यूपी में 10 आईपीएस अफसरों के तबादले, विजय प्रकाश-बरेली के आईजी बने, चंद्रप्रकाश हरदोई के एसपी बने, सुभाष दुबे-गाजीपुर के नए कप्तान । चुनाव आयोग ने किए तबादले, असीम अरूण वाराणसी जोन के आईजी बने, स्वप्निल को जालौन का एसपी बनाया गया । उमेश सिंह-फतेहपुर एसपी बने, पीलीभीत-देवरंजन,मनोज-बहराइच के एसपी, नीलाब्जा चौधरी-गोरखपुर में डीआईजी बने, उदय शंकर जायसवाल-डीआईजी आजमगढ़ बने।

Published in Gorakhpur

* * *GORAKHPUR /*पिपराईच थानाक्षेत्र के जंगल तिकोनिया में एसपीआरए के नेतृत्व में सीओ चौरीचौरा, एसओ पिपराईच, झंगहा पीपीगंज क्राइम ब्रांच और चौकी प्रभारी नौसड के द्वारा जेसीबी लगाकर अवैध शराब की भट्टियों को थोड़ा गया। जिसमे कई हजार कुंतल लहन और 300 लीटर शराब नष्ट किया गया। व् 9600 रुपए बरामद हुए। अवधनामा

Published in Gorakhpur

गोरखपुर,, एस.एस.पी रामलाल वर्मा और एसपी सिटी हेमराज मीणा के नेतृत्व में आज शाम गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर हाइ एलर्ट को देखते हुए पुलिस ने रोडवेज बस स्टेंड,रेलवे स्टेशन रोड स्थित ढाबो, होटलों ,रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नम्बर 1 और 2,सायकिल स्टेंड और विजय चौक स्थित सिनेमा हाल का किया चेकिंग।एसी वेटिंग रूम में मिला लावारिस एक बैग जिसमे 2 खुखरी मिली।बाद में एक नेपाली युवक ने बताया कि बेग मेरा है।एसएसपी ने पूछ ताछ के लिए रेलवे पुलिस को सौपा।वंही एसएसपी ने स्टेंड मालिक और चौकी इंचार्ज को एक सप्ताह से अधिक समय से स्टेंड में खड़ी गाड़ियों की सूची चेचिस नम्बर व गाड़ी नम्बर सहित तलब की।वंही एक होटल से एक गोरखपुर की युवती और हरियाणा का युवक मिला जिससे पूछ ताछ और आईडी वगैर देखने के बाद एसपी सिटी ने हिदायत दे कर छोड़ा। FN

Published in Gorakhpur

*बाहुबली विजय मिश्रा का अखिलेश को खुला ‘चैलेंज’, पूर्वांचल में सपा की बजा दूंगा ईंट से ईंट !* वाराणसी। टिकट कटने से नाराज ज्ञानपुर (भदोही) से समाजवादी पार्टी के विधायक विजय मिश्रा पूर्वांचल की कई सीटों पर सपा प्रत्याशियों के लिए सिरदर्द बनने जा रहे हैं। विजय मिश्रा ने चुनावी समर में उतरने का फैसला ले लिया है। इतना ही नहीं, वे भदोही समेत आसपास के कई जिलों में अपने उम्मीदवार उतारकर सपा से अपने अपमान का बदला लेने की तैयारी में लग गये हैं। सोमवार को भदोही से आयी खबरों में उनके समर्थन में एमएलसी पत्नी रामलली मिश्र, पूर्व विधायक शारदा प्रसाद बिंद, जिला पंचायत अध्यक्ष, कई ब्लाक प्रमुख, क्षेत्र पंचायत सदस्य समेत हजारों लोगों ने समाजवादी पार्टी से इस्तीफा देने का मन बना लिया। इस मौके पर विजय मिश्रा ने धनखड़ा (गोपीगंज) स्थित अपने आवास पर समर्थकों की जन पंचायत बुलायी है और उसमें लिये गये फैसलों के मुताबिक चुनाव लड़ने का अंतिम निर्णय लेंगे। *विधायक समर्थकों ने दिखाई ताकत* समाजवादी पार्टी में चले घरेलु दंगल के बीच पार्टी और सत्ता की चाभी अखिलेश के हाथों में आते ही विजय मिश्रा समेत अन्य बाहुबलियों के भविष्य को लेकर सवाल उठने लगे थे, जिसपर सपा की लिस्ट ने विराम लगा दिया। पार्टी ने विजय मिश्र का टिकट काटकर पूर्व मंत्री रामरति बिंद को मैदान में उतार दिया। चर्चा है कि पिछले विधान परिषद चुनाव में माफिया बृजेश और हाल के दिनों में भाजपा से बढ़ी नजदीकियां विजय मिश्र के टिकट कटने का कारण माना जा रहा है। विजय मिश्रा को अपना टिकट कटने का खतरा छह महीनों से महसूस होने लगा था। यही वजह रही कि उनके कदम भजपा की ओर बढ़े थे और प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या से उनकी कई राउंड में मीटिंग हो चुकी थी। इस बीच, सोमवार को आयी खबर में विजय मिश्रा के चुनाव लड़ने की चर्चा ने भदोही में राजनीति गरमा दी है। फिलहाल, अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि वे किसी पार्टी के बैनर से चुनाव लड़ेंगे या निर्दल। *पूर्वांचल की कई सीटों पर प्रत्याशी उतारने की तैयारी* सोमवार को धनापुर (गोपीगंज) में उनके हजारों समर्थक जुटे और उन्होंने विजय मिश्रा के समर्थन में पार्टी से इस्तीफा देने का अपना फैसला विधायक को सुना दिया। अपने आवास पर मौजूद विजय मिश्रा ने कहा कि वे अपने समर्थकों संग जन पंचायत करेंगे और उनका जो फैसला होगा, उसके अनुसार चुनाव लड़ने की रणनीति बनायी जायेगी। विजय मिश्रा खुद ही चुनाव नहीं लड़ेंगे, बल्कि भदोही के अलावा, इलाहाबाद, कौशांबी, जौनपुर, मिर्जापुर, सोनभद्र और चंदौली से अपने प्रत्याशी खड़ा करेंगे।

चुनाव आयोग ने समाजवादी पार्टी और चुनाव चिन्ह साइकिल दोनों अखिलेश को दे दी है. अखिलेश की इस बड़ी जीत ने यूपी में कई नए समीकरणों के लिए भी जगह बना दी है. सूत्रों के मुताबिक. खबर मिल रही है कि समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के गठबंधन का ऐलान आज या कल हो जाएगा. दोनों ही पार्टियों के बड़े नेताओं ने इस बात के संकेत दे दिए हैं. कहा जाता है राजनीति में एक और एक को जोड़ा जाता है तो वो दो नहीं बल्कि ग्यारह हो जाते हैं. यूपी में कांग्रेस के हाथ को साइकिल का सहारा चाहिए, इसका इशारा कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी कर चुके हैं. इलाहाबाद में पोस्टरों में एक साथ दिख रही हैं डिंपल-प्रियंका इलाहाबाद की दीवारों पर जो पोस्टर लगाए गए हैं उनमें अखिलेश की पत्नी डिंपल यादव और राहुल की बहन प्रियंका गांधी एक साथ नज़र आ रही हैं. दोनों पार्टियों के बीच अगर खिचड़ी ना पक रही होती तो शायद इलाहाबाद की दीवारों पर पोस्टर ना चिपका होता. लालू यादव को लगता है कि जिस तरह उन्होंने नीतीश कुमार से हाथ मिलाकर बीजेपी को बिहार में मात दी थी. ठीक ऐसा ही कारनामा अखिलेश और राहुल भी यूपी में करेंगे. वैसे एसपी-कांग्रेस में गठबंधन हुआ तो फायदा होगा, ये एबीपी न्यूज़ के ओपिनियन पोल में सामने आ चुका है. इसके मुताबिक अगर अखिलेश कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़ते हैं तो उनके गठबंधन को 133 से 143 सीटें मिल सकती हैं. जबकि, अकेले चुनाव लड़ने पर उन्हें सिर्फ 82 से 92 सीटें ही मिलने का अनुमान है. पोल के मुताबिक इस सूरत में बीजेपी को 138 से 148 सीटें मिल सकती हैं.

Published in Uttar Pradesh
Page 1 of 11

Media News

  • Bollywood
  • Life Style
  • Trending
  • +18
Post by अंकिशा राय
- Feb 23, 2017
जी हां, यहां बात हो रही है दंगल गर्ल फातिमा सना शेख की। खबर है कि फातिमा को यशराज बैनर की फिल्म ठग्स ऑफ हिंदुस्तान के ...
Post by Source
- Feb 23, 2017
हर किचन में कुछ ऐसी चीजें मौजूद होती है। जो कि आपकी सेहत के साथ-साथ सौंदर्य के लिए भी काफी फायदेमंद ...
Post by सत्य चरण राय (लक्की)
- Feb 24, 2017
दिल्ली: ATM से निकले 2 हजार के चूरन वाले नोट, आरोपी गिरफ्तार Feb 2017 नई दिल्ली [जेएनएन]। राजधानी में एटीएम से 2000 ...
Post by Source
- Feb 09, 2017
लड़कियों का फेवरेट होता है मेकअप , मेकअप में भी लिपस्टिक होती है सब लड़कियों की फेवरेट । लेकिन क्‍या आप जानते हैं ...

Living and Entertainment

Newsletter

Quas mattis tenetur illo suscipit, eleifend praesentium impedit!
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…