एसटीएफ ने एक नेताजी के पास से चोरी का मोबाइल बरामद किया है। 16 जनवरी को असुरन चौराहे पर एक व्यक्ति के जैकेट से मोबाइल किसी ने निकाल लिया था। उसने पुलिस से शिकायत की थी। शाहपुर थाना क्षेत्र के बौलिया रेलवे कालोनी निवासी बीडी त्रिपाठी एक प्राइवेट कम्पनी में अधिकारी हैं। 16 जनवरी को वह बाइक से घर जा रहे थे। असुरन ओवरब्रिज से रेलवे यांत्रिक कारखाने के बीच में उचक्कों ने उनकी जेब से मोबाइल निकाल लिया। घर पहुंचकर जब उन्होंने जैकेट उतारी तो मोबाइल गायब था। उन्होंने शाहपुर थाने में पहुंच कर मोबाइल चोरी की तहरीर दी। हालांकि पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज की। उन्होंने इसकी शिकायत पुलिस के उच्चाधिकारियों से की। मोबाइल ढूंढने की जिम्मेदारी एसटीएफ करे सौंपी गई। एसटीएफ ने मोबाइल को सर्विलांस पर लगा दिया। मोबाइल का लोकेशन पादरी बाजार चौकी के निकट मिला। मोबाइल खजनी विधानसभा से एक राष्ट्रीय दल के टिकट पर चुनाव लड़ चुके नेताजी चला रहे थे। एसटीएफ ने जब उनपर दबाव बनाया तब जाकर उन्होंने मोबाइल दिया। हालांकि वह यह नहीं बता सके की उनको मोबाइल कहां से मिला।

Published in Gorakhpur

उपेन्द्र दत्त शुक्ला द्वारा विधानसभा चुनाव लड़ने से मना करने से भाजपा का समीकरण उलझा हुआ नजर आ रहा है। पूर्वी उत्तर प्रदेश के एक एक कार्यकर्ताओं को व्यक्तिगत रूप से जानने वाले श्री शुक्ला को सहजनवा से प्रत्याशी बनाये जाने की जोर शोर से चर्चा रही,विश्वसनीय सूत्रों के अनुसार पता चल रहा है कि श्री शुक्ल द्वारा टिकट लेने से मना कर देने व संगठन के कुशल संचालन करने पर पार्टी नेतृत्व उनके छोटे पुत्र "अमित दत्त शुक्ला " को संगठन में बड़ी जिम्मेदारी देने का मन बना लिया है। ञात हो अमित दत्त शुक्ल संघ व विद्यार्थी परिषद के कार्यक्रमो में बढ चढ़ कर भागीदारी करते रहे हैंऔर विभिन्न सामाजिक व स्वयं सेवी संगठनों से जुड कर समाजसेवा के कार्यों में सम्मिलित रहते हैं। गोरखपुर और आस पास के जनपदों में अमित दत्त शुक्ल के हजारों की संख्या में युवा समर्थक हैं। उनके पिता श्री उपेन्द्र दत्त शुक्ल भाजपा के प्राथमिक पदों से अपनी राजनीतिक शुरुआत करते हुये, अपने लगन व परिश्रम के बलबूते आज इस पद पर आसीन है। श्री शुक्ल के बारे में यह बात प्रचलित है की उन्होंने कभी लाभ की राजनीति नहीं की और न ही कभी अपने परिवार के सदस्यों को कोई राजनैतिक लाभ पहुँचाया। ऐसे में भारतीय जनता पार्टी अगर उनके पुत्र "अमित दत्त शुक्ला" को संगठन में मौका देती है तो पूर्वी उत्तर प्रदेश के युवाओं के नेतृत्व को एक नया सितारा मिल सकता है। प्रखर वक्ता और समसामयिक विषयों के जानकार "अमित दत्त शुक्ल" के कुछ शुभचितंको से पूछने पर पता चला की उनके सक्रिय राजनीति में आने से अनेकों युवा भारतीय जनता पार्टी के साथ सीधे जुड सकते हैं। लेकिन भारतीय जनता पार्टी के क्षेत्रिय अध्यक्ष उपेन्द्र दत्त शुक्ल" ने इस बातो का खंडन करते हुये कहा कि,मेरे रहते, मेरे परिवार का कोई भी सदस्य राजनीति में नहीं आयेगा " अमित जी मेरी अनुपस्थिति मे जरूर कुछ जगह गये हैं, लेकिन उन्हें सक्रिय राजनीति में आने की कोई आवश्यकता नहीं है, वह परिवार व अपने व्यापार की जिम्मेदारीयों का निर्वहन करेंगे।

Published in Gorakhpur

सीवान में जिलाधिकारी के नेतृत्व में निकाला गया मशाल जूलूस *शराबबंदी के समर्थन में शनिवार को आयोजित होनेवाली मानव श्रृंखला के सफलता के लिए शुक्रवार की देर शाम सीवान जिलाधिकारी महेंद्र कुमार के नेतृत्व में सीवान शहर में गोपालगंज मोङ से तरवार मोङ तक एक मशाल जूलूस निकाल कर आम लोगों से मानव श्रृंखला में शामिल होने के लिए अपील किया गया*

लखनऊ (हिमांशु द्विवेदी) - भाजपा सांसद और फायरब्रांड नेता योगी आदित्यनाथ को अखिल भारतीय हिंदू महासभा यूपी विधानसभा चुनावों में अपना सीएम कैंडिडेट बनाने को तैयार है। हिंदू महासभा के कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी गोरखपुर टाइम्स के संवाददाता हिमांशु द्विवेदी के मुताबिक हिन्दू महासभा योगी आदित्यनाथ के पास प्रदेश अध्यक्ष के जरिए सीएम कैंडिडेट बनने का प्रस्‍ताव भेजेगी। अगर वह मान जाते हैं तो महासभा योगी के ही चेहरे को आगे कर चुनाव में उतरेगी। गौरतलब है कि बीजेपी में एक तबका जो योगी समर्थक है उसका कहना है कि योगी को पार्टी का सीएम कैंडिडेट न घोषित कर उन्‍हें साइडलाइन किया जा रहा है। कमलेश तिवारी ने बताया कि योगी पहले हिंदू महसभा के हैं, फिर बीजेपी के नेता हैं। उनके आशीर्वाद से गोरखपुर अर्बन से चुनाव लड़ने वाले डॉ राधा मोहन दास अग्रवाल 2007 तक हिंदू महासभा से ही चुनाव लड़े। यही नहीं महंत अवैद्यनाथ भी हिंदू महासभा के सांसद रह चुके हैं लेकिन जब योगी आदित्यनाथ चुनाव में उतरे तो हिंदू महासभा पर चुनाव लड़ने पर रोक लगा दी गई थी, जिस वजह से वे बीजेपी में शामिल हो गए। कमलेश ने दावा किया की ये लगभग सही है कि बीजेपी योगी आदित्‍यनाथ को यूपी में सीएम के चेहरे के रूप में घोषित नहीं करेगी। यही सोचकर वो उनके पास प्रस्ताव भिजवा रहे हैं। अगर वह राजी हो गए तो उन्हें सीएम कैंडिडेट घोषित किया जाएगा। कमलेश तिवारी ने बताया, अगर योगी उनकी पार्टी में आ जाये तो वो 200 से ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। अगर वह नहीं मानते हैं तो भी हम 200 सीटों पर ही चुनाव में उतरेंगे। कमलेश ने दावा किया की भाजपा के कई नेता हिन्दू महासभा के संपर्क में है, उनको सिर्फ बीजेपी के टिकट की लिस्ट सामने आने का इंतजार है। लिस्‍ट आने के बाद कई बड़े नेता हिंदू महासभा से चुनाव में उतर सकते हैं।" कमलेश के मुताबिक जल्द ही शंकराचार्य नरेंद्रनंद हिन्दू महासभा का घोषणा पत्र भी जारी करेंगे। जिसमें हिंदू स्वराज की स्थापना, जातिगत आरक्षण खत्म करने,यूपी में छात्रसंघ बहाल कराने,महिलाओं की सुरक्षा के लिए महिला मित्र पुलिस की स्थापना करने जैसे वादे शामिल हैं। चुनाव प्रचार में काशी, अयोध्या और दूसरे कई धार्मिक नगरों में रहने वाले साधू-संत बड़ी संख्या में यूपी में प्रचार करने आएंगे। कमलेश के मुताबिक जल्द ही शंकराचार्य नरेंद्रनंद हिन्दू महासभा का घोषणा पत्र भी जारी करेंगे। जिसमें हिंदू स्वराज की स्थापना, जातिगत आरक्षण खत्म करने,यूपी में छात्रसंघ बहाल कराने,महिलाओं की सुरक्षा के लिए महिला मित्र पुलिस की स्थापना करने जैसे वादे शामिल हैं। चुनाव प्रचार में काशी, अयोध्या और दूसरे कई धार्मिक नगरों में रहने वाले साधू-संत बड़ी संख्या में यूपी में प्रचार करने आएंगे।

Published in Gorakhpur

गोरखपुर: (हिमांशु द्विवेदी) विधानसभा चुनाव के मद्देनजर आर्दश आचार संहिता को लेकर जगह-जगह चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है। वहीं गोरखपुर में आज पंप कारोबारी के पास से डेढ़ लाख बरामद किया है। जबकि चेकिंग दौरान एक गाड़ी से ग्यारह किलो चांदी के साथ दो लोगो को पकड़ा है। जानकारी के अनुसार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर लागु आचार संहिता के तहत चल रही फ़्लाइंग स्क्वाड टीम (चुनावी उड़न दस्ते )ने लग्जरी कार की तलाशी के दौरान युवक के पास डेढ़ लाख बरामद किया है। वहीं वाजिब दस्तावेज नहीं बता पाने पर उड़ने दस्ते ने रूपया जब्त किया है। साथ ही युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। हिरासत में आये युवक ने खुद को महराजगंज जिले के धानी इलाके का रहने वाला बताया है। जहां युवक का पेट्रोल पंप का कारोबार है। चुनाव सेल के उड़नदस्ते ने चिलुआताल थाना के मोहरीपुर इलाके से चेकिंग के दौरान पैसों को बरामद किया है। उड़नदस्ता अधिकारी रंजन दिवेदी का कहना है कि हिरासत में लिए गये कारोबारी ने महराजगंज से गोरखपुर आकर पैसे जमा करने की बात कही है। जबकि पैसों के वजिब दस्तावेज नहीं दिखा पाये हैं। ऐसे में पैसों को जब्त कर आगे की कार्रवाई की जा रही है। इसी दौरान आज एक अन्य टीम ने चेकिंग दौरान एक गाड़ी से ग्यारह किलो चांदी के साथ दो लोगो को पकड़ा है। पकड़े गये लोगो की पहचान पुरंदरपुर, महराजगंज के करमहा बुजुर्ग निवासी उपेंद्र मिश्र और माधवपुर, तिवारीपुर निवासी रमेश कुमार के रूप में हुई है। उनके पास से सात और चार किलोग्राम की ठोस चांदी बरामद की गई है। पूछताछ में उन्होंने खुद को गोरखपुर के एक स्वर्ण व्यवसायी का कर्मचारी बताया है। फ़िलहाल पुलिस ने फ़्लाइंग स्क्वायड की तहरीर पर दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर छानबीन में जुट गयी है।

Published in Gorakhpur
Page 1 of 3

Media News

  • Bollywood
  • Life Style
  • Trending
  • +18
Post by Source
- Feb 27, 2017
89वें एकेडमी अवॉर्ड यानी ऑस्कर का आयोजन 27 फरवरी को लॉस एंजिलिस में होगा। ऑस्कर अवॉर्ड में जितनी उत्सुकता विनर्स को ...
Post by अंकिशा राय
- Feb 27, 2017
हमारे यहाँ की परम्पराओ में ताली बजाने का चलन बरसो से चला आ रहा है। जब भी हम ख़ुशी महसूस करते है, ...
Post by अंकिशा राय
- Feb 27, 2017
मैंने प्यार किया' की भाग्यश्री को तो आप सब जानते ही हैं। फिल्म में उनकी मासूम अदाओं ने लाखों को अपना दीवाना बना दिया ...
Post by Source
- Feb 09, 2017
लड़कियों का फेवरेट होता है मेकअप , मेकअप में भी लिपस्टिक होती है सब लड़कियों की फेवरेट । लेकिन क्‍या आप जानते हैं ...

Living and Entertainment

Newsletter

Quas mattis tenetur illo suscipit, eleifend praesentium impedit!
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…