IMG 6180
Uttar Pradesh

Uttar Pradesh (1854)

योगी सरकार देगी यूपी के युवाओ के बेहतर शिक्षा,ला रही ये योजना.... योगी सरकार द्वारा शिक्षा को बढ़ावा दिया जा रहा है।। इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए योगी सरकार ने पं0 दिनदयाल उपाध्याय जी के जन्मशताब्दी पर 166 नए पं0 दिनदयाल उपाध्याय मॉडल स्कुल खोलने का एलान किया है।। योगी सरकार शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए प्रतिबद्ध है इसी कड़ी में उन्होंने ये स्कुल खोलने की योजना बना रही।। इन स्कूलों में अगले सत्र से प्रवेश होगा ।। अगले सत्र से कक्षा 9 से 12 तक में प्रवेश होगा।। इस स्कुल में एनसीआरटी का पाठ्यक्रम लागू किया जायेगा।।

योगी जी के मुख्यमंत्री बनने के बाद से ही योगी सरकार लगातार अपने वादों को पूरा करने का प्रयास कर रही।।
इसी ये तहत योगी सरकार ने यूपी के गाँव-गाँव तक बस की सुविधा देने के लिए प्रयासरत है क्योंकि योगी सरकार बेहतर यातायात व्यवस्था उपलब्ध करवाने के लिए प्रतिबद्ध है।।

योगी जी के इस योजना को पूरा करने के लिए केंद्र सरकार भी सहयोग कर रहा है।। इस योजना के अंतर्गत पहले। चरण में लगभग यूपी के 2100 गाँवो को आपस मे जोड़ने का कार्य योगी सरकार करेगी।।

1498390456 Image 1498390407571

। प्रदेश में 1 लाख 60 हजार प्राथमिक, उच्च प्राथमिक विद्यालय जन सहभागिता से गुणवत्तापूर्ण व उच्चस्तरीय शिक्षण संस्थान बनाए जाएंगे। प्रदेश की बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्रीमती अनुपमा जायसवाल ने शनिवार को यह जानकारी दी। उन्होंने सांसदों, विधायकों, अधिकारियों व समाज में स्थापित लोगों से एक प्राथमिक विद्यालय गोद लेने की अपील की। श्रीमती जायसवाल यहां प्रदेश भाजपा मुख्यालय में जनसहयोग केंद्र पर जन समस्याओं की सुनवाई व निस्तारण कर रही थीं। श्रीमती जायसवाल ने बताया कि प्राथमिक विद्यालयों को गोद लेने के कार्यक्रम शुरू करने के बारे विचार किया जा रहा है।  मध्याह्न भोजन में सुधार को समिति गठित श्रीमती जायसवाल ने कहा कि प्राथमिक विद्यालयों में बच्चों को दिए जाने वाले मध्याह्न भोजन की गुणवत्ता सुधारने के लिए माताओं की समितियां गठित कर दी गई हैं। प्रत्येक समिति में छह महिलाएं शामिल की गई हैं। यह समिति विद्यालयों में भोजन की गुणवत्ता की जांच करेगी। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम से विद्यालय के साथ अभिभावकों का संबंध भी बढ़ेगा। सरकार का प्रयास है गांव से अधिक से अधिक प्रतिभाएं निकलकर आगे आएं। इसी उद्देश्य से मासिक पाठ्यक्रम आवंटित किए गए हैं, ताकि शिक्षण सत्र में निर्धारित पाठ्यक्रम पूर्ण हो। उन्होंने कहा कि जुलाई में बच्चे नई ड्रेस में विद्यालय जाएंगे। सर्दियों में बच्चों को स्वेटर भी दिए जाएंगे। जूतों की व्यवस्था भी की जाएगी।  उपस्थिति पंजिका में लगी शिक्षक की फोटो  प्राथमिक विद्यालयों में अपने स्थान पर किसी और को पढ़ाने भेजने की शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए शासन ने इसकी रोकथाम के कदम उठाए हैं। श्रीमती जायसवाल ने कहा कि अध्यापक उपस्थिति रजिस्टर में अध्यापकों की फोटो लगवाई गई है, ताकि अध्यापक के स्थान पर कोई और विद्यालय में पढ़ाने न जाए। उन्होंने बताया कि अभी बायोमेट्रिक उपस्थिति लागू नहीं की जा रही है। प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षकों व संसाधनों का भौतिक सत्यापन किया जा रहा है, ताकि किसी तरह की गोलमाल की गुंजाइश न रहे। उन्होंने बताया कि सभी बेसिक शिक्षा अधिकारियों के साथ बैठक कर योगी सरकार की प्राथमिक शिक्षा सुधार के प्रारूप को समझा दिया गया है। उन्होंने कहा कि लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। अब तक 6 बीएसए निलम्बित  अनियमितताएं पाए जाने पर अब तक 6 बीएसए निलम्बित किए जा चुके हैं। उन्होंने चेतावनी दी कि जो अधिकारी नहीं सुधरेंगे, उनको सुधारने के और उपाय हैं। प्रदेश उपाध्यक्ष डाॅ राकेश त्रिवेदी व प्रदेश मंत्री धर्मवीर प्रजापति के साथ मंत्री जायसवाल ने जनसमस्याएं सुनीं। मंत्री ने मौके पर ही अधिकारियों को फोन पर समस्या के निस्तारण का निर्देश दिया।  भाजपा प्रदेश मुख्यालय पर दिनांक 25 जून को सुबह 11 बजे से दोपहर 01 बजे तक राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) स्वाति सिंह जी जनता की समस्याओं के निराकरण के लिए उपस्थित रहेंगी। साथ ही प्रदेश उपाध्यक्ष प्रकाश शर्मा एवं प्रदेश मंत्री अनूप गुप्ता एवं कार्यालय सहायक आनंद पाण्डेय भी उपस्थित रहेंगे। 
विवा

 उत्तर प्रदेश की महिलाओं और युवतियों के सुरक्षा योगी सरकार ने एक बहुत बड़ी पहल की है महिलाओं और किशोरियों की मदद करने के लिए महिला एवं बाल विकास कल्याण विभाग ने वीमेन हेल्प लाइन 181 का जहां विस्तार हो गया है वहीं आशा ज्योति केंद्र को 11 से बढ़ाकर 64 और जिलों में किया जा रहा है।लखनऊ में 181 कॉल सेंटर के विस्तार को हरीझंडी दिखाते हुए कैबिनेट मंत्री महिला एंव बाल विकास विभाग रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि ये 100 दिन में महिलाओँ के लिए हमारी सबसे अनूठी पहल है।" वीमेन हेल्प लाइन 181 को छह सीटर से बढ़ाकर 30 सीटर कर दिया गया है जबकि आशा ज्योंति केंद्रों का विस्तार कल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के हाथों होगा। अभी तक 11 जिलों में संचालित आशा ज्योंति केंद्र 64 और जिलों में संचालित किया। वीमेन हेल्प लाइन 181 में काम कर रही हरदोई जिले के कछौना ब्लॉक के तेरवा दहिगवाँ गांव की रहने वाली ज्योति शिखा सिंह (22 वर्ष) अपना अनुभव साझा करते हुए बताती हैं, “गांव में पुरुषों का महिलाओं को पीटना बहुत ही सामान्य माना जाता है, दहेज के लिए मारपीट, गली-चौराहों पर लड़कियों के साथ छेड़छाड़ होती रहती है, इस हेल्प लाइन पर अब महिलाएं और किशोरियां घर बैठे एक फोन करके अपनी समस्या का समाधान करा सकती हैं, यहां काम करने के बाद सैकड़ों काल्स रोज सुनती हूँ।” वो आगे बताती हैं, “महिलाएं पूरा विश्वास करके अपनी समस्या हमे बताती हैं, जब इस हेल्प लाइन के द्वारा हम उनकी मदद करते हैं तो आत्मसंतुष्टि मिलती है, अब ये संख्या बढ़ जायेगी तो इनकी जिन्दगी और आसान हो जायेगी।देश में महिलाओं को उनका हक दिलाने का काम रही संस्था नेशनल कमीशन फॉर वीमेन के आंकड़ों के अनुसार भारत में घरेलू हिंसा के मामले सबसे अधिक उत्तर प्रदेश में हैं। वर्ष 2015-16 में अकेले उत्तरप्रदेश में महिलाओं के खिलाफ घरेलू हिंसा के मामलों की संख्या 6,110 थी, जबकि दिल्ली में 1,179, हरियाणा में504, राजस्थान में 447 और बिहार में 256 मामले दर्ज हैं।महिला एवम बाल विकास कल्याण के सलाहकार अभिषेक दीक्षित का कहना है, “महिलाओं और किशोरियों की मुश्किलों को आसान करने के लिए इस योजना विस्तार किया जा रहा है, 64 रेस्क्यू वैन हर जिले में तीन फील्ड काउंसलर रहेंगे इसकी जिम्मेदारी जिले के जिला प्रोबेशन अधिकारी को सौपीं गयी है, कन्या भ्रूण हत्या को रोकने के लिए ‘मुखबिर योजना’ का भी शुभारम्भ 24 जून को मुख्यमंत्री द्वारा किया जायेगा।” वो आगे बताते हैं, “आशा ज्योति केंद्र 11 जिलों में अभी तक संचालित किये जा रहे हैं, छह और जिले झांसी, मिर्जापुर, बांदा, पीलीभीति, शाहजहांपुर, मुज्जफरनगर में आशा ज्योति केंद्र फंक्शनल हो गये हैं, बाकी जिलों में आफिस डीपीओ की देखरेख में रहेगा।”इस योजना के विस्तार के बाद सैकड़ों महिलाओं और किशोरियों को चयनित किया गया है जिन्हें विभिन्न पदों की जिम्मेदारी दी गयी है। हरदोई जिले की फैसिलेटर पद की न्युक्ति पा चुकी श्रद्धा रस्तोगी का कहना है, “अभी लखनऊ में ट्रेनिंग दी जा रही है, बहुत नयी चीजें सीखने को मिल रही है, आशा ज्योति केंद्र से जुड़ने के बाद गांव के लोगों की मदद कर पाना अब आसान होगा, गांव में छेड़छाड़, मारपीट की समस्या अकसर देखने को मिलती है इन्हें रोक पायें ये हमारी कोशिश रहेगी।” वुमेन हेल्प लाइन 181 के प्रोजेक्ट मैनेजर आशीष वर्मा का कहना है, “वुमेन हेल्प लाइन 181 को 30 सीटर करने से ज्यादा से ज्यादा लोगों की मदद एक साथ हो पायेगी, अभी तक आशा ज्योति केंद्र 11 जिलों में ही संचालित हो रहा था जिसकी वजह से रेस्क्यू वैन का हर जिले में पहुंचना सम्भव नहीं था, अब हर जिले में एक रेस्क्यू वैन तीन फील्ड कॉउस्लर रहेंगे जिससे हर जिले की समस्या का उसी जिले में समाधान होगा।” वो आगे बताते हैं, “हर जिले में इसकी पूरी जिम्मेदारी डीपीओ को दी जायेगी, डीपीओ के निर्देशानुसार इसका पूरा संचालन होगा।”हरदोई जिले के जिला प्रोबेशन अधिकारी जयदीप सिंह का कहना है, “रेस्क्यू वैन और महिला स्टाप आने से हमारी मुश्किलें आसान हो जायेगी,क्योंकि महिला स्टाप की कमी थी रेस्क्यू वैन रहेगी तो दूर-दराज गांव में आसानी से पहुंचकर उनकी मदद की जा सकती है।” लखनऊ में बने आशा ज्योति केंद्र की सामाजिक कार्यकर्ता अर्चना सिंह बताती हैं, “सभी कॉउस्लर की ट्रेनिग चल रही है, अब महिलाओं को परेशान होने की जरूरत नहीं है उनके ही जिले में उनकी समस्या का समाधान होगा।” प्रदेश के 64 जनपदों के लिए ‘181 महिला हेल्पलाइन रेस्क्यू वैन’ तथा कन्या भ्रूण हत्या को रोकने के लिए ‘मुखबिर योजना’ का मुख्यमंत्री 24 जून को प्रात: 10:30 बजे 5 कालीदास मार्ग पर शुभारम्भ करेंगे। 181 कॉल सेंटर के विस्तार को हरी झंडी दिखाते हुए कैबिनेट मंत्री महिला एंव बाल विकास विभाग रीता बहुगुणा जोशी ने कहा, “ये हमारी 100 दिनों की सबसे अनूठी पहल होगी, वर्तमान में प्रदेश सरकार महिलाओं के सशक्तीकरण के लिए बेहद गम्भीर है, अब 181 की 30 सीटर कर कर दी गयी हैं 90 लोग रहेंगे, ये 24 घंटे चलने वाली सेवा है, प्रदेशभर से 181 पर जो कॉल आयेंगी उसे सम्बंधित जिले में मौजूद रेस्क्यू वैन को सूचित कर फील्ड काउंसलर उनकी मदद के लिए तत्पर रहेंगे, हर रेस्क्यू वैन में दो काउंसलर और एक महिला पुलिसकर्मी मौजूद रहेगी।” वो आगे बताती हैं, “आठ मार्च 2016 को 181 की शुरुवात हुई थी इसमे जून 2017 तक कुल 30,993 महिलाओं की मदद की गयी, महिलाएं 181 पर नि:संकोच फोन करें उनकी हर संभव मदद की जायेगी।” इस मौके पर प्रदेश की महिला बाल एवम परिवार कल्याण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) स्वाति सिंह ने कहा, “दूर-दराज क्षेत्रों की महिलाओं को किसी भी तरह की कोई असुविधा न हो इसके लिए 181 हेल्पलाइन और रेस्क्यू वैन इनके लिए मददगार साबित होगी, महिलाओं के साथ मारपीट, घरेलू हिंसा, एसिड अटैक, छेड़छाड़, बालात्कार और दहेज उत्पीड़न जैसे मामले पर खास ध्यान दिया जाएगा, महिलाओं को सुरक्षित रखना हमारी जिम्मेदारी है।”वहीं जीवेके ईएमआरआई के निदेशक के कृष्णम राजू व यूपी स्टेट के प्रमुख जितेन्द्र वालिया ने सभी अतिथियों को स्मृति चिन्ह व बुके देके स्वागत किया। के कृष्णम ने अपने सम्बोधन में कहा कि मार्च 2016 से मई 2017 तक 181 हेल्पलाइन पर अबतक 46392 प्रभावी कॉल्स आयीं, जिसमे 3174 केस आशा ज्योति केंद्र और डीपीओ को ट्रांसफर किये गये, 6347 पुलिस स्टेशन को ट्रांसफर हुए और 15191 केस 181 की टीम और आशा ज्योति केंद्र की की टीम ने सुलझाये। इस कार्यक्रम में महिला एवम बाल विकास कल्याण की प्रमुख सचिव रेणुका कुमार, सचिव संतोष यादव, निदेशक रामकेवल, यूनीसेफ सलाहकार मनीष सिंह,अभिषेक दीक्षित सहित कई वर्षित अधिकारी मौजूद रहे।


सीतापुर में एक माँ ने अपनी ही नवजात को ज़मीन में जिंदा दफ़्न कर दिया ।यह मामला कोतवाली तालगांव क्षेत्र में हरगांव थाना क्षेत्र का है।जहां पर अविवाहित लड़की ने बुधवार को बनईराम पुल के पास बच्चे को जन्म दिया। तालगांव से अपनी मां के साथ लड़की गर्भपात की दवा लेकर जब घर जा रही थी कि उसी समय उसे प्रसव पीड़ा होंने लगी ,लड़की ने बनईराम पुल के निकट बने लोहे के खोखे के पीछे बच्चे को जन्म दिया और जन्म देने के बाद लड़की ने अपने बच्चे को लोकलाज के कारण जमीन में गढ्ढा खोद कर गाड़ दिया। जब यह मामला कुछ ग्रामीणों के संज्ञान में आया तो उन्होंने जमीन खोद कर बच्चे को जीवित निकाल लिया और तत्काल डाक्टर के पास ले गए। बच्चे का इलाज चिकित्सक कर रहे हैं। जमीन से जिन्दा बच्चा निकलने की सूचना क्षेत्र में चर्चा का विषय है। बनईराम पुल के निकट रखे खोखे के पास जमीन की खुदाई की। कुछ देर खोदने के बाद जमीन से जीवित नवजात को निकाला गया। बच्चे को लेकर ग्रामीण स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचे जहां बच्चे का इलाज शुरू हो गया। सूत्रों के मुताबिक ग्रामीण बच्चे को अस्पताल में भर्ती कराने के बाद बच्चे की मां और उसके परिवारीजनों को भी अस्पताल ले आए।

1498366563 Image 1498366517053

यूपी की राजधानी लखनऊ में एक दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है. ब्यूटी पार्लर में काम करने वाली एक युवती जब रात को घर वापस लौट रही थी तो कुछ बदमाशो ने उसके साथ बलात्कार करने की नाकाम कोशिश की। नाकाम होने पर बदमाशों ने युवती को चलते आटो से फेंक दिया. इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. काकोरी थाना क्षेत्र में रहने वाली कविता (बदला हुआ नाम) कालीचरण डिग्री कॉलेज में बीए प्रथम वर्ष की छात्रा थी. पढ़ाई के साथ-साथ वह ब्यूटी पार्लर में काम करती थी. शुक्रवार रात करीब 8 बजे वह काकोरी के दुबग्गा से घर के लिए निकली थी. वह शेयरिंग ऑटो में बैठी थी. कुछ देर बाद कुछ युवक भी ऑटो में बैठ गए. युवक युवती के साथ छेड़खानी करने लगे. सुनसान इलाका देखते ही उन्होंने कविता के साथ रेप की कोशिश की. युवती के शोर मचाने पर उन्होंने मडियांव थाना क्षेत्र स्थित डेंटल कॉलेज के पास चलते ऑटो से कविता को फेंक दिया और फरार हो गए. स्थानीय लोगो की मदद से युवती को ट्रामा सेंटर ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई.
पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी।पता लगा है कि ऑटो चालक भी आरोपियो के साथ मिला हुआ था। पुलिस कुछ लोगों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ कर रही है.

कल यूपी के सीएम योगी जी ने प्रदेश में हो रही कन्या भ्रूण हत्या तथा लिंग परीक्षण को रोकने के लिए मुखबिर योजना शुरू करने का एक सराहनीय कदम उठाया हैं। इस योजना में लिंग परीक्षण तथा कन्या भ्रूण हत्याकरने वाले डॉक्टरों तथा करवाने वाले परिवारो के प्रति सख़्त से सख्त कार्यवाही होगी । मुखबिर योजना के अंतर्गत जो डॉक्टर ऐसा करता हैं या कोई परिवार ऐसा करवाना चाहता उसकी खबर देने वाले को प्रोत्साहन के रूप में 2लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की है। मुखबिर योजना के तहत कन्या भ्रूण हत्या तथा लिंग परीक्षण जैसी हो रही अपराधों पर नियंत्रण किया जा सकेगा।

बहराइच जनपद के अन्तर्गत मिहिपुरवा मोतीपुर 33/11 के.वी. विधुत उपकेन्द्र मोतीपुर का घोर लापरवाही का मामला सामने आया है। यहाँ उपकेन्द्र मे लगभग पिछले तीन महीने से कंप्यूटर सिस्टम जला हुआ है जिसका खाम्याजा कनेक्शन धारक को भुगतना पढ़ रहा है। मोतीपुर विधुत उपकेन्द्र का कंप्यूटर जला हुआ है जिससे कनेक्शन धारकों को काफी समस्याओं का सामना करना पढ़ रहा है। बिजली बिल जमा करने मे काफी दिक्कतों का सामना करना पड रहा है कनेक्शन धारक बताते है की अगर हम किसी भी जनसेवा केन्द्र से बिजली बिल का भुगतान करते है तो तो अतरिक्त रुपये भुगतान करने पड़ते है।और अगर हम उप केन्द्र मोतीपुर मे ऑफ लाइन रसीद के मध्यम से भुगतान करते है तो अगले महिने के बिल मे बकाया जुड़ के आ जाता है ऐसे मे जिस महिने का भुगतान भी कर दो फ़िर भी बकाया का बकाया बना रहता है या फ़िर अतरिक्त रुपये दे कर किसी सी एस सी केन्द्र से बिल का भुगतान करे। हमने जब जानना चहा की ऐसा क्यों हो रहा है। विधुत उपकेन्द्र मोतीपुर के कर्मचारी से मेरी बात हुई तो उसने चौंकाने वाला जवाब दिया उसका कहना था की मैने कंप्यूटर ठीक करवाने के लिये ऊपर तक सूचना दिया हूँ लेकिन इस सम्बन्ध मे कोई कार्यवाही नही हुई कंप्यूटर ना तो ठीक करवा गया ना ही बदला गया।

Page 1 of 155

Media News

  • Bollywood
  • Life Style
  • Trending
  • +18
  • IPL 2017
Post by साकेत सिंह धोनी
- Jun 25, 2017
'सुल्तान' फिल्म की शुरुआत तो आपको याद ही होगी. वो दमदार आवाज भी आपको याद होगी. जब देश की तेज तर्रार एंकर अंजना ओम कश्यप ...
Post by साकेत सिंह धोनी
- Jun 25, 2017
हममें से ज्यादातर लोग अपने दिन की शुरुआत चाय से ही करते हैं. कोई अदरक वाली चाय पीकर दिन की शुरू ...
Post by साकेत सिंह धोनी
- Jun 26, 2017
पिछले कई दिनों से कोच-कप्तान विवाद के चलते आलोचना झेल रहे कप्तान विराट कोहली की लोकप्रियता पर इसका कोई फर्क नहीं पड़ा ...
Post by साकेत सिंह धोनी
- Jun 24, 2017
लड़कों को आकर्षित करने के लिए लड़कियां क्या़-क्या नहीं करती। लड़कियों को हमेशा यही लगता है कि लड़कों को सुंदर लड़कियां ...
Post by साकेत सिंह धोनी
- Jun 27, 2017
भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ चल रही वनडे सीरीज के तीसरे मैच में विकेटकीपर बल्लेबाज ...
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…