भारतीय जनता पार्टी ने उत्तर प्रदेश चुनाव में एक नए 4G प्लान के साथ कूदने का मन बना लिया है. बीजेपी का नए 4G मंत्रा में शामिल होंगे गांव, गौ, गंगा और गीता. हालांकि बीजेपी के एजेंडा का केंद्र बिंदू किसान रहेंगे. मेल टुडे के साथ एक एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में बीजेपी किसान मोर्चा के नवनियुक्त प्रमुख वीरेंद्र सिंह ने बीजेपी के 4G प्लान की पुष्टि की. उन्होंने बताया कि पार्टी का मकसद उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव के समय मिली जीत को दोहराना है. जब सब बीजेपी के सामने पस्त नजर आए थे. उत्तर प्रदेश के भदोई से सांसद वीरेंद्र सिंह ने ये भी बताया कि बीजेपी का चुनावी घोषणापत्र किसानों को ध्यान में रख कर तैयार किया जा रहा है. जैसा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 31 दिसंबर को दिए संबोधन में साफ कर ही चुके हैं कि इस बार बजट में किसानों को लाभांवित करने के लिए कई कदम उठाए जाएंगे. वीरेंद्र ने बताया कि 4G प्लान ये ध्यान में रखकर बनाया गया है कि 'गांवो के बिना देश का विकास संभव नहीं, गांव के लोगों खासकर किसानों के लिए गाय का बड़ा महत्व है. वैसे ही गंगा गावों की लाइफलाइन मानी जाती है वहीं गीता हमारी संस्कृति का प्रतिबिंब है.' समाजवादी पार्टी में घमासान और अपने पिता मुलायम सिंह से चुनाव चिन्ह की लड़ाई जीतने के बाद अखिलेश यादव ने बीजेपी की चिंता बढ़ा दी है. बीजेपी ने उत्तर प्रदेश चुनाव के लिए अब कमर कस ली है जो अखिलेश के उदय के बाद ज्यादा मुश्किल होने की संभावना बढ़ गई है. बीजेपी 2002 के बाद से उत्तर प्रदेश की सत्ता से बाहर है. कांग्रेस और सपा के गठबंधन की पुष्टि होने के बाद से बीजेपी की मुश्किलें और बढ़ गई हैं. लेकिन वीरेंद्र सिंह के इस 4G फॉर्मूले से किसानों को साधकर केसरिया पार्टी जाति से ऊपर की राजनीति करने को तैयार है.

Published in Public Opinion

गोरखपुर ।।। कारवाँ चलता रहा लोग जुड़ते रहें कुछ ऐसा ही नजारा आज देखने को मिला जब भावी विधानपरिषद प्रत्याशी संजयन त्रिपाठी का कारवाँ चला ये कारवां था उनके नामांकन के दौरान का जिसमे इतनी ताकत थी की एक नयी इबारत लिख दे ।।। आज गोरखपुर में तमाम लोगों ने अपना पर्चा दाखिला करवाया परंतु जो बात संजयन की थी वो किसी में नहीं गोरखपुर -फैज़ाबाद के भावी प्रत्याशी ने दाखिले के उपरांत जनता के सार्वजनिक सम्बोधन में ये बात कही की युवाओं में वो माद्दा है की इतिहास बदल कर रख दे मैं ये चुनाव जीतकर आप के जोश को सार्थक दिशा दूंगा और गोरखपुर -फैज़ाबाद मंडल क्षेत्र को प्रगितिशील बनाऊंगा।।।

Published in Gorakhpur

लखनऊ। समाजवादी पार्टी की 'साइकिल' किसी को मिलेगी या इसे फ्रीज कर दिया जाएगा। इस पर चुनाव आयोग का फैसला आज आ सकता है। अखिलेश के प्रति कभी नरम, तो कभी गरम दिखने वाले मुलायम सिंह यादव ने 'साइकिल' का फैसला होने से ठीक पहले बेटे के खिलाफ तीखा हमला बोला है। मुलायम ने सोमवार को अखिलेश के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए उन्हें मुस्लिम विरोधी तक कह दिया। अपनी अनदेखी का आरोप लगाते हुए मुलायम ने यह भी कह डाला कि अखिलेश बीवी-बच्चों की कसम देने पर उनसे मिलने आए और बात सुने बिना एक मिनट में ही उठकर चले गए। लखनऊ में एसपी दफ्तर में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए मुलायम ने कहा, 'मैंने कई बार बात करने के लिए अखिलेश को बुलाया। लेकिन वह नहीं आया। जब बीवी-बच्चों की कसम दी तब अखिलेश आया। एक बार आया तो बात शुरू करने से पहले ही चला गया।" मुलायम ने कहा कि अखिलेश हमारा बेटा है, लेकिन हमको नहीं मालूम था कि वह विरोधियों से मिल जाएगा। इस बीच कार्यकर्ताओं ने पार्टी बचाओ के नारे लगाने शुरू किए, तो मुलायम ने उन्हें डांट कर चुप करा दिया।

Published in Uttar Pradesh

बस्ती.यूपी विधानसभा चुनाव 2017 का बिगुल बजते ही सियासी दल वोटरों को लुभाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं। चुनाव आयोग के सख्‍ती के बावजूद पार्टियां अपने काम को सफाई से अंजाम दे रहे हैं। कोई साड़ी बांट रहा है तो कोई कंबल। इतना ही नहीं, कहीं-कहीं धर्म से हिसाब से कैलेंडर बांटकर प्रचार किया जा रहा है। ताजा मामला यूपी के बस्‍ती जिले का है। यहां वोटरों को लुभाने के लिए भारी मात्रा में नमक का पैकेट आया है, जिस पर लिखा है समाजवादी आयरन एंड आयोडिन मिश्रित नमक। शासन ने की है समाजवादी नमक की आपूर्ति... -सूत्रों के अनुसार, नमक की बड़ी खेप आचार संहिता का उल्लंघन कर बस्ती मंडल के तीनों जिलों में पहुंचाई गई है। -यह नमक जिला पूर्ति अधिकारी के निर्देश पर कोटेदारों द्वारा वितरित किया जाएगा। -इसकी शिकायत भी कुछ पॉलिटिकल पार्टी के लोगों ने चुनाव आयोग से भी की है। देखना यह है कि नमक पर चुनाव आयोग क्या निर्णय लेता है। -वहीं, संभागीय खाद्य नियंत्रक रवि कुमार ने बताया कि समाजवादी नमक की आपूर्ति शासन ने की है। हालांकि, वितरण संबंधी कोई निर्देश अभी तक नहीं प्राप्त हुआ है।

कांग्रेस में शामिल हुए नवजोत सिंह सिद्धू सोमवार को पहली बार मीडिया से मुखातिब हो रहे हैं. कांग्रेस में शामिल होने पर प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोले मैं पैदाइशी कांग्रेसी हूं, मैं अपनी जड़ों में लौट आया हूं रविवार को दिल्ली में राहुल गांधी से मुलाकात कर सिद्धू कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए. सिद्धू के अमृतसर (पूर्व) सीट से चुनाव लड़ने की पूरी संभावना है. सिद्धू ने कहा कि मेरे पिता ने 40 साल कांग्रेस की सेवा की. मुझे फर्क नहीं पड़ता कि लोग क्या कहेंगे. इस दौरान सिद्धू ने कांग्रेस को कौशल्या तो बीजेपी को कैकेयी बताया. नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा कही गई मुख्‍य बातें... अब ज्‍वलंत सवाल ये है कि क्‍या ये सिद्धू की निजी लड़ाई नहीं, बल्कि पंजाब के स्‍वाभिमान की लड़ाई है. अलख भी जगाऊंगा और लोगों को एहसास भी दिलाऊंगा कि कहां गया वो हरा-भरा पंजाब जो अब चिट्टे के नाम से जाना जाता है. पंजाब में पांच लाख युवा हैं. पंजाब हमारा गौरव है, जिसे बर्बाद किया गया. जिन लोगों को भगवान भूल गया, जिन्‍होंने जुल्‍म की अती कर दी, जिन्‍होंने विरोध किया, उन्‍हें कूटा, अब उनके न्‍याय का वक्‍त आ गया है. विरोध करने वालों को बर्बाद किया गया. अब वक्‍त आ गया है जब बादल के तख्‍त गिराए जाएंगे. कुर्सी खाली करो बादल, पंजाब की जनता आती है.. यह सिद्धू का प्रण है. मैं हरान हूं कि कोई नहीं बोला कि ड्रग्‍स पंजाब में सच्‍चाई है. पंजाब में राजनीतिज्ञों ने पुलिस को कटपुतली बनाकर ड्रग्‍स का गिरोह बनाया. मेरा मकसद है कि सबके साथ मिलकर हम पंजाब को उभारें. एक लाख 88 हजार करोड़ का कर्जा अन्‍नदाता पंजाब के सिर पर, क्‍योंकि राज्‍य के खजाने को लूटकर नेताओं ने अपने घर भरे. अकाली दल एक पवित्र जमात था, लेकिन अब वह जायदाद बन गया. ऑक्‍सफोर्ड से पढ़कर आए सुखबीर बादल स्‍टेट को मारकर धंधा करते हैं. मैं तुम्‍हारी पोल खोल दूंगा. मैं कभी अपनी पीठ नहीं दिखाऊंगा. केजरीवाल ने खुद ट्वीट कर कहा कि सिद्धू ने मुझसे कुछ नहीं मांगा. मैंने किसी से कुछ नहीं मांगा. दूसरी पार्टी कांग्रेस है, तीसरा तो कोई विकल्‍प नहीं है भाजपा के साथ मेरा कोई मन-मुटाव नहीं था. भाजपा ने अलायंस को चुना. सिद्धू ने पंजाब को चुना. मैं पंजाब की तरफ हूं. मेरा कुछ पर्सनल एजेंडा नहीं. जब आप मैदान में कोई बड़ा लक्ष्‍य लेकर आ गए तो कुछ सोचा नहीं जाता. मैं कांग्रेस का एक सैन‍िक हूं. किसी के अधीन काम करने को तैयार. ये व्‍यक्तिगत लड़ाई नहीं. बस, बेहाल पंजाब खुशहाल होना चाहिए. प्रधानमंत्री के तौर पर नरेंद्र मोदी कैसे हैं, यह जनता बताती है. सारा पंजाब जानता है कि साजिश किसने की. पंजाब की ढाल को कमजोर करने की चाल.

Published in Breaking News
Page 1 of 15

Media News

  • Bollywood
  • Life Style
  • Trending
  • +18
Post by Source
- Jan 21, 2017
वायरल रही Deepika Padukone की इन तस्वीरों के साथ किसी ने फ़ोटोशॉप करके की बेहद भद्दी हरकत, देखें क्या है मामला ...
Post by Source
- Jan 18, 2017
चावल के साथ आपने मसूर से चना और भी कई वेराइटी की दाल खाई होगी. प्रोटीन से भरी दाल आपके हेल्थ के लिए ...
Post by सत्य चरण राय (लक्की)
- Jan 22, 2017
"लखनऊ: चुनाव से पहले बहुजन समाजवादी पार्टी की मुखिया मायावती को अबतक का सबसे बड़ा झटका लगा है. बताया जा रहा है कि के एक ...
Post by Source
- Dec 23, 2016
कामेच्छा यदि किसी भी व्यक्ति में सामान्य लेवल से कम होती है तो जीवन में उसके लिए कई परेशानियां पैदा हो जाती हैं। ...

Living and Entertainment

Newsletter

Quas mattis tenetur illo suscipit, eleifend praesentium impedit!
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…