नयी दिल्ली : बीएसएफ के जवान तेज बहादुर के वीडियो पर बीएसएफ गृह मंत्रालय को रिपोर्ट सौंपेगी. प्राप्त जानकारी के अनुसार जम्मू कश्मीर में तैनात डीआईजी स्तर के अधिकारी ये रिपोर्ट तैयार कर रहे हैं. गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने गृह सचिव से कहा है कि मामले को लेकर गुरुवार तक विस्तृत रिपोर्ट उन्हें दी जाये. आपको बता दें कि जवान ने वीडियो में खराब खाने और राशन घोटाले का गंभीर आरोप लगाया था. इस वीडियो को जवान ने फेसबुक पर डाला जिसे अबतक एक करोड़ लोग देख चुके हैं और इसे बड़ी संख्या में शेयर भी किया है. टीवी रिपोर्ट के अनुसार मामले के तूल पकड़ने पर आरोप लगाने वाले जवान का ट्रांसफर दूसरी यूनिट में कर दिया गया है जहां उन्हें प्लंबर का काम सौंपा गया है. एक न्यूज चैनल से बात करते हुए बीएसएफ के रिटायर्ड हवलदार हरिओम ने कहा कि वहां के खाने में क्वालिटी की कमी है. क्वांटिटी की नहीं.... उन्होंने कहा कि मेनू के आधार पर वहां खाना नहीं मिलता है. खाना तो वहां भरपूर दिया जाता है लेकिन उसमें क्वालिटी नहीं होती जिससे जवान बीमार पड़ता है. वहां खाने में सुधार की आवश्‍यकता है. आपको बता दें कि बीएसएफ के बजट की लगभग 7 से 9 प्रतिशत राशि‍ खाने में खर्च की जाती है. जवानों को मैदानी और पहाड़ी इलाकों के अनुसार भोजन उपलब्ध कराया जाता है. क्या है वीडियो में तेजबहादुर ने फेसबुक पर एक वीडियो पोस्ट करके आरोप लगाया कि उन्हें नाश्ते में जली हुई एक रोटी, चाय और खाने के नाम पर सिर्फ हल्दी नमक वाली दाल ही मिलती है. धीरे-धीरे यह वीडियो सोशल मीडिया पर इतना वायरल हो गया कि इसे लाखों लोगों ने देखा और लाखों ने शेयर किया. 2010 में कोर्ट मार्शल किया जा चुका है जवान का मामले को लेकर मंगलवार को बीएसएफ के आइजी डीके उपाध्याय ने मामले को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस किया और कहा कि हमारे लिए यह एक संवेदनशील मुद्दा है. हम इसकी जांच करेंगे और उसी के मुताबिक ऐक्शन लेंगे. मैं यह मान सकता हूं कि खाने ठंड की वजह से खाने का टेस्ट अच्छा न हो लेकिन जवानों को इससे शिकायत नहीं होती है. उन्होंने कहा कि तेज बहादुर यादव के खिलाफ अतीत में अनुशासनहीनता के आरोप हैं, उसका 2010 में कोर्ट मार्शल किया जा चुका है. आरोपी जवान अपने से सीनियर अधिकारियों पर गन तान देता था. इसलिए इसे हेडक्वार्टर में रखा गया. हमने उसकी पत्नी और बच्चों का खयाल करते हुए तेज बहादुर के खिलाफ कड़ी कार्रवाई नहीं की. जवान की सफाई जवानों को घटिया खाना परोसे जाने और अफसरों पर गंभीर आरोप लगाने वाले बीएसएफ जवान ने एक निजी चैनल से बात करते हुए कहा कि उसने पहले भी शिकायत की थी लेकिन जब कोई कार्रवाई नहीं हुई तो मजबूरी में उसने वीडियो सोशल मीडिया पर डाला. उन्होंने कहा कि मैंने इस बारे में अपने कमांडर से तीन-चार बार शिकायत की लेकिन जब कोई सुनवाई नहीं हुई तो मजबूरन मुझे ऐसा करना पड़ा

Published in Gorakhpur

सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय सहारा की पैरोल की अवधि बढ़ाने की याचिका को आज सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया है। कोर्ट ने पुलिस ने उन्हें तुरंत गिरफ्तार करने का भी आदेश दिया है। इसके बाद उन्हें तीन अक्टूबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। इससे पूर्व कोर्ट ने तीसरी बार उनकी पैरोल की अवधि को 23 सितंबर तक के लिए बढ़ा दिया था। उनके साथ दो अन्य लोगों की भी पैरोल की अवधि को कोर्ट ने बढ़ाा दिया था।

 

गौरतलब है कि तिहाड़ जेल में दो साल सजा काटने के बाद सुब्रत रॉय इस साल मई से ही पैरोल पर हैं। उन्होंने तब अपनी मां के अंतिम संस्कार के लिए पैरोल ली थी, जिनकी लंबी बीमारी के बाद मौत हो गई थी। आपको बता दें कि कोर्ट में पिछली सुनवाई के दौरान उनकी पैरोल को 16 सिंतबर तक फिर 23 सितंबर तक के लिए इस शर्त पर बढ़ाया गया था कि वो कोर्ट को 300 करोड़ रुपए जमा करा देंगे।

 

उन्होंने कहा था कि वो या तो 300 करोड़ रुपए जमा कराएंगे नहीं तो जेल में वापस आ जाएंगे। सुप्रीम कोर्ट ने रॉय से कहा था कि उन्होंने निवेशकों का जो 18 हजार करोड़ रुपए वापस करने का दावा किया है वो उसका स्रोत बताएं। वहीं सुब्रत रॉय सहारा ने सेबी को 352 करोड़ रुपए लौटा दिए हैं। सहारा श्री ने पिछली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट को यह वादा किया था कि वह 16 सितंबर तक 300 करोड़ रुपए जमा करा देंगे।

Published in National

Media News

  • Bollywood
  • Life Style
  • Trending
  • +18
Post by Source
- Mar 28, 2017
मुंबई। कई दिनों से सुनील ग्रोवर और कपिल शर्मा की लड़ाई सुर्ख़ियों में है। बात यहां तक पहुंच गयी कि लगा कपिल शर्मा का शो ...
Post by Source
- Mar 28, 2017
अगर आप चमकीले और साफ-सुथरे दिखने वाले फल खरीद रहे हैं तो चौकन्ने हो जाएं। ये फल शरीर को ताकत देने ...
Post by Source
- Mar 28, 2017
एटीएम का इस्‍तेमाल हम सभी करते हैं। जब भी पैसे निकालने की जरूरत पड़ी, एटीएम गए और पैसे निकाल लिए। यह कितना आसान है। ...
Post by Source
- Mar 26, 2017
पुरूष-महिला के रिश्ते के दौरान संभोग एक ऐसी प्रक्रिया है जिसका आनंद हर कोई उठाना चाहता है। लेकिन इससे होने वाले दर्द की ...

Living and Entertainment

Newsletter

Quas mattis tenetur illo suscipit, eleifend praesentium impedit!
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…