कामेच्छा यदि किसी भी व्यक्ति में सामान्य लेवल से कम होती है तो जीवन में उसके लिए कई परेशानियां पैदा हो जाती हैं। लिबिडो नामक हार्मोन कामेच्छा बढ़ाने वाला ही एक हार्मोन होता हैं और मानव के अंदर में इसकी कमी होने से ही कामेच्छा की कमी हो जाती है। एक्यूप्रेशर थेरैपी के दो ऐसे प्वाइंट बता रहें हैं जिसको पुश करने यानी दबाने से आप अपने लिबिडो हार्मोन की मात्रा को बढ़ा सकते हैं और इस तरह से आप अपनी कामेच्छा की कमी को दूर कर सकते हैं। महिलाओं की शिकायत यह रहती है कि रजोनिवृत्ति के बाद उनकी कामेच्छा कम हो जाती है ऐसा सिर्फ वजाइना के सूखेपन के कारण होता है, जिसके पीछे लिबिडो की कमी ही होती है। 1. स्टमक प्वाइंट: पेट में नाभि के स्थान पर अपने हाथ की अंगुलियों से 4 से 5 मिनट तक थोड़ा पुश करते रहें और इसी प्रकार करते हुए नाभि से 2 अंगुली नीचे के स्थान पर जाए। 2. किडनी प्वाइंट: लिबिडो हार्मोन के लिए भी यह किडनी प्वाइंट बहुत ज्यादा हेल्पफुल रहता है। इस एंगल पॉइंट पर आप हल्के से अपनी अंगुलियों के पोरो से पुश करें।

Published in +18

महिलाओ के व्यक्तित्व को जानने की जिज्ञासा प्रत्येक व्यक्ति मे होती है। आकृति विज्ञान एक ऎसा अध्ययन है जो शरीर के अंगो तथा ढील-ढौल से व्यक्तित्व का परिचय देता है। इस श्रंखला में हम आज आपको बताते है कि ऑंखो और नाक की बनावट से कैसे किसी महिला का व्यक्तित्व जाना जा सकता है। ऑंखे:-ब़डी, बैचेन, चमक तथा गहरी पुतली और आस पास लालिमा वाली ऑंखे, महिला के भाग्यशाली होने की प्रतीक है साथ ही साथ यह महिलाएं दंबग प्रवृति तथा समाज मे नेतृत्व करने वाली होती है। छोटी, सुस्त उदास स्लेटी रंग, गोल, थो़डी मु़डी, खाली और थो़डी कबूतर जैसे ऑंखे एक महिलाकी करूपता को प्रदर्शित करती है। यह महिलाएं चतुर होती है तथा जीवन मे आगे नही बढ़ना चाहती है। लाल ऑंखे वाली महिलाएं धोखेबाज व बईमान होती है। अगर ऑंखे ब़डी लम्बी तथा हल्की लालिमा लिए होती है तो यह महिला के आवेशपूर्ण होने को दर्शाती है, ऎसी ऑंखो वाली महिलाएं समाज मे बहुत लोकप्रिय होती है। गोल व काली ऑंखे वाली महिलाएं बहुत सेक्सी होती है। हमेशा नींद भरी ऑंखो वाली महिलाएं अपने विपरित सेक्स के प्रति जल्दी आर्कषित होने वाली तथा जल्दी चरित्र छो़ड देने वाली होती है नरम किनारो व काली पलको वाली ऑंखे रखनेवाली महिलाएं भाग्यशाली होती है। अगर ऑंखो के किनारे पर हल्के बाल हो, ऑंखो में पीलापन हो तो यह ज्यादा बीमार रहने वाली महिलाओं का परिचय देती है। नाक:-यदि एक महिला की नाक तोते की तरह झुकी हुईहै तो वह अच्छे स्वभाव शोहरत पसंद, चतुर तथा परिवार की शुभचिंतक होती है। अंतर्वस्त्रों से जाने:एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार महिलाओ के अंतरवस्त्रो का रंग उनके रोमांटिक मूड तथा प्रेमी व्यक्तितत्व को दर्शाता है। एक मनोवैज्ञानिक डॉ डासन के अनुसार लाल, पीला तथा नारंगी रंग गर्म स्पेक्ट्रम को दर्शाता है जो कि ऊर्जा तथा उत्साह की भावनाएं पैदा करता है, यह हमारे दिल की धाडकन और रक्तचाप को भी ब़डा सकते है। लाल/पीला/ऑंरेज:- इन रंगो के अंतरवस्त्र आवेशपूर्ण ऊर्जावान तथा नाटकीय स्वभाव को दर्शाते है। यह रंग पसंद करने वाली महिलाएं बिदास होती है तथा उनका मुड भी नाटकीय रूप से बदलता है जो कि उनके आकर्षण का एक हिस्सा है। गुलाबी रंग:- यह रंग पसंद करने वाली महिलाएं स्वभाव से रोमांटिक तथा विन्रम होती है, इन्हे अधिक से अधिक स्त्रेह पाने की लालसा होती है। यह महिलाएं काफी कामुक होती है परंतु कभी आगे से पहल नही करती है। काला रंग:- यह रंग एक व्यक्तिपरक और शक्तिशाली व्यक्तित्व को दर्शाता है। इस तरह की महिलाएं सूक्षम आकर्षण वाली परन्तु आवेशपूर्ण होती है।सफेद रंग:-यह रंग पंसद करने वाली महिलाएं मासूम परंतु सुझाव देने के लिए तत्पर रहती है। यह एक अच्छी शिक्षार्थी भी होती है। स्किन या भूरा रंग:-यह रंग स्वाभाविक वास्तविकतथा पारदर्शी व्यक्तितत्व को दर्शाता है। इसको पसंद करने वाली महिलाएं कुछ भी छुपाना पंसद नही करती है। एक सर्वेक्षण में पाया गया है कि अब 72 प्रतिशत महिलाएं अंतरवस्त्रो की खरीदारी करते समय स्किन या भूरे रंगो वाले अंतरवस्त्रो का पंसद करने लगी है इसका अर्थ यह है कि आज की महिला रोमांस के मामले मे पीछे नही है और अपने आप को पूर्ण रूप से खुले रूप में प्रदर्शित करने मे नही कतराती है। बुनियादी रूप में महिलाओं में अंतरवस्त्रो के रंगो के पंसद को इतनी तेजी से बदलने के लिए कही ना कही मशहूर हस्तियॉं जिम्मेदार है। हॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री इवा मेंडीस ने हाल ही मे यहखुलासा किया है कि वह स्किन कलर या बिलकुल सादेअंतरवस्त्रो मे सबसे ज्यादा सेक्सी लगती है। तो जनाब, अगली बार जब आप अपनी किसी महिला साथी के लिए अंतरवस्त्रो की खरीदारी पर जाये तो उनके रंगो पर जरूर विचार किजिएगा।महिलाओ के व्यक्तित्व को जानने की जिज्ञासा प्रत्येक व्यक्ति मे होती है। आकृति विज्ञान एक ऎसा अध्ययन है जो शरीर के अंगो तथा ढील-ढौल से व्यक्तित्व का परिचय देता है। इस श्रंखला में हम आज आपको बताते है कि ऑंखो और नाक की बनावट से कैसे किसी महिला का व्यक्तित्व जाना जा सकता है।

Published in +18

Media News

  • Bollywood
  • Life Style
  • Trending
  • +18
Post by Source
- Jan 18, 2017
जेएनयू में देशद्रोही नारों के समर्थन में रही बंगाल की ये अभिनेत्री आजकल शूर्खियो में हैं मगर इस बार ये अपने हॉट फोटोशूट ...
Post by Source
- Jan 18, 2017
चावल के साथ आपने मसूर से चना और भी कई वेराइटी की दाल खाई होगी. प्रोटीन से भरी दाल आपके हेल्थ के लिए ...
Post by सत्य चरण राय (लक्की)
- Jan 19, 2017
सपा-कांग्रेस गटबंधन से छटक सकता है आरएलडी का हेंडपम्प । पहले चरण पश्चिमी यूपी में है अजीत सिंह की पकड़, बसपा-बीजेपी को ...
Post by Source
- Dec 23, 2016
कामेच्छा यदि किसी भी व्यक्ति में सामान्य लेवल से कम होती है तो जीवन में उसके लिए कई परेशानियां पैदा हो जाती हैं। ...

Living and Entertainment

Newsletter

Quas mattis tenetur illo suscipit, eleifend praesentium impedit!
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…