Sports

Sports (240)

1503039071 Image 1503039068968

भारतीय टीम के मध्यक्रम के बल्लेबाज सुरेश रैना को यूएई में स्थित गल्फ पेट्रोकेम ग्रुप, जीपी पेट्रोलियम लिमिटेड ने आईपीओएल ल्यूब्रिकैंट्स का ब्रांड एंबेसेडर बना दिया है। रैना अगले एक साल तक जीपी पेट्रोलियम द्वारा शुरू किए जाने वाले नए ग्राहक अनुभव प्रोग्राम में बतौर मेजबान शामिल होंगे। रैना जो कि श्रीलंका दौरे पर होने वाले वनडे और टी20 सीरीज के लिए टीम में जगह नहीं बना पाए हैं इन दिनों कानपुर के ग्रीनपार्क स्टेडियम में उत्तर प्रदेश क्रिकेट टीम के साथ अभ्यास कर रहे हैं। रैना इस कंपनी से जुड़कर काफी खुश हैं।

इस नई जिम्मेदारी के बारे में बात करते हुए रैना ने कहा, "जीपी पेट्रोलियम के साथ जुड़कर मैं काफी खुश हूं, ल्यूब्रिकैंट उद्योग में ये काफी बड़ा नाम है। मुझे इस नाम को आगे ले जाने का अवसर मिला है और उम्मीद है कि मैं आईपीओएल को प्रतिद्वंदी ब्रांड्स के साथ मार्केट शेयर करता देखूंगा। मैं इस ब्रांड को आगे ले जाने को लेकर काफी उत्साहित हूं। केवल रैना ही नहीं बल्कि उनके इस ब्रांड से जुड़ने को लेकर गल्फ पेट्रोकेम के चेयरमैन अशोक गोएल भी काफी उत्साहित हैं। उन्होंने कहा, "हम जीपी पेट्रोकेम परिवार में रैना का स्वागत करते हैं और लंबे समय तक उनके साथ की दोस्ती रखने की आशा करते हैं।


रैना को श्रीलंका दौरे पर वनडे सीरीज में जगह ना दिए जाने से उनके फैंस काफी नाराज हैं, वहीं दूसरी ओर खबर आ रही है कि एक फिटनेस टेस्ट में फेल होने की वजह से रैना और युवराज सिंह को इस दौरे के लिए टीम में जगह नहीं मिल पाई।

1503038576 Image 1503038570327

देश का मिजाज जानने के लिए 'आजतक' और इंडिया टुडे ने अब तक का सबसे बड़ा ओपिनियन पोल किया है. देश के अब तक के सबसे बड़े सर्वे में साल 2016-17 के सबसे बेहतरीन खिलाड़ियों पर देश की राय जानने की कोशिश की गई. क्रिकेट के दीवाने मुल्क के बतौर भारत की छवि को अब चुनौती मिल रही है. फुटबॉल, बैडमिंटन, हॉकी और टेबल टेनिस को ज्यादा प्राइम टाइम कवरेज मिल रही है. नए खिलाड़ी उभरकर सामने आए हैं जिनमें प्रमुख हैं ओलंपिक में सिल्वर मेडल विजेता पीवी सिंधु वे बैडमिंटन की अकेली खिलाड़ी नहीं हैं, जो इस सूची में आई हैं, बल्कि साइन नेहवाल और किदंबी श्रीकांत का नाम भी इसमें शामिल है. पैरालिंपिक शॉटपुटर दीपा मलिक का इस सूची में जुड़ा नाम बताता है कि भारतीयों को प्रेरणा के लिए अब नए नायक चाहिए.

अव्वल स्थान पर हालांकि विराट कोहली ही बने हुए हैं. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड पर कोहली का प्रभाव भले ही बढ़ता जा रहा हो लेकिन 6 महीने में उनकी लोकप्रियता कम हुई है. जनवरी 2017 में उन्हें 30 फीसदी वोट मिले थे जो अब 7 फीसदी घट गए हैं. चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में पाकिस्तान के हाथों भारत की हार और तत्कालीन कोच अनिल कुंबले के साथ कोहली का झगड़ा उन्हें भरी पड़ा है.


भारत के लोग अब यह बात समझ चुके हैं कि सरकार खेलों की हालत को सुधारने के लिए कुछ खास नहीं कर रही है. फीसदी लोगो का मानना है कि बीते साल में कोई सकारात्मक बदलाव नहीं हुआ है. जाहिर है, एक अरब आबादी वाले देश को खेलों में और नायक चाहिए.

1502971823 Image 1502971770853

टीम इंडिया के हिट मैन कहे जाने वाले रोहित शर्मा को वनडे टीम का उपकप्तान नियुक्त किया गया है. टीम में मिली इस जिम्मेदारी से रोहित शर्मा बेहद सम्मानित महसूस कर रहे हैं. वनडे में ओपनर बल्लेबाज की भूमिका निभाने वाले रोहित को टेस्ट सीरीज में खेलने का मौका नहीं मिला और वह रविवार से शुरू होने वाली पांच वनडे मैचों की सीरीज में इसकी भरपायी करना चाहते हैं.
रोहित ने कहा, ‘‘पहली बात, उप कप्तान नियुक्त किया जाना बहुत बड़ा सम्मान है. दस साल पहले मैं केवल भारत की तरफ से खेलने के बारे में सोचता था. उप कप्तान होने के नाते मैं बहुत अच्छा महसूस कर रहा हूं. ’’
उन्होंने कहा, ‘‘यह एक तरह का सम्मान है. जब हम 20 अगस्त को पहला वनडे मैच खेलने के लिये उतरेंगे तो मैं किसी खास भूमिका में रहूंगा और मैं इसके लिये तैयार हूं. मैं इसके बारे में बहुत अधिक नहीं सोच रहा हूं. मैं केवल इस क्षण का लुत्फ उठाना चाहता हूं. ’’ रोहित को पहले भी अतिरिक्त जिम्मेदारी लेने की आदत है. वह इंडियन प्रीमियर लीग में मुंबई इंडियन्स के कप्तान हैं और उन्होंने अपनी टीम को तीन बार खिताब दिलाये हैं.

रोहित से जब आईपीएल और भारतीय टीम में उनकी नयी भूमिका में तुलना करने में बारे में कहा गया, ‘‘यह पूरी तरह से अलग तरह का खेल है. आईपीएल और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट पूरी तरह से भिन्न हैं. लेकिन फिर से उत्साह और ऊर्जा का स्तर पहले जैसा ही है. ’’

उन्होंने कहा, ‘‘इसलिए बहुत कुछ नहीं बदला है. मैं यहां उप कप्तान हूं और टीम में कप्तान है. यहां मेरी भूमिका पर्दे के थोड़ा पीछे होगी. लेकिन जब मैं उप कप्तान के तौर पर मैदान पर उतरूंगा तो मैं काफी उत्साहित रहूंगा.’’ अंतरराष्ट्रीय करियर में अपने अभी तक के सफर के बारे में रोहित ने कहा, ‘‘यह दस साल बहुत जल्दी बीत गये. हां उतार चढ़ाव रहे लेकिन किसी भी खिलाड़ी के करियर में ऐसा होता है. आप उतार चढ़ावों से काफी कुछ सीखते हो. ’’

रोहित ने कहा, ‘‘मैंने हमेशा इस अवसर (भारत की तरफ से खेलने) का इंतजार किया. प्रारूप कोई भी हो मुझे भारत की तरफ से खेलने के मौके का इंतजार रहा. इन दस सालों से पहले मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं भारत की ओर से खेलूंगा. ’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं अपनी क्रिकेट का पूरा लुत्फ उठा रहा था. अपने स्कूल और मुंबई की तरफ से खेलने का. जब मैंने रणजी ट्रॉफी खेलनी शुरू की तब मुझे लगा कि मेरा लक्ष्य भारत की तरफ से खेलना हो सकता है और जब मुझे भारतीय टीम में चुना गया तो फिर वहां से पीछे मुड़कर नहीं देखा. ’’ रोहित ने एक दशक से अधिक समय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में बिता दिया है लेकिन वह अब भी हर दिन को एक नए दिन की तरह लेते हैं. उन्होंने कहा, ‘‘आज मैं स्वीप और रिवर्स स्वीप जैसे शॉट खेलने सीख रहा हूं विशेषकर तब जबकि लसिथ मालिंगा जैसे गेंदबाज से आपका सामना हो. इसलिए जब भी आप मैदान पर उतरते हो तो कुछ नया सीखते हो. ’’

रोहित ने कहा, ‘‘पिछले दस सालों में मैंने कई चीजें सीखी. विशेषकर सीमित ओवरों की क्रिकेट में. पहले जब मैं क्रीज पर उतरता था तो लगातार कई शाट खेलता था. बाद में मुझे अहसास हुआ कि आप हमेशा बड़े शॉट नहीं खेल सकते.

आपको परिस्थितयों के बारे में पता होना चाहिए. मैंने इतने सालों में यह सब कुछ सीखा. सीखने का क्रम आगे भी जारी रहेगा और यह इस खेल का अहम हिस्सा है. ’’ इस बल्लेबाज को तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में बाहर बैठना पड़ा और रोहित ने कहा कि यह अच्छा अहसास नहीं था.

उन्होंने कहा, ‘‘कोई भी बाहर नहीं बैठना चाहता है. लेकिन यह पूरी तरह से टीम संयोजन तथा कप्तान और कोच पर निर्भर करता है. आपको यह सच्चाई स्वीकार करके आगे बढ़ना होता है. मैं देखता हूं कि क्रिकेटर के रूप में कहां सुधार कर सकता हूं. आप बैठकर समय बर्बाद नहीं कर सकते हो. ’’ रोहित के अलावा केएल राहुल और अक्षर पटेल ने भी आज वैकल्पिक नेट अभ्यास में भाग लिया.
उन्होंने कहा, ‘‘श्रीलंका के खिलाफ मैंने कुछ अच्छी पारियां खेली है लेकिन 2012 में श्रीलंका के खिलाफ मेरा प्रदर्शन भी अच्छा नहीं रहा जिससे पता चलता है कि खेल में कुछ भी हो सकता है. ’’

1502700101 Image 1502700097308

श्रीलंका के खिलाफ खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच में दूसरे दिन लंच तक टीम इंडिया ने 9 विकेट पर 487 रन बनाए। अपने करियर का तीसरा टेस्ट मैच खेल रहे हार्दिक पांड्या ने तूफानी अंदाज में कई बड़े रिकॉर्ड को अंजाम दिया। पांड्या ने अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर का पहला शतक जड़ा। न केवल शतक जड़ा बल्कि 8वें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए भारत की तरफ सबसे तेज शतक लगाने का रिकॉर्ड बनाया।

पांड्या ने पहला टेस्ट शतक शानदार अंदाज में महज 86 गेंदों में लगाया। उन्होंने इस दौरान 7 गगनचुंबी छक्के और 7 चौके लगाए। टेस्ट क्रिकेट में इतिहास में यह भारत की ओर से लगाया गया पांचवां सबसे तेज शतक है। पांड्या ने अपना शतक चौका लगाकर पूरा किया।
इसके अलावा हार्दिक पांड्या भारत की तरफ से एक ओवर में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज भी बन गए। पुष्पकुमारा के 116वें ओवर में पांड्या ने 26 रन बनाए। इस ओवर में पांड्या ने पहली दो गेंदों में शानदार चौके लगाए। उसके बाद छक्कों की हैट्रिक लगा दी। पांड्या ने लगातार तीन गगनचुंबी छक्के लगाए। लंच तक हार्दिक पांड्या 108 और उमेश यादव 3 रन बनाकर क्रीज पर थे। हालांकि लंच के बाद केवल तीन गेंदे ही खेल पाई भारती पारी और 487 के स्कोर पर ऑलाउट हो गई। पांड्या 10वें शिकार बने।

1502263586 Image 1502263571158

टीम इंडिया के ऑल राउंडर हार्दिक पांड्या ने श्रीलंका के खिलाफ अपना करियर का पहला टेस्ट मैच खेला। इस मैच में पांड्या को सिर्फ एक पारी में बल्लेबाज़ी करने का मौका मिला और अपने पहले मैच की पहली पारी में इस उभरते हुए ऑलराउंडर खिलाड़ी ने अर्धशतक जमा दिया। इस टेस्ट में उन्होंने अपने गेंदबाज़ी में भी दम दिखाया और श्रीलंका का एक विकेट भी लिया, लेकिन इस युवा खिलाड़ी ने ‘वॉट द डक’ शो पर बात करते हुए अपनी जिंदगी के संघर्ष के दिनों के बारे में बात की।

हार्दिक ने बताया कि क्रिकेट के लिए उनका जुनून इतना था कि उनके पास किट ना होने के बावजूद भी वो दूसरे खिलाड़ियों से किट उधार लेकर खेलने के लिए जाते थे। पांड्या ने बताया कि परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण कई बार मुझे मैगी खाकर रहना पड़ता था। हार्दिक पंड्या का जन्म 11 अक्टबर 1993 को गुजरात के सूरत में रहने वाले हिमांशु पंड्या के घर हुआ। उनके पिता कार फाइनेंस का छोटा-सा बिजनेस करते थे। हार्दिक जब पांच साल के थे तो उनके पिता ने लगातार हो रहे घाटे को देखते हुए कार फाइनेंस का बिजनेस बंद कर दिया।
इसके बाद वे परिवार समेत बड़ौदा शिफ्ट हो गए, जहां वे किराए के मकान में रहने लगे। पांड्या के पिता की स्थिति अच्छी नहीं थी इस कारण कई बार ऐसी नौबत आई हार्दिक और उनके बड़े भाई क्रुणाल को दिन में एक बार ही खाना मिल पाता था। हार्दिक के पिता को कई बार अटैक आ चुका था। खराब होती सेहत के कारण उनके लिए नौकरी कर पाना संभव नहीं था। इसलिए दोनों भाइयों का बचपन काफी दिक्कतों के बीच बीता। हालांकि, उनके पिता क्रिकेट के बड़े फैन थे इसलिए वो हार्दिक और क्रुणाल को साथ में मैच दिखाते थे और उनके साथ क्रिकेट खेलते भी थे।

दोनों भाइयों को क्रिकेट में इंटरेस्ट देखते हुए पिता ने इनका एडमिशन किरण मोरे के क्रिकेट एकडेमी में करा दिया। खेल के प्रति दोनों भाइयों का लग्न देखकर उनके पिता बड़ोदा से मुंबई शिफ्ट हो गए। हार्दिक पांड्या आज करोड़पति बन चुके हैं, पांड्या टीम इंडिया में खेलने के अलावा आईपीएल में मुंबई इंडियंस की ओर से भी खेलते हैं। इसके अलावा कई कंपनियों के साथ उनकी ब्रांड एंडोर्समेंट डील भी है।

1502263158 Image 1502263143183

भारतीय मुक्केबाजी स्टार विजेंदर सिंह ने चीनी प्रतिद्वंद्वी जुल्फिकार मेइमेइतियाली को करीबी मुकाबले में हराकर डब्ल्यूबीओ एशिया पेसीफिक सुपर मिडिलवेट खिताब जीतने के बाद भारत-चीन सीमा गतिरोध के बीच शांति की अपील की। विजेंदर के प्रशंसकों के लिए ये दोहरी ख़ुशी का पल था क्योंकि उन्होंने चीनी मुक्केबाज से डब्ल्यूबीओ ओरिएंटल सुपर मिडिलवेट खिताब भी जीता।

10 राउंड तक चले इस रोचक मुकाबले में विजेंदर चीनी मुक्केबाज पर भारी पड़े। विजेंदर और जुलपिकार के बीच ये पहला डबल खिताबी मुकाबला था। खिताबी मुकाबले के बाद विजेंदर ने कहा कि ‘मैं यह बेल्ट जुल्फिकार को वापस देना चाहता हूं। मैं सीमा पर शांति की उम्मीद करता हूं और शांति का संदेश सबसे महत्वपूर्ण है। भारत एवं चीन के बीच पिछले कुछ सप्ताह से सिक्किम सेक्टर में सीमा पर गतिरोध की स्थिति है।’ विजेंदर के पेशेवर कैरियर में यह लगातार नौवीं जीत है।
आपको बता दें, मुकाबले से पहले भी दोनों मुक्केबाजों के बीच जुबानी जंग चल रही थी। हाल ही में विजेंदर ने चीनी मुक्केबाज को तंज कसते हुए कहा था कि मैं जल्दी मुकाबला ख़त्म करके आने की कोशिश करूंगा क्योंकि चाइनीज माल ज्यादा देर तक नहीं टिकते हैं। लेकिन, मुकाबला समाप्त होने के बाद अपने प्रतिद्वंद्वी से प्रभावित भारतीय मुक्केबाज ने कहा, मुझो ऐसा लगता था कि चीनी मुक्केबाज बहुत देर तक नहीं टिक पाएंगे लेकिन जिस तरह वह खेले, उन्होंने मुझे हैरान कर दिया।

ओलंपिक में कांस्य पद जीतने वाले विजेंदर ने 10 राउंड वाले इस मुकाबले में शुरुआत से संभले रहे और चीनी मुक्केबाज के एक-दो अटैक के बाद वे डिफेंसिव रहें। वहीं, दूसरे राउंड में विजेंदर ने चीनी मुक्केबाज पर अटैक करना शुरू कर दिया। तीसरे और चौथे राउंड में दोनों मुक्केबाजों के बीच बराबरी का टक्कर देखने को मिला पर विजेंदर ने ज्यादा देर तक अपना दबदबा बनाये रखा। पांचवे राउंड के शुरुआत से ही विजेंदर हमलावर हो गए और बढ़त बनाते गए जिसका चीनी मुक्केबाज के पास कोई जवाब नहीं था।

1501838868 Image 1501838866329

भारत और श्रीलंका के बीच खेले जा रहे कोलंबो टेस्ट मैच में भारतीय टीम ने रिकॉर्डों की झड़ी लगा दी है. भारत ने उपकप्तान अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा की शानदार पारियों की बदौलत पहली पारी में 500 रनों से ज्यादा रन बना लिए हैं. श्रीलंकाई धरती पर टीम इंडिया ने लगातार दो टेस्ट में 500 से अधिक रन बनाए हैं. भारत ने गॉल और कोलंबो टेस्ट में लगातार 500 से अधिक रन बनाए. इसी के साथ ही टीम इंडिया ने कई रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं. आइए एक नजर डालते हैं उन रिकार्ड्स पर जो भारतीय टीम ने अपने नाम किए हैं.

एक साल में 9वीं बार भारत ने बनाए 500+ रन

भारत ने पिछले साल जुलाई 2016 में खेली गई वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज से लेकर अब तक टेस्ट क्रिकेट में कुल 9 बार 500 या उससे अधिक रन बनाए हैं. जो किसी भी टीम के मुकाबले सबसे ज्यादा है. भारत के अलावा न्यूजीलैंड ने सिर्फ 3 बार 500 या उससे अधिक रन बनाए हैं.
सबसे ज्यादा 500+ रन बनाने के मामले में भारत नंबर 3 पर

टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा 500 या उससे अधिक रन बनाने के मामले में भारत तीसरे नंबर पर हैं. टीम इंडिया ने अब तक कुल 80 बार टेस्ट क्रिकेट में 500 या उससे ज्यादा का स्कोर बनाया है. अगर बात करें टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा 500 रन बनाने के रिकॉर्ड की तो यह ऑस्ट्रेलिया के नाम है. ऑस्ट्रेलियाई टीम ने अब तक टेस्ट क्रिकेट में 141 बार यह कारनामा किया है. जबकि दूसरे नंबर पर इंग्लैंड की टीम है, जिसने कुल 105 बार 500 या उससे अधिक रन बनाए हैं.

1501821350 Image 1501821346914

श्रीलंका के खिलाफ खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच में चेतेश्वर पुजारा अपने टेस्ट करियर का 50वां टेस्ट मैच खेल रहे हैं। इस टेस्ट मैच में पुजारा ने बल्लेबाजी करते हुए 4000 के क्लब में एंट्री कर ली।

- पुजारा जब बल्लेबाजी पर आए, तो वह 4000 रन से 34 रन दूर थे, जो उन्होंने 98 बॉल खेलकर यह रन पूरे कर लिए। पुजारा ने 84 पारियों में यह उपलब्धि हासिल की है, जो राहुल द्रविड़ के बराबर है।

- राहुल द्रविड़ ने भी इतनी ही पारियां खेलकर टेस्ट क्रिकेट में अपने 4000 रन पूरे किए थे।
- भारत का स्कोर जब 56 रन था, तब शिखर धवन 35 रन बनाकर दिलरुवान परेरा की बॉल पर LBW आउट हुए। पुजारा अपने 50वें टेस्ट में मैच के 11वें ओवर में ही बल्लेबाजी पर उतरना पड़ा। इस पारी में उन्होंने अपने टेस्ट करियर का 13वां शतक पूरा कर लिया है। वह अजिंक्य रहाणे के साथ भारत की पारी को आगे बढ़ा रहे हैं।

- द्रविड़ और पुजारा से तेज 4000 रन बनाने का रिकॉर्ड वीरेंदर सहवाग और सुनील गावस्कर के नाम हैं। सहवाग ने 79 और गावसकर ने 81 पारियों में यह उपलब्धि हासिल की थी। हालांकि ये दोनों बल्लेबाज ओपनिंग बल्लेबाजी करते थे, जबकि पुजारा और द्रविड़ ज्यादातर मौकों पर नंबर 3 पर बैटिंग करते रहे हैं।

Page 1 of 20

Media News

  • Bollywood
  • Life Style
  • Trending
  • +18
  • IPL 2017
Post by साकेत सिंह धोनी
- Aug 04, 2017
नवाजुद्दीन सिद्दिकी की आने वाली फिल्म ‘बाबूमोशाय बंदूकबाज’ पिछले कुछ समय से लगातार चर्चा में है। अपने ट्रेलर से लेकर ...
Post by पुनीत पाण्डेय
- Jul 27, 2017
मुलेठी (यष्टीमधु ) - मुलेठी से हम सब परिचित हैं | भारतवर्ष में इसका उत्पादन कम ही होता है | यह ...
Post by साकेत सिंह धोनी
- Aug 09, 2017
दक्षिण-पूर्व चीन के गुआंगजौ शहर के लोग उस समय हैरान रह गए जब एक 12 साल के लड़के को शहर की सड़कों पर बस चलाते देखा। इससे ...
Post by साकेत सिंह धोनी
- Aug 17, 2017
बॉलीवुड की लैला सनी लियोनी का जादू लोगों पर ऐसा चलता है कि लोग उन्हें पर्दे पर देखकर दीवाने हो जाते हैं. हाल में सनी एक ...
Post by साकेत सिंह धोनी
- Aug 18, 2017
भारतीय टीम के मध्यक्रम के बल्लेबाज सुरेश रैना को यूएई में स्थित गल्फ पेट्रोकेम ग्रुप, जीपी पेट्रोलियम लिमिटेड ने ...
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…