Trending on Social Media

Trending on Social Media (2312)

यूपी में चल रहें एंटी रोमियो को लेकर पूर्व सीएम अख‍िलेश यादव ने कहा- ''अच्छा हुआ मैने पहले ही शादी कर ली नहीं तो योगी जी मेरी शादी न होने देते।'' अख‍िलेश ने ये बातें शनिवार को मीडि‍या से बातचीत में कही। बता दें, योगी आदित्यनाथ के सीएम बनते ही प्रदेश में मनचलों पर नकेल कसने के लिए एंटी रोमियो स्क्वॉड बनाया गया है।कुछ ऐसी रही अखिलेश-डिंपल की लव स्टोरी...

- अखिलेश की डिंपल से मुलाकात इंजीनियरिंग के दिनों में हुई थी।
- वे तब महज 21 साल के थे और डिंपल 17 की।
- डिंपल तब स्कूल में पढ़ती थीं।
- दोनों की मुलाकात एक कॉमन फ्रेंड के घर पर हुई।
- पहली ही मुलाकात में दोनों के बीच अच्छी कैमिस्ट्री जम गई।

4 साल तक अख‍िलेश ने की थी डेटिंग

- अखिलेश की लाइफ पर किताब लिखने वाली सुनीता एरन ने उनकी लाइफ से जुड़े पर्सनल फैक्ट्स उजागर किए हैं।
- सुनीता की किताब 'अखिलेश यादव - बदलाव की लहर' में उन्होंने डिंपल के साथ रिलेशनशिप का भी जिक्र किया है।
- पहली मुलाकात में अच्छी दोस्ती होने के बाद अखिलेश और डिंपल में रेग्यूलर बातचीत होने लगी।
- जल्द ही ये दोस्ती प्यार में बदल गई।
- सुनीता की किताब के मुताबिक अखिलेश और डिंपल फ्रेंड से मिलने का बहाना बनाकर एकदूसरे से छुपकर मिलते थे।
- वे कभी लखनऊ के मोहम्मद बाग क्लब, तो कभी कैंट सूर्या क्लब में।
- इंजीनियरिंग पूरी होने के बाद अखिलेश ऑस्ट्रेलियाई यूनिवर्सिटी से मास्टर्स डिग्री लेने सिडनी निकल गए।
- अखिलेश के हवाले से किताब में लिखा है कि सिडनी जाने के बाद भी अखिलेश डिंपल से लगातार कॉन्टेक्ट में रहे। वे डिंपल को लेटर्स लिखते थे, ग्रीटिंग कार्ड्स भेजते थे।
- यह सिलसिला अखिलेश की मास्टर्स डिग्री पूरी होने तक चला।

सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर शुक्रवार को सरकारी महकमों का नजारा बदला-बदला दिखाई दिया। एसी में बैठने वाले अधिकारियों के हाथ में झाडू थी, जिससे वह साफ-सफाई में जुटे थे। डीएम बी. चंद्रकला ने कलेक्ट्रेट परिसर में नंगे पैर झाडू लगाकर सफाई अभियान चलाया। लोगों ने जब डीएम के हाथ में झाडू देखी तो वह अपने मोबाइल फोन से फोटो खींचने लगे।

कर्मचारियों को दिलाई स्वच्छता की शपथ

- सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर सभी जिलों के अधिकारियों ने स्वच्छता अभियान की कमान संभाली।
- डीएम बी. चंद्रकला ने कलेक्ट्रेट परिसर में झाड़ू लगाकर स्वच्छता का संदेश दिया।
- डीएम ने कलेक्ट्रेट कर्मचारियों को स्वच्छता की शपथ दिलायी और उसके बाद स्वयं झाडू हाथ में लेकर सफाई में जुट गई।
- इस दौरान उन्होंने कहा कि जब हम अपना आॅफिस ही साफ नहीं रखेंगे तो कैसे स्वच्छता का संदेश दूसरों को देंगे।
- इस दौरान डीएम ने कहा कि कर्मचारी रोज स्वयं सुबह अपने कार्यालय की साफ सफाई स्वयं करें।
- डीएम बी. चंद्रकला ने कलेक्ट्रेट परिसर में स्थित कलेक्ट्रेट कर्मी सुधाकर शर्मा की मूर्ति के पास झाडू लगायी और स्वयं मूर्ति को साफ किया।
- डीएम को साफ सफाई करते देख लोगों की भीड़ वहां लग गई।

SSP ने पुलिस लाइन में लगायी झाडू

- एसएसपी जे. रविंद्र गौड ने शुक्रवार को पुलिस लाइन पहुंचकर अपने हाथ में झाडू पकड़ी।
- इस दौरान उन्होंने अपने अधीनस्थों के साथ पुलिस लाइन में सफाई अभियान चलाया।
- एसएसपी जे. रविंद्र गौड ने पुलिस कर्मियों को स्वच्छता की शपथ दिलायी।
- अभियान के दौरान जिले के सभी थानों में भी सफाई अभियान चलाया गया।
- इस दौरान सभी सर्किल के सीओ और अन्य अधिकारियों ने भी अपने-अपने कार्यालयों में झाड़ू लगाकर सीएम के निर्देशानुसार स्वच्छता अभियान चलाया।

अपने बयानों से सुर्ख़ियों में रहने वाले सिंगर अभिजीत ने एक बार फिर अपने मन की भड़ास निकाली है। इस बार उनके निशाने पर तीनों ख़ान यानी आमिर, सलमान और शाह रुख़ तो हैं ही उन्होंने महेश भट्ट को भी नहीं बख्शा है।

वेब पोर्टल न्यूज़ 18 हिंदी से बात करते हुए अभिजीत ने पहले तो फराह ख़ान के पति शिरीष कुंदर को आड़े हाथों लिया। शिरीष ने उत्तर प्रदेश के नए बने मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ पर एक विवादित ट्वीट किया था। उस पर अभिजीत ने ताना कसते हुए कहा कि- "दोनों (फराह और शिरीष) ही बड़े बालों वाले हैं, समझ ही नहीं आता कि पति कौन है और पत्नी कौन?" अभिजीत ने आगे कहा कि शिरीष जानबूझ कर सिर्फ हिन्दुओं को ही टार्गेट करते हैं। शिरीष ही नहीं अभिजीत ने तो बॉलीवुड के तीनों ख़ान को भी नहीं बख्शा। कहा 'तीनों ख़ान (आमिर ख़ान, शाहरुख ख़ान, सलमान ख़ान) देशद्रोही बातें करते हैं। अपनी फ़िल्मों में इन्होंने धीरे-धीरे हिन्दू त्यौहारों से जुड़े गानों को बंद कर दिया अब हर जगह 'मौला' ही बजता है।''

इस बातचीत में, अभिजीत ने निर्माता-निर्देशक महेश भट्ट के बारे में कहा कि-''जिसकी तीनों बेटियों कि फोटो बिना कपड़ों के कवर पेज पर छपती हों, जो खुद की बोटियों से शादी की ख्वाहिश जता चुका हो और जो महिलाओं के साथ आपत्तिजनक स्‍िथति में पकड़ा गया हो। ऐसे आदमी का डीएनए टेस्ट तो होना ही चाहिए।''

अभिजीत ने आगे कहा कि मैं अपनी बात कहने के लिए किसी से नहीं डरता, क्योंकि मैं किसी लॉबी के कारण नहीं अपने दम और टैलेंट पर इंडस्ट्री में आया हूं।

बड़ी खबर : मध्यप्रदेश के जबलपुर में बम धमाके, कम से कम 200 बम फटे* जबलपुर : आयुध निर्माणी खमरिया में शनिवार शाम एक के बाद एक 200 से ज्यादा बमों के फटने के धमाके हुए। इससे आसपास का पूरा क्षेत्र दहल गया। आग की लपटें डेढ़ से 2 किमी दूर से दिखाई दे रही हैं। निर्माणी के एफ-3 सेक्शन में यह घटना बॉर वैगन में 125एमएम (एंटी टैंक एम्युनेशन) बमों की लोडिंग करते समय हुई। बमों में धमाके होते ही कर्मचारियों में भगदड़ की बन गई। धमाकों के तुरंत बाद फैक्ट्री के सभी गेट बंद कर दिए गए। इससे शाम की शिफ्ट के करीब डेढ़ सौ कर्मचारी अंदर ही फंस गए। एफ-3 सेक्शन की बिजली सप्लाई भी बंद कर दी गई है, ताकि शार्ट सर्किट से कहीं और बमों में विस्फोट न हो। धमाकों की आवाज सुनकर कर्मचारियों के परिजन और कर्मचारी नेताओं की भीड़ खमरिया के गेट नं.1, 3 के सामने लग गई। हर मिनट में दो से तीन बम धमाकों की आवाज गूंज रही थी। आयुध निर्माणी की फायर ब्रिगेड ने मौके पर आग बुझाना शुरू कर दिया था, वहीं नगर निगम, जीसीएफ और व्हीकल फैक्टरी की फायर ब्रिगेड भी आग बुझाने में लगी हुई हैं। घटना की जानकारी मिलते ही कलेक्टर और एसपी सहित पुलिस-प्रशासन का अमला भी मौके पर पहुंच गया है। आसपास के गांवों में दहशतखमरिया में होने वाले धमाकों की आवाज सुनकर रांझी, मानेगांव, रिठौरी, बिलपुरा, चंपानगर, पिपरिया आदि क्षेत्र में खलबली मच गई। दहशत के कारण लोग घरों को छोड़कर सुरक्षित स्थानों के लिए शहर की तरफ भागे। आग की लपटें देखकर ईस्टलैंड, वेस्टलैंड और आस-पास के गांवों में बसे कर्मचारियों के परिवार के लोग दौड़-भागकर खमरिया फैक्ट्री पहुंच रहे हैं। वहीं यह घटना होने के बाद निर्माणी के अधिकारियों ने फोन पर बात करना तक बंद कर दिया है। कैसे हुआ हादसा कर्मचारी नेता बताते हैं कि एफ-3 सेक्शन में बमों की फिलिंग (खोल में बारूद भरना) का काम होता है। इसके बाद बमों को पास की बिल्डिंग नंबर 324 में स्टोर करके रखा जाता है। इस बिल्डिंग में करीब 12 हजार 500 से ज्यादा बम स्टोर हैं। एक बम गिरने से वह फट गया और इसके बाद एक के बाद एक लगातार बमों में धमाके होते रहे। वहीं कुछ कर्मचारियों का कहना है कि गर्मी बढ़ने की वजह से भी बम फट सकते हैं। हालांकि, कारणों का खुलासा विस्तृत जांच के बाद ही होगा।

योगी आदित्यनाथ को उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाए जाने पर आलोचनात्मक लेख लिखने वाले न्यूयार्क टाइम्स को भारत ने बड़ा ही करारा जवाब दिया है। भारत ने कहा इस तरह का लेख लिखने से अखबार की 'समझ' पर सवाल उठता है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बाग्ले ने कहा, 'सभी संपादकीय या विचार विषयपरक होता है। यह मामला भी ऐसा ही है। वास्तविक लोकतांत्रिक तरीकों के फैसले पर संदेह करने की समझ से सवाल उठता है।'
दरअसल अमेरिकी अखबार न्यूयार्क टाइम्स ने जिस तरह अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के चुनाव जीतने पर त्योरियां चढ़ाई थीं, ठीक वैसी ही प्रतिक्रिया आदित्यनाथ योगी के उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने पर दी थी। उसका कहना है कि आदित्यनाथ योगी धार्मिक अल्पसंख्यकों के लिए स्तब्धकारी हैं।
न्यूयार्क टाइम्स ने अपने संपादकीय के शीर्षक में ही लिखा कि मोदी हिंदू कट्टरपंथियों के भरोसे चल रहे हैं। संपादकीय के मुताबिक वर्ष 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद से ही नरेंद्र मोदी ने पार्टी के कट्टरपंथी हिंदुओं को लुभाना शुरू कर दिया है। साथ ही उन्होंने विकास और आर्थिक बढ़ोतरी के धर्मनिरपेक्ष लक्ष्यों की भी जमकर पैरवी की है।
संपादकीय के अनुसार चिंता इस बात की है कि मोदी ने देश में मुस्लिम समुदाय के खिलाफ हिंसा को मौन स्वीकृति दे दी है। इससे साफ है कि आगामी 2019 के चुनाव में भी चुनावी गणित बैठाना शुरू हो जाएगा।


सीएम योगी आदित्यनाथ के बाल काटने शुक्रवार को लखनऊ के नरही से एक नाई गया।
लखनऊ.सीएम योगी आदित्यनाथ के बाल काटने शुक्रवार को लखनऊ के नरही से एक नाई गया। इस नाई का नाम रामानंद है। योगी आदित्यनाथ के बाल काटने के बाद रामानंद ने ने कहा- 'मैंने बाबा के दर्शन कर लिए ये मरे लिए बहुत बड़ी बात है।' बता दें, यह बात रामानंद ने तब कही जब उनसे पूछा गया कि उन्हें पैसे मिले या नहीं। सीएम के बाल काटने के बाद ये कहा रामानंद ने...
- रामानंद ने कहा- आज सुबह दो लोग मोटरसाइकिल से आए और मुझसे कहा, मुख्यमंत्रीजी का बाल काटना है।
- वो मुझे मोटरसाइकिल पर बैठकर वीवीआईपी गेस्ट हाउस ले गए।
- वहां मेरी तीन बार चेकिंग हुई, फिर अंदर जाने को मिला। अंदर एक कमरे में योगीजी बैठे थे।
- उन्होंने मुझे पूछा, कैसे आए हैं? मैंने कहा- आपके बाल काटने हैं।
- फिर उन्होंने मुझे दूसरे कमरे में जाने को कहा। जहां पांच मिनट रुकने के बाद वे आए और कुर्सी पर बैठ गए।
रामानंद ने कहा- पैसे नहीं मिले, लेकिन दर्शन बड़ी बात
- बता दें, जब रामानंद से पूछा गया कि क्या बाल काटने के पैसे मिले?
- इसके जवाब में उन्होंने कहा- पैसे तो नहीं मिले लेकिन बाबा के दर्शन हो गए वो बड़ी बात है।
- रामानंद 35 साल से नाई का काम कर रहे हैं। वे नरही में अपने चचा की दुकान संभालते हैं।

इंटरनेशनस डेस्क.अमेरिकन टीवी शो में दिखने के बाद से वायरल हुई 13 साल की डेनियल ब्रिगोली जल्द सुपर रिच बनने वाली हैं। एक अमेरिकन वेबसाइट का दावा है कि वो 2017 के आखिरी तक मिलेनियर बन जाएंगी। बढ़ती फैन्स फॉलोइंग के चलते हर एक छोटे से शो में जाने के लिए भी उनकी फीस काफी बढ़ गई है।83 लाख फॉलोअर्स के साथ इंस्टाग्राम पर हैं स्टार...
- डेनियल ने म्यूजिक फेस्टिवल में पब्लिक अपीयरेंस के लिए 32,000 पाउंड (26 लाख रुपए) फीस ली थी।
- टीएमजे के मुताबिक, वो अपने फैन्स से मिलने और उनके वेलकम के लिए 30000 पाउंड (24 लाख रु.) तक फीस लेती हैं।
- सेलिब्रिटी नेट वर्थ वेबसाइट के मुताबिक, डेनियल इंस्टाग्राम पर फिट टी और पोस्टमेट्स जैसे प्रोडक्ट की प्लेसमेंट कर रही हैं।
- इंस्टाग्राम पर 83 लाख फॉलोअर्स के साथ उनकी एक सिंगल पोस्ट से 40 हजार पाउंड से ज्यादा की कमाई हो सकती है।
- वेबसाइट के मुताबिक, फैन्स से मिलने की फीस और अपने काम के चार्ज को शामिल करते हुए अनुमानित तौर पर उनकी नेट वर्थ अभी 150,000 पाउंड (सवा करोड़ रु.) पहुंच रही है।
- वेबसाइट का कहना है कि ऐसे में संभव है कि डेनियल 2017 के आखिर तक मिलेनियर्स में शामिल हो जाएं।

रेलवे के नियम बदले:1 अप्रैल से यात्रा से पहले जानें ये 10 जरूरी बातें रेलवे की 'विकल्प' नाम की इस सुविधा के तहत यात्रियों द्वारा आरक्षित किये गये टिकट कन्फर्म नहीं होता है तो वह ऐसी स्थिति में उन्हें अन्य ट्रेनों में आरक्षण का विकल्प मुहैया कराया जाएगा। यह सुविधा 1 अप्रैल 2017 से लागू की जाएगी। इस सुविधा के तहत प्रतीक्षा सूची में शामिल यात्री अपने यात्रा टिकट की पुष्टि के लिए विकल्प सेवा चुन सकते हैं। इसमें यात्री स्वतंत्र होगा कि वह दूसरी ट्रेन में सफर करना चाहता है कि नहीं? इस योजना की घोषणा फरवरी में पेश हुए रेल बजट में की गई थी, इस कारण इस सेवा को शुरू किया गया है। यह सेवा केवल मेल, एक्सप्रेस और सुपरफास्ट ट्रेनों में क्रियान्वित की जा रही है। इसका एलान रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने पिछले वर्ष मई में कर दिया था। ये हैं विकल्प की 10 अहम बातें 1. शुरुआती तौर पर विकल्प योजना केवल ई-टिकट के लिए ही उपलब्ध होगी। 2. इस स्कीम के तहत, वेटिंग लिस्ट वाले यात्रियों को विकल्प स्कीम के चयन का मौका मिलेगा। 3. विकल्प में उन यात्रियों का चयन किया जाएगा जिनका नाम चार्ट तैयार होने के बाद भी कन्फर्म नहीं होता है, केवल इन्हीं के लिए वैकल्पिक ट्रेन में आवंटन पर विचार किया जाएगा। 4. इसके लिए न ही किसी यात्री से कोई अतिरिक्त शुल्क वसूला जाएगा और न ही किराए में अंतर होने पर रिफंड की सुविधा दी जाएगी। 5. रेल यात्री को अल्टरनेट ट्रेन में सीट आबंटित कर दिए जाने के बाद उसे सामान्य यात्री ही माना जाएगा और वो अपग्रेडेशन के पात्र होंगे। 6. रेलवे ने कहा कि विकल्प योजना के तहत हर ट्रेन में बर्थ के उपयोग की सुविधा मिल सकेगी। 7. वेटिंग लिस्ट वाले यात्री जो विकल्प योजना का विकल्प चुनेंगे उन्हें चार्ट तैयार होने के बाद पीएनआर स्टेटस चेक करना चाहिए। 8. किसी ट्रेन से वेटिंग लिस्ट वाले यात्री को नई ट्रेन आबंटित हो जाने के बाद इस ट्रेन में बोर्ड करने की अनुमति नहीं होगी। 9. विकल्प का चयन करने वाले यात्री जिन्हें अल्टरनेट ट्रेन में अकोमडेशन दिया जा चुका है उनका नाम मूल ट्रेन की वेटिंग लिस्ट में नहीं दर्ज किया जाएगा। 10. जब विकल्प का चयन करने वाला कोई यात्री कैंसिल का विकल्प चुनता है इसके बाद उसे अल्टरनेट अकोमडेशन दे दिया जाता है और वो एक कन्फर्म्ड पैसेंजर के तौर पर माना जाता है। इसके बाद भी कैंसिलेशन के नियम नियमता लागू होंगे। विकल्प के बाद निरस्त नहीं करेंगे सफर विकल्प सेवा चुनने वाले यात्री वैकल्पिक आरक्षण मिलने के बाद अपनी यात्रा में संशोधन नहीं कर सकेंगे। जबकि इस सेवा के लिए यात्रियों से किसी प्रकार का अतिरिक्त शुल्क वसूल नहीं किया जाएगा और न ही उन्हें दोनों ट्रेनों के किराये में अंतर वाली धनराशि वापस की जाएगी। इस समय दिल्ली-जम्मू और नयी दिल्ली-लखनऊ मार्गों पर भी विकल्प सेवा को प्रभावी किया गया है। अब इसका विस्तार करके इसमें दिल्ली-मुंबई, दिल्ली-चेन्नई, दिल्ली-बेंगलुरु और दिल्ली-सिकन्दराबाद मार्गों को शामिल किया गया है। इनमें विकल्प नहीं विकल्प की सुविधा राजधानी, शताब्दी और दूरंतो ट्रेनों में उपलब्ध नहीं होगी। R.g.

चॉकलेट का लालच देकर अपने रूम में बुलाकर 6 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म आईरा वार्ता जयपुर सांगानेर के रामसिंगपुरा इलाके में 22 तारीख की दोपहर में एक 6 साल की बच्ची को चॉकलेट के बहाने बुलाकर दुष्कर्म करने वाले बिहार निवासी विकाश को पुलिस ने 24 घण्टे में उसके दोस्त के रूम से गिरफ्तार कर लिया गया जयपुर सांगानेर रामसिंगपुर इलाके में एक फेक्ट्री में काम करने वाले बिहारी ने दोपहर का टाइम देखकर बच्ची को चॉकलेट का लालच देकर अपने रूम में बुलाया और उसके साथ कुकर्म किया बच्ची के ब्लड बुरी तरह देख घबराकर वहाँ से फरार हो गया थोड़ी देर बाद बच्ची घर पहुंची रोते हुवे घरवाले बच्ची को हॉस्पिटल लेकर गए जन्हा पुलिस की मदद से बच्ची का इलाज शुरू हुआ बच्ची का ऑपरेशन किया गया है बच्ची की हालत में अभी सुधार बताया जारहा है इसी बिच पुलिस ने सीएलजी मेंम्बर नइमूदीन रंगरेज ,इलियास व" शहजाद रंगरेज और फेक्ट्री वसीम की मदद से आरोपी को किसान कालोनी से उसके दोस्त नवल किशोर के रूम से दबोच लिया

Page 1 of 166

Media News

  • Bollywood
  • Life Style
  • Trending
  • +18
Post by श्वेताभ रंजन राय
- Mar 26, 2017
जिस दिन कपिल शर्मा ने दुनिया के सामने अपने प्यार का इजहार किया उसी दिन दुनिया ने कपिल का वह अहंकारी रूप भी देखा। जिसे ...
Post by Source
- Mar 26, 2017
अक्सर गृहणियों की आदात होती है कि वह आटा बच जाने पर उसे फ्रिज में रख देती है ताकि बाद में उपयोग कर ...
Post by श्वेताभ रंजन राय
- Mar 26, 2017
अनुशासन हीनता के आरोप में निलंबित हुए आईपीएस अफसर हिमांशु कुमार की पत्नी ने भी उनपर गंभीर आरोप लगाए हैं। हिमांशु कुमार ...
Post by Source
- Mar 26, 2017
पुरूष-महिला के रिश्ते के दौरान संभोग एक ऐसी प्रक्रिया है जिसका आनंद हर कोई उठाना चाहता है। लेकिन इससे होने वाले दर्द की ...

Living and Entertainment

Newsletter

Quas mattis tenetur illo suscipit, eleifend praesentium impedit!
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…