बराक ओबामा के टेन्योर के आखिरी घंटों में अमेरिकी एयरफोर्स ने बड़ी कार्रवाई की है। यूएस के वॉर प्लेन्स ने सीरिया में अल कायदा के ट्रेनिंग कैम्प पर हमला किया, जिसमें 100 से ज्यादा आतंकी मारे गए। - अमेरिकी डिफेंस डिपार्टमेंट के हेडक्वार्टर्स पेंटागन की तरफ से जारी बयान में यह जानकारी दी गई है। - न्यूज एजेंसी के मुताबिक, पेंटागन के स्पोक्सपर्सन नेवी कैप्टन जेफ डेविस ने शुक्रवार को बताया कि हवाई हमले सीरिया के इदलिब प्रोविन्स में आतंकी संगठन अल कायदा के ट्रेनिंग कैम्प को टारगेट कर किए गए। - "यह हमला बराक ओबामा का टेन्योर खत्म होने के एक दिन पहले गुरुवार को किया गया।" - "शेख सुलेमान नाम से अल कायदा का यह ट्रेनिंग कैम्प 2013 से चलाया जा रहा था।" - सीरिया में किए गए हवाई हमले में अमेरिका ने एक B-52 बमवर्षक और ड्रोन विमानों का इस्तेमाल किया। - दावा किया गया है कि हमले में कोई भी लोकल सिटिजन नहीं मारा गया। - ट्रेनिंग कैम्प कट्टरपंथी इस्लामिक और सीरिया के अपोजिशन ग्रुप से अल कायदा में शामिल होने और इसके लिए लड़ाई लड़ने के लिए चलाया जा रहा था। - पेंटागन के मुताबिक, इससे एक दिन पहले लीबिया में भी कार्रवाई की गई थी, जिसमें आईएसआईएस के 80-90 आतंकी मारे गए थे। - हमले में अमेरिका ने B-2 स्टील्थ बॉम्बर्स और ड्रोन विमानों का इस्तेमाल किया था। - लीबिया हमले को ओबामा ने मंजूरी दी थी। अभी ये क्लियर नहीं है कि सीरिया स्ट्राइक के लिए सीधे उनसे मंजूरी ली गई थी या नहीं। - पेंटागन के मुताबिक, इस साल 1 जनवरी से अब तक अल कायदा के 150 से ज्यादा आतंकी मारे जा चुके हैं। - इसमें अल कायदा का ऑपरेशन लीडर मोहम्मद हबीब बुसाडोन अल-तुनिसी भी शामिल है जो बीते मंगलवार को मारा गया था।

Published in International

दस लाख लोगों के बीच 70 साल के डोनाल्ड जॉन ट्रंप ने अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति रूप में शपथ ली. इस दौरान उन्होंने अमेरिका को आगे बढ़ाने और लोगों के सपनों को पूरा करने की बात कही. उन्होंने अपने शपथ भाषण में दस बड़ी बातें कहीं जो इस प्रकार हैं... 1. शपथ ग्रहण के दौरान ट्रंप ने कहा कि धरती से कट्टर इस्लामिक आतंकवाद को मिटा दूंगा और आतंकवाद को पूरी तरह समाप्त कर दूंगा. 2. शपथ के बाद ट्रंप ने कहा कि आज से अमेरिका में जनता शासक है. हम मिलकर चुनौतियों का सामना करेंगे. अब गरीबी और बेरोजगारी मिटाना है. 3. ट्रंप ने कहा कि देश में अभी से बदलाव शुरू होंगे. मैं आपकी नौकरियों को वापस लाऊंगा. 4. हमने दूसरों की रखवाली की पर अपनी नहीं की. अब मैं आपको कभी मायूस नहीं करूंगा. 5. चाहे कोई ब्लैक हो या वाइट हो, हमें ये सोचना चाहिए कि हम सभी अमेरिकी हैं और सभी का खून लाल रंग का ही है. 6. हमने अब तक दूसरों की रखवाली की, पर अपनी नहीं की. 7. अब बात करने का समय खत्म हो गया है. अब ऐक्शन लिया जाएगा. 8. उन्होंने कहा कि मैं 'बाय अमेरिकन और हायर अमेरिकन' का अनुसरण करूंगा 9. ट्रंप ने अपने भाषण के अंत में कहा कि हम अमेरिका को फिर से महान बनाएंगे. 10. मेरे कार्यकाल में सबकुछ पहले अमेरिकियों के लिए होगा.

Published in International

विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज ने ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन को कड़ी कार्रवाई की धमकी दी है। अमेजन की कनाडा वेबसाइट पर भारत के राष्‍ट्रीय ध्‍वज के अपमान करते उत्‍पाद बेचे जा रहे हैं, जिसकी शिकायत एक यूजर ने सुषमा से की थी। जिसके बाद सुषमा ने अमेजन से बिना शर्त माफी मांगने और सभी उत्‍पाद हटाने को कहा है। सुषमा के अनुसार, अगर अमेजन ऐसा नहीं करती तो उसके कर्मचारियों को भारतीय वीजा नहीं दिया जाएगा। यही नहीं, सरकार पहले दिए गए वीजा भी वापस ले लेगी। अतुल भोबे नाम के यूजर ने तस्‍वीरों के साथ सुषमा को ट्वीट कर कहा था कि ‘अमेजन कनाडा को सेंसर किया जाना चाहिए और भारतीय ध्‍वज के डोरमैट्स न बेचने की चेतावनी दी जानी चाहिए। कृपया कार्रवाई करें।’ जिस पर मंत्रालय ने कनाडा में भारतीय उच्‍चायोग को लताड़ लगाते हुए कहा, ”यह कतई मंजूर नहीं है। कृपया अमेजन के साथ उच्‍चतम स्‍तर पर यह मामला रखें।” ममता ने एक के बाद एक ट्वीट्स कर अमेजन को धमकी भी दी। सुषमा ने लिखा, ”अमेजन बिना शर्त माफी मांगे। उन्‍हें हमारे राष्‍ट्रध्‍वज का अपमान करते सारे उत्‍पाद हटाने ही होंगे। अगर ऐसा नहीं किया गया तो हम किसी भी अमेजन कर्मचारी को भारतीय वीजा नहीं देंगे। हम पहले दिए गए वीजा को भी अवैध घोषित कर देंगे।” अमेजन इससे पहले हिन्‍दू देवी-देवताओं के फोटो वाले डोरमैट बेचकर सोशल मीडिया पर घिर चुकी है। यूजर्स ने तब बाकायदा वेबसाइट का स्‍क्रीनशॉट लगाकर साइट का बॉयकॉट करने की मांग की थी। जिसके बाद अमेजन ने आपत्तिजनक उत्‍पाद वेबसाइट से हटा लिए थे। जनवरी, 2016 में अमेरिकी मैगजीन ‘फॉर्चून’ ने कवर पेज पर अमेजन के सीईओ जेफ बेजस को विष्णु के अवतार में दिखाया था। जिसके बाद सोशल मीडिया पर यूजर्स ने नाराजगी जाहिर की थी और माफी की मांग जोरशोर से उठी थी। 2014 में भी अमेजन पर बिकने वाले लेगिंग्स पर कुछ देवी-देवताओं के प्रिंट होने की बात सामने आई थी।

Published in International

बराक ओबामा के व्हाइट हाउस स्थित ओवल ऑफिस में पहली बार दिवाली मनाई गई। ओबामा ने खुद दीया जलाया। इस मौके पर ओबामा एडमिनिस्ट्रेशन में भारतीय मूल के कई अफसर मौजूद रहे। - ओबामा ने कहा, "मुझे उम्मीद है कि मेरे बाद यहां आने वाले प्रेसिडेंट इस ट्रेडिशन को बनाए रखेंगे।" - 2009 में ओबामा ने व्हाइट हाउस में दिवाली मनाई थी। ऐसा करने वाले वे पहले अमेरिकी प्रेसिडेंट हैं। - ओवल ऑफिस में दीया लगाने पर ओबामा ने कहा, "मैं गर्व महसूस करता हूं कि 2009 में मैंने पहली बार व्हाइट हाउस में दिवाली मनाई।" - "मैं और मिशेल, भारत में दिल खोलकर किए गए स्वागत को कभी नहीं भूल सकते। मुंबई में हमने डांस भी किया था।" - ओबामा ने व्हाइट हाउस के फेसबुक पेज पर कहा, "इस बार मैंने पहली बार ओवल ऑफिस में दीया जलाया। ऐसा करते हुए मैं खुद को काफी सम्मानित महसूस कर रहा हूं। दिवाली इस बात का प्रतीक है कि उजाला कैसे अंधेरे को दूर हटा देता है। मुझे उम्मीद है कि मेरे बाद यहां आने वाले प्रेसिडेंट भी इस परंपरा को कायम रखेंगे।" - ओबामा के ओवल ऑफिस में दीया लगाने के मोमेंट को व्हाइट हाउस के फेसबुक पेज पर शेयर किया गया। - रविवार देर रात तक इसे 1.5 लाख से ज्यादा लोगों ने देखा। फोटो को 33 हजार बार से ज्यादा शेयर किया गया। - ओबामा ने ये भी कहा, "पूरी ओबामा फैमिली की ओर से शांति और खुशी के इस दिवाली के त्योहार की शुभकामनाएं।" - ओबामा ने कहा, "अमेरिका और बाहर के देशों में सेलिब्रेट कर रहे सभी लोगों को हैप्पी दिवाली।" - "हिंदू, जैन, सिख कम्युनिटीज के लोग दीया जलाते हैं, प्रार्थना करते हैं, घर सजाते हैं, लोगों का तहे दिल से स्वागत करते हैं। ये फेस्टिवल बुराई पर अच्छाई की जीत के रूप में मनाया जाता है।" - यूएस प्रेसिडेंशियल इलेक्शन में डेमोक्रेट्स कैंडिडेट हिलेरी क्लिंटन ने भी अमेरिकी-भारतीय लोगों को दिवाली की बधाई दी।

Published in International

रियाद (3 अक्टूबर): सउदी अरब सरकार ने तय किया है कि वो कर्माचारियों को हिजरी कैलेंडर की बजाय ग्रेगोरियन कैलेंडर के हिसाब से सैलेरी देगी। ऐसा इसलिए किया गया है, क्योंकि सरकार अपने खर्च कम करना चाहती है। दरअसल ग्रेगोरियन कैलेंडर के मुकाबले हिजरी कैलेंडर चांद निकलने के हिसाब से दिन तय करता है, जिससे साल के दिन कम हो जाते हैं। ऐसे में जब दुनियभर में काम हो रहा होता है तो सउदी अरब में लोग छुट्टी पर होते हैं। गौरतलब है कि सऊदी अरब दुनिया का सबसे बड़ा तेल निर्यातक देश है। पिछले दो सालों से जिस तरह दुनियभर में कच्चे तेल की कीमतों में कमी आ रही है ऐसे में सऊदी अरब सरकार चाहती है कि खर्च में कमी की जाए। पिछले हफ्ते कैबिनेट ने मंत्रियों की सैलेरी में 20 फीसदी की कटौती का प्रस्ताव पारित किया था इसके अलावा सरकारी नौकरी करने वाले छोटे रैंक के कर्मचारियों के भत्ते में भी कमी की थी।

Published in International
Page 1 of 2

Media News

  • Bollywood
  • Life Style
  • Trending
  • +18
Post by Source
- Jan 21, 2017
वायरल रही Deepika Padukone की इन तस्वीरों के साथ किसी ने फ़ोटोशॉप करके की बेहद भद्दी हरकत, देखें क्या है मामला ...
Post by Source
- Jan 18, 2017
चावल के साथ आपने मसूर से चना और भी कई वेराइटी की दाल खाई होगी. प्रोटीन से भरी दाल आपके हेल्थ के लिए ...
Post by सत्य चरण राय (लक्की)
- Jan 22, 2017
"लखनऊ: चुनाव से पहले बहुजन समाजवादी पार्टी की मुखिया मायावती को अबतक का सबसे बड़ा झटका लगा है. बताया जा रहा है कि के एक ...
Post by Source
- Dec 23, 2016
कामेच्छा यदि किसी भी व्यक्ति में सामान्य लेवल से कम होती है तो जीवन में उसके लिए कई परेशानियां पैदा हो जाती हैं। ...

Living and Entertainment

Newsletter

Quas mattis tenetur illo suscipit, eleifend praesentium impedit!
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…