Sports

Sports (69)

नई दिल्ली/बेंगलुरू: आईपीएल 2017 की नीलामी में आज राइज़िंग पुण सुपरजाएंट्स की टीम में आईपीएल 2017 की सबसे बड़ी बोली लगाकर 14.5 करोड़ में अपनी टीम के साथ जोड़ लिया है. एमएस धोनी को कप्तानी से हटाने के बाद आज बोली के दिन पुणे की टीम ने अपनी रकम का आधे से ज्यागा हिस्सा इंग्लैंड के स्टार खिलाड़ी को अपने साथ रखने में खर्च कर दिया.  बेन स्टोक्स हालिया भारत दौरे पर सफलतम बल्लेबाज़ों में से एक थे. बेन स्टोक्स का हालिया प्रदर्शन बेहद शानदार है और उन्होंने भारत दौरे पर हाल ही में बहुत लाजवाब प्रदर्शन भी किया है. बेन स्टोक्स पहली बार आईपीएल बोली में शामिल हुए और उन्होंने बोली के कई रिकॉर्ड्स तोड़ दिए. टी20 क्रिकेट में उनके नाम 1200 से ज्यादा रन शुमार हैं. वहीं उन्होंने टी20 में 32 विकेट भी चटकाए हैं.  बेन स्टोक्स के अलावा पिछले सीज़न बोली के स्टार रहे पवन नेगी को इस बार 1 करोड़ की कीमत में आरसीबी की टीम ने खरीद लिया है. पवन नेगी को पिछले सीज़न दिल्ली की तरफ से 8.5 करोड़ की मोटी रकम मिली थी और इस बार उन्हें दिल्ली की टीम ने रिलीज़ कर दिया था. जिसके बाद अब वो आरसीबी की टीम का हिस्सा हैं.  इसके अलावा भारत के इरफान पठान समेत मार्टिन गुप्टिल, जेसन रॉय, एल्केस हेल्स, रॉस टेलर, सौरव तिवारी, फैज फजल, सीन एबॉट, क्रिस जोर्डन

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को आईपीएल की टीम राइजिंग पुणे सुपरजॉइंट्स हटा दिया गया. मीडिया रिपोर्टस् के मुताबित धोनी की जगह अब ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टिवन स्मिथ को टीम की कमान सौपी गई है. सीजन-9 में धोनी ने टीम की कप्तानी की थी. इससे पहले स्मिथ राजस्थान रॉयल्स की टीम की ओर से खेलते थे जबकि धोनी चेन्नई सुपर किंग्स टीम के कप्तान थे. इन दोनों टीमों फिक्सिंग प्रकरण के मामले में बैन कर दिया गया है. सीजन 9 में राइजिंग पुणे सुपरजॉइंट्स का प्रर्दशन कुछ खास नहीं रहा.  आपको बता दें कि पिछले सीजन में खेले गए 17 मैचों में से पुणे की टीम सिर्फ पांच मुकाबले में जीत दर्ज की थी. धोनी को कप्तानी से हटाने की एक और बड़ी उनका खराब फॉर्म भी हो सकता है. धोनी ने आईपीएल के सीजन-9 में 12 पारियों में सिर्फ 284 रन बनाए थे जिसमें सिर्फ एक अर्द्धशतक शामिल था.

मौजूदा चैंपियन सनराइजर्स हैदराबाद दसवें इंडियन प्रीमियर लीग के उदघाटन मैच में 5 अप्रैल को उप विजेता रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की मेजबानी करेगा. नियमों के अनुसार टूर्नामेंट का फाइनल हैदराबाद के राजीव गांधी स्टेडियम में 21 मई को खेला जाएगा. टूर्नामेंट 47 दिन तक चलेगा और इसके मैच दस स्थानों पर आयोजित किये जाएंगे. कार्यक्रम के अनुसार प्रत्येक टीम 14 मैच खेलेगी. इनमें से सात मैच वह अपने घरेलू मैदान पर खेलेगी. इस सत्र में 2011 के बाद पहली बार इंदौर में आईपीएल के मैचों का आयोजन किया जाएगा. क्वालीफायर और एलिमिनेटर के मैच स्थलों की घोषणा बाद में की जाएगी. अन्य टीमों में राईजिंग पुणे सुपरजाइंट्स छह अप्रैल को पुणे में मुंबई इंडियन्स से भिड़ेगा. कोलकाता नाइटराइडर्स सात अप्रैल को राजकोट में गुजरात लायन्स का सामना करेगा. दिल्ली डेयरडेविल्स अपना पहला मैच आठ अप्रैल को आरसीबी से बेंगलुरु में खेलेगा. इसी दिन किंग्स इलेवन पंजाब इंदौर में राइजिंग सुपरजाइंट्स के खिलाफ अपना पहला मैच खेलेगा. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने बुधवार को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल)-2017 के कार्यक्रम की घोषणा कर दी. इस कार्यक्रम के तहत, आईपीएल का पहला मैच पांच अप्रैल को हैदराबाद के राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में खेला जाएगा, वहीं लीग का फाइनल मुकाबला इसी स्टेडियम में 21 मई को होगा. बीसीसीआई के अनुसार, आईपीएल के 10वें संस्करण का पहला मैच पांच अप्रैल को मौजूदा विजेता सनराइजर्स हैदराबाद और पिछले साल की उप-विजेता रही टीम रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के बीच खेल जाएगा. आईपीएल-2017 के मैच देश के 10 स्थानों पर 47 दिन तक खेले जाएंगे. इस कार्यक्रम के तहत आईपीएल की प्रत्येक टीम कुल 14 मैच खेलेगी, जिसमें से सात मैच टीम के घरेलू मैदान पर खेले जाएंगे. इस संस्करण में 2011 के बाद एक बार फिर इंदौर में आईपीएल के मैच खेले जाएंगे. इसमें पहला मैच आठ अप्रैल को किंग्स इलेवन पंजाब और राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स तथा दूसरा मैच 20 अप्रैल को पंजाब और मुंबई इंडियंस के बीच खेला जाएगा.

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में हर पार्टी अपराध मुक्त समाज बनाने के दावे कर रही है. लेकिन सच्चाई ये है कि अपराध और राजनीति की दोस्ती खत्म होने का नाम नहीं ले रही है. उत्तर प्रदेश चुनाव में तीसरे चरण के प्रत्याशियों पर नजर डालें तो सभी पार्टियों ने ऐसे प्रत्याशियों को तरजीह दी है, जिनके खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं. तीसरे चरण में 110 उम्मीदवार ऐसे हैं. इनमें भाजपा और बसपा के सबसे ज्यादा 21-21 प्रत्याशियों के खिलाफ आपराधिक मामले चल रहे हैं. वहीं सपा (13), कांग्रेस (5) और लोकदल (5) भी ऐसे प्रत्याशियों को टिकट देने में पीछे नहीं है. तीसरे चरण में 12 जिलों में 19 फरवरी को मतदान होना है. इसमें फर्रुखाबाद, हरदोई, कन्नौज, मैनपुरी, इटावा, औरैया, कानपुर देहात, कानपुर नगर, उन्नाव, लखनऊ, बाराबंकी, सीतापुर शाामिल हैं. इस दौरान 12 जिलों की 69 विधानसभाओं के 826 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होगा. एसोसिएशन फॉर डेमोक्रैटिक रिफॉम्र्स और उत्तर प्रदेश इलेक्शन वॉच ने यूपी विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण के उम्मीदवारों द्वारा घोषित वित्तीय, आपराधिक और अन्य विवरणों के आधार पर विश्लेषण किया है. एडीआर ने 826 में से 813 उम्मीदवारों के पत्रों का विश्लेषण किया है. ये 105 राजनीतिक दलों का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं. इनमें 6 राष्ट्रीय दल, 7 क्षेत्रीय दल, 92 गैर मान्यता प्राप्त दल और 225 निर्दलीय उम्मीदवार शामिल हैं. पता चला कि 813 में से करीब 14 प्रतिशत यानी 110 उम्मीदवारों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किए हैं. इनमें 82 उम्मीदवारों पर गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं, जिनमें हत्या, हत्या का प्रयास, अपहरण, महिलाओं के ऊपर अत्याचार से जुड़े मामले शामिल हैं. 7 उम्मीदवार ऐसे हैं, जिनके ऊपर हत्या के मामले चल रहे हैं, वहीं 11 उम्मीदवारों पर हत्या के प्रयास के मामले दर्ज हैं. महिलाओं के ऊपर अत्याचार करने के मामले 6 उम्मीदवारों के खिलाफ चल रहे हैं, वहीं 5 के खिलाफ अपहरण के मामले चल रहे हैं. इनके अलावा आपराधिक मामले दलवार देखने पर कांग्रेस में सबसे ज्यादा 36 फीसदी उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं. वहीं भाजपा और बसपा में 31—31 फीसदी उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं. इसके अलावा सपा के 22 फीसदी, राष्ट्रीय लोकदल के 13 फीसदी और 6 फीसदी निर्दलीय उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मुकदमे चल रहे हैं. 10 अनपढ़ उम्मीदवार भी हैं मैदान में यही नहीं 813 में से करीब 39 फीसदी यानी 320 उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षिक योग्यता 5वीं और 12वीं के बीच घोषित की है. वहीं 418 उम्मीदवार करीब ऐसे हैं, जो स्नातक या इससे ज्यादा पढ़े हैं. 43 उम्मीदवार ऐसे भी हैं, जो सिर्फ पढ़ लिख सकते हैं, जबकि 10 उम्मीदवार निरक्षर हैं. एक प्रत्याशी 25 वर्ष से कम और दो 80 वर्ष से ज्यादा इसके अलावा 68 फीसदी यानी 551 उम्मीदवारों की उम्र 25 से 50 वर्ष है. वहीं 31 फीसदी यानी 254 उम्मीदवारों ने अपनी उम्र 51 से 80 वर्ष के बीच घोषित की है. 813 में से सिर्फ एक उम्मीदवार 25 वर्ष से कम का है. ये मैनपुर की किशनी सीट से लड़ रहे निर्दलीय प्रत्याशी आशीष निगम हैं, जिनकी उम्र 23 वर्ष है. जबकि 2 उम्मीदवार ऐसे हैं, जिनकी उम्र 80 वर्ष से ज्यादा है. इनमें इटावा की भरथना से एनसीपी के प्रत्याशी डॉ राम भरोसे लाल और फर्रुखाबाद की भोजपुर सीट से निर्दलीय प्रत्याशी दलगंजन सिंह की उम्र 81 वर्ष है.

हैदराबाद. बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट मैच के दूसरे दिन विराट कोहली ने डबल सेन्चुरी बनाई। इसी के साथ कोहली दुनिया के पहले ऐसे बैट्समैन बन गए,जिन्होंने लगातार 4 सीरीज में डबल सेन्चुरी लगाई है। उनसे पहले डॉन ब्रैडमैन और राहुल द्रविड़ के नाम तीन लगातार सीरीज में डबल सेन्चुरी का रिकॉर्ड था। 200 रन पूरे करते ही कोहली ने सर डॉन ब्रैडमैन के 69 साल पुराने एक और रिकॉर्ड की बराबरी कर ली। ब्रैडमैन ने भी कप्तानी करते हुए 4 डबल सेन्चुरी लगाई थी। उनकी ऐसी आखिरी डबल सेन्चुरी 1948 में इंडिया के खिलाफ एडीलेड टेस्ट में थी। सर ब्रैडमैन ने कप्तानी के 12 साल में ऐसा किया। जबकि कोहली ने अपनी कप्तानी के 2 साल में ही यह अचीवमेंट हासिल कर लिया।भारत में कोहली और दुनिया में ब्रायन लारा सबसे आगे... दुनिया में लारा सबसे आगे -कैप्टन के तौर पर 4 डबल सेन्चुरी लगाने का रिकॉर्ड डॉन ब्रैडमैन(ऑस्ट्रेलिया)के नाम था। बाद में माइकल क्लार्क(ऑस्ट्रेलिया)ने इसकी बराबरी की। अब कोहली भी दोनों की बराबरी पर आ गए हैं। -कप्तान के तौर पर दुनिया में सबसे ज्यादा 5 डबल सेन्चुरी का रिकॉर्ड वेस्ट इंडीज के ब्रायन लारा के नाम हैं। -महेला जयवर्धने(श्रीलंका),ग्रेग चैपल(ऑस्ट्रेलिया),स्टीफन फ्लेमिंग(न्यूजीलैंड),ब्रेंडन मैक्कुलम(न्यूजीलैंड)के नाम बतौर कप्तान तीन-तीन डबल सेन्चुरी हैं। -एलन बॉर्डर(ऑस्ट्रेलिया),रिकी पोंटिंग(ऑस्ट्रेलिया),हाशिम अमला(साउथ अफ्रीका)और जावेद मियांदाद ने बतौर कप्तान 2-2 डबल सेन्चुरी लगाईं। भारत में सबसे आगे कोहली -कोहली 4 डबल सेन्चुरी लगाने वाले भारत के पहले कैप्टन बन गए हैं। -उनसे पहले नवाब पटौदी,गावसकर,सचिन और धोनी की बतौर टेस्ट कप्तान एक-एक डबल सेन्चुरी थी। कोहली की डबल सेन्चुरी,कब,कहां,किसके खिलाफ? 1)वेस्ट इंडीज से हुई थी शुरुआत,विदेश में डबल सेन्चुरी लगाने वाले पहले इंडियन कैप्टन बने थे -जुलाई 2016 में वेस्ट इंडीज के खिलाफ एंटिगुआ टेस्ट में कोहली ने डबल सेन्चुरी लगाई थी। -भारत की 85 साल की टेस्ट हिस्ट्री में देश से बाहर डबल सेन्चुरी लगाने वाले वे पहले कैप्टन बने थे। -उनसे पहले यह रिकॉर्ड अजहर के नाम था। उन्होंने 27 साल पहले विदेश में 192 रन बनाए थे। -इसके साथ ही यह फर्स्ट क्लास से लेकर वनडे इंटरनेशनल या टेस्ट तक किसी भी फॉर्मेट में कोहली के करियर की पहली डबल सेन्चुरी थी। -कोहली 200 बनाने वाले भारत के 5th टेस्ट कैप्टन बन गए थे। उनसे पहले नवाब पटौदी,गावसकर,सचिन और धोनी ऐसा कर चुके हैं। 2)न्यूजीलैंड के खिलाफ थी दूसरी डबल सेन्चुरी -कोहली ने अक्टूबर 2016 में इंदौर में न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट में डबल सेन्चुरी लगाई। इसी के साथ वे टेस्ट में दो डबल सेन्चुरी लगाने वाले पहले इंडियन कैप्टन बन गए। -इसी मैच में विराट और रहाणे ने सबसे बड़ी पार्टनरशिप का रिकॉर्ड बनाया। दोनों ने चौथे विकेट के लिए 365 रन जोड़े। -दोनों ने सचिन तेंडुलकर और वीवीएस लक्ष्मण का 2003-04 में बनाया पार्टनरशिप रिकॉर्ड तोड़ दिया था। 3)इंग्लैंड के खिलाफ 200 बनाकर सचिन का रिकॉर्ड तोड़ा -दिसंबर 2016 में विराट कोहली ने साल की तीसरी डबल सेन्चुरी लगाई। इंग्लैंड के खिलाफ मुंबई टेस्ट में 200 रन बनाकर उन्होंने सचिन तेंडुलकर का रिकॉर्ड तोड़ा। सचिन ने इससे पहले 2004 और 2010 में एक साल में 2 डबल सेन्चुरी लगाई थीं। -इसी के साथ 85 साल के इंडियन क्रिकेट इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ जब किसी भारतीय कप्तान ने तीन डबल सेन्चुरी बनाई। -विराट कोहली बतौर कप्तान भी एक कैलेंडर ईयर में सबसे ज्यादा डबल सेन्चुरी लगाने वाले वर्ल्ड के तीसरे क्रिकेटर बन गए। -उन्होंने न्यूजीलैंड के पूर्व क्रिकेटर ब्रेंडन मैक्कुलम की बराबरी की,जिन्होंने 2014 में बतौर कप्तान 3 डबल सेन्चुरी लगाई थी। -इस मामले में टॉप पर पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर माइकल क्लार्क हैं,जिन्होंने 2012 में बतौर कप्तान 4 डबल सेन्चुरी लगाने का कारनामा किया था। 4)बांग्लादेश के खिलाफ 204 रन बनाकर ब्रैडमैन की बराबरी की -10 फरवरी 2017 को विराट कोहली ने बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट मैच में 204 रन बनाए। -कोहली ने पहली इनिंग में 24 चौकों की मदद से डबल सेन्चुरी बनाई। -इस पारी की बदौलत कोहली ने बड़े रिकॉर्ड भी बनाए। -कोहली बतौर कैप्टन लगातार 4 सीरीज में डबल सेन्चुरी लगाने वाले पहले बैट्समैन बन गए। -इसके अलावा उन्होंने होम सीजन में सबसे ज्यादा टेस्ट रन बनाने का वीरेंद्र सहवाग का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया। टेस्ट में डबल सेन्चुरी के मामले में विराट से आगे कौन इंडियन बैट्समैन? -वीरेंद्र सहवागः 6 -सचिन तेंडुलकरः 6 -राहुल द्रविड़ः 5 -सुनील गावसकरः 4 -विराट कोहलीः 4 होम सीजन में सबसे ज्यादा टेस्ट रन -विराट कोहली ने होम सीजन में सबसे ज्यादा टेस्ट रन बनाने का वीरेंद्र सहवाग का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया। -सहवाग ने 2004-05 में होम सीजन के दौरान 1105 रन बनाए। इस सीजन में उनका हाईएस्ट स्कोर 201 रन और एवरेज 69 था। -कोहली अब तक होम सीजन में 1168 रन बना चुके हैं। सीजन में उनका हाईएस्ट 235 रन है। उनका एवरेज 93 है। -होम सीजन में सबसे ज्यादा रन बनाने वालों में तीसरे नंबर पर इंग्लैंड के ग्राहम गूच(1058 रन)और चौथे नंबर पर सुनील गावसकर(1027 रन)हैं।

न्यूजीलैंड में नंबर 11 के बल्लेबाज ने अद्भुत बल्लेबाजी का मुजाहिरा पेश करते हुए शानदार नाबाद 150 रनों की पारी खेल डाली। आपको ये जानकर हैरानी होगी कि इससे पहले फ्रेडी वॉकर का सर्वोच्च स्कोर सिर्फ 25 रन था। इसके अलावा इस बल्लेबाज ने आखिरी विकेट के लिए अनीस देसाई के साथ मिलकर 220 रनों की साझेदारी की। बे ऑफ प्लेंटी के खिलाफ हेमिल्टन के इस बल्लेबाज ने शानदार प्रदर्शन करते हुए अपनी पारी को संकट से निकालते हुए बेहतरीन पारी खेली। एक समय हेमिल्टन की टीम 93/6 के स्कोर पर संकट में दिख रही थी और इसके बाद टीम का स्कोर 189/9 हो गया था। लेकिन इसके बाद आखिरी विकेट के रूप में बल्लेबाजी करने आए फ्रेडी ने आखिरी वेकिट के लिए अनीष के साथ मिलकर 220 रनों की साझेदारी की और नाबाद 150 रन बनाए। फ्रेडी ने इससे पहले अपनी छह पारियों में सिर्फ 54 रन ही बनाए थे। फ्रेडी ने अपनी पारी में 23 चौके और 1 छक्का लगाया। फ्रेडी ने अपनी पारी में सिर्फ 125 गेंदों में ही 150 रन पूरे कर लिए। फ्रेडी की शानदार पारी की बदौलत हेमिल्टन ने अपनी पहली पारी 409/9 पर घोषित कर दी। फ्रेडी के अलावा देसाई ने भी दूसरे छोर पर अच्छी बल्लेबाजी की और 231 गेंदों में 165 रन बनाए। आपको बता दें कि ये कारनामा सेडन पार्क से सिर्फ 5 किमीं. की दूरी पर हुआ, जहां पर ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच तीसरा वनडे मैच खेला जा रहा था। फ़ोटो : प्रतीकात्मक

भारत ने तीसरे और आखिरी टी20 मैच में इंग्लैंड को 75 रनों के विशाल अंतर से हराकर सीरीज 2-1 से अपने नाम कर ली। इस बड़ी जीत के पीछे महेंद्र सिंह धौनी का दिमाग भी काम कर रहा था। उन्होंने न सिर्फ बल्लेबाजी में 56 रनों का योगदान दिया, बल्कि अहम मौके पर कोहली को खास सलाह भी दी, जिसने भारत की बड़ी जीत सुनिश्चित कर दी। मैच के बाद टीम इंडिया के क्रिकेट कप्तान विराट कोहली ने भी स्वीकार किया कि वह महेंद्र सिंह धौनी से सीमित ओवरों में कप्तानी के बारीक गुर सीख रहे हैं। कोहली ने कहा है कि वनडे और टी20 में उनका कप्तानी का अनुभव कम है, इसलिए उन्हें धौनी से मदद मिल रही है। कोहली ने कहा है कि वनडे और टी20 मैचों में परिस्थितियां तुरंत बदलती हैं और तेजी से फैसले लेने होते हैं। ऐसे में कप्तानी के विराट अनुभव वाले धौनी से राय लेने में कोई बुराई नहीं है। यह थी धौनी की राय कोहली ने बताया कि वह यजुवेंद्र चहल के ओवर खत्म होने पर हार्दिक पांड्या से ओवर करवाना चाहते थे, लेकिन धौनी ने कहा कि जसप्रीत बुमराह से गेंदबाजी कराई जानी चाहिए। नेहरा ने भी धौनी से सहमति जताई। कोहली ने ऐसा ही किया और बुमराह ने तीन गेंदों में दो विकेट लेकर मैच ही खत्म कर दिया। कोहली ने कहा कि छोटे मैचों में ऐसी सलाहें बड़ी काम आती हैं। हालांकि, उन्होंने कहा कि उनके लिए कप्तानी करना नई बात नहीं है, लेकिन कप्तान को अुनभवी खिलाड़ियों की राय सुननी चाहिए। कोहली ने कहा कि तीनों फॉर्मेट में उनकी टीम में युवा खिलाडियों की भरमार है, जो काफी जोशीले हैं। उन्होंने आखिरी टी20 मैच में 6 विकेट लेने वाले यजुवेंद्र चहल की खूब तारीफ की।

*तीनों फॉर्मेट में पहली सीरीज जीतने वाले कप्तान बने विराट* भारत-इंग्लैंड के बीच टी-20 सीरीज का तीसरा और आखिरी मैच आज शाम बेंगलुरु के चिन्नास्वामी स्टेडियम में शुरू हुआ। सीरीज में दोनों टीमें फिलहाल 1-1 की बराबरी पर थी। भारत ने इस मैच को 75 रन से जीतकर इंग्लैंड से पहली बार टी-20 सीरीज जीत ली। वहीं इंडिया टूर पर टेस्ट और वनडे सीरीज गंवाने के बाद इंग्लैंड ने भी अपनी पूरी ताकत झोंक दी। पर भारत ने 75 रन से मैच जीतकर 2-1 से टी-20 सीरीज जीत ली। इस तरह तीनो फार्मेट में जीत दर्ज करने वाले कप्तान बन गए विराट कोहली। *इंग्लैंड से अबतक टी-20 सीरीज नहीं जीता था भारत*   भारत ने इस मैच को जीतकर इंग्लैंड के खिलाफ पहली टी-20 सीरीज जीत ली है। इंग्लैंड के खिलाफ भारत अबतक एक भी टी-20 सीरीज नहीं जीत सका था। दोनों टीमों के बीच अबतक चार टी-20 सीरीज हो चुकी हैं, जिसमें से तीन सीरीज इंग्लैंड ने जीती जबकि एक सीरीज ड्रॉ रही थी। सबसे पहली सीरीज अगस्त 2011 में इंग्लैंड में हुई थी। एक मैच की इस टी-20 सीरीज को इंग्लैंड ने जीत लिया था। अक्टूबर 2011 में दोनों टीमों के बीच भारत में सीरीज का एकमात्र टी-20 मैच खेला गया, इसे भी इंग्लैंड ने जीता था। दोनों टीमों के बीच दिसंबर 2012 में हुई दो मैचों की टी-20 सीरीज 1-1 से बराबर रही थी। वहीं सितंबर 2014 में खेला गया एकमात्र टी-20 मैच भी इंग्लैंड ने जीत लिया था।

Page 1 of 6

Media News

  • Bollywood
  • Life Style
  • Trending
  • +18
Post by अंकिशा राय
- Feb 23, 2017
जी हां, यहां बात हो रही है दंगल गर्ल फातिमा सना शेख की। खबर है कि फातिमा को यशराज बैनर की फिल्म ठग्स ऑफ हिंदुस्तान के ...
Post by Source
- Feb 23, 2017
हर किचन में कुछ ऐसी चीजें मौजूद होती है। जो कि आपकी सेहत के साथ-साथ सौंदर्य के लिए भी काफी फायदेमंद ...
Post by सत्य चरण राय (लक्की)
- Feb 24, 2017
दिल्ली: ATM से निकले 2 हजार के चूरन वाले नोट, आरोपी गिरफ्तार Feb 2017 नई दिल्ली [जेएनएन]। राजधानी में एटीएम से 2000 ...
Post by Source
- Feb 09, 2017
लड़कियों का फेवरेट होता है मेकअप , मेकअप में भी लिपस्टिक होती है सब लड़कियों की फेवरेट । लेकिन क्‍या आप जानते हैं ...

Living and Entertainment

Newsletter

Quas mattis tenetur illo suscipit, eleifend praesentium impedit!
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…