकार ने अनुदान की राशि को 50 हजार से बढ़ाकर एक लाख रुपये कर दी है। 49- मरीज स्वास्थ्य विभाग के एप पर अपनी समस्याओं को दर्ज करा सकेंगे। 50- स्कूलों में अध्यापकों की शत-प्रतिशत हाजिरी *मिंटू शर्मा लखनऊ*

यूपी में चल रहें एंटी रोमियो को लेकर पूर्व सीएम अख‍िलेश यादव ने कहा- ''अच्छा हुआ मैने पहले ही शादी कर ली नहीं तो योगी जी मेरी शादी न होने देते।'' अख‍िलेश ने ये बातें शनिवार को मीडि‍या से बातचीत में कही। बता दें, योगी आदित्यनाथ के सीएम बनते ही प्रदेश में मनचलों पर नकेल कसने के लिए एंटी रोमियो स्क्वॉड बनाया गया है।कुछ ऐसी रही अखिलेश-डिंपल की लव स्टोरी...

- अखिलेश की डिंपल से मुलाकात इंजीनियरिंग के दिनों में हुई थी।
- वे तब महज 21 साल के थे और डिंपल 17 की।
- डिंपल तब स्कूल में पढ़ती थीं।
- दोनों की मुलाकात एक कॉमन फ्रेंड के घर पर हुई।
- पहली ही मुलाकात में दोनों के बीच अच्छी कैमिस्ट्री जम गई।

4 साल तक अख‍िलेश ने की थी डेटिंग

- अखिलेश की लाइफ पर किताब लिखने वाली सुनीता एरन ने उनकी लाइफ से जुड़े पर्सनल फैक्ट्स उजागर किए हैं।
- सुनीता की किताब 'अखिलेश यादव - बदलाव की लहर' में उन्होंने डिंपल के साथ रिलेशनशिप का भी जिक्र किया है।
- पहली मुलाकात में अच्छी दोस्ती होने के बाद अखिलेश और डिंपल में रेग्यूलर बातचीत होने लगी।
- जल्द ही ये दोस्ती प्यार में बदल गई।
- सुनीता की किताब के मुताबिक अखिलेश और डिंपल फ्रेंड से मिलने का बहाना बनाकर एकदूसरे से छुपकर मिलते थे।
- वे कभी लखनऊ के मोहम्मद बाग क्लब, तो कभी कैंट सूर्या क्लब में।
- इंजीनियरिंग पूरी होने के बाद अखिलेश ऑस्ट्रेलियाई यूनिवर्सिटी से मास्टर्स डिग्री लेने सिडनी निकल गए।
- अखिलेश के हवाले से किताब में लिखा है कि सिडनी जाने के बाद भी अखिलेश डिंपल से लगातार कॉन्टेक्ट में रहे। वे डिंपल को लेटर्स लिखते थे, ग्रीटिंग कार्ड्स भेजते थे।
- यह सिलसिला अखिलेश की मास्टर्स डिग्री पूरी होने तक चला।

Page 1 of 110

Media News

  • Bollywood
  • Life Style
  • Trending
  • +18
Post by Source
- Mar 28, 2017
मुंबई। कई दिनों से सुनील ग्रोवर और कपिल शर्मा की लड़ाई सुर्ख़ियों में है। बात यहां तक पहुंच गयी कि लगा कपिल शर्मा का शो ...
Post by Source
- Mar 28, 2017
अगर आप चमकीले और साफ-सुथरे दिखने वाले फल खरीद रहे हैं तो चौकन्ने हो जाएं। ये फल शरीर को ताकत देने ...
Post by Source
- Mar 28, 2017
एटीएम का इस्‍तेमाल हम सभी करते हैं। जब भी पैसे निकालने की जरूरत पड़ी, एटीएम गए और पैसे निकाल लिए। यह कितना आसान है। ...
Post by Source
- Mar 26, 2017
पुरूष-महिला के रिश्ते के दौरान संभोग एक ऐसी प्रक्रिया है जिसका आनंद हर कोई उठाना चाहता है। लेकिन इससे होने वाले दर्द की ...

Living and Entertainment

Newsletter

Quas mattis tenetur illo suscipit, eleifend praesentium impedit!
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…