Gorakhpur

गोरखपुर जेल -यूपी का हाईटेक जेल, वीडियो कांफ्रेंसिंग से होती है कैदियों की पेशी और…

गोरखपुर का जिला जेल उत्तर प्रदेश के हाईटेक जेलों में से एक है .यहाँ वीडियो कांफ्रेंसिंग से होती है बंदियों की पेशी .यह तकनीक का कमाल है। अपराध पर अंकुश और न्याय व्यवस्था को ज्यादा प्रभावी बनाने में पिछले तीन साल के दौरान वीडियो कांफ्रेंसिंग ने बड़ी भूमिका निभाई है। गोरखपुर-बस्ती मंडल की जेलों में अभी सिर्फ उन बंदियों की पेशी वीडियो कांफ्रेंसिंग से हो रही है जिनकी चार्जशीट फाइल नहीं हुई है या फिर जो दूरस्थ जिलों के हैं। लेकिन इतने से ही रोज कम से कम एक लाख रुपए की बचत हो जा रही है। इस तरह तीन साल में कम से कम 11 करोड़ रुपयों की बचत हो चुकी है। सभी बंदियों की पेशी वीडियो कांफ्रेंसिंग से होने लगे तो यह बचत तीन गुना तक बढ़ाई जा सकती है।

अनुकरणीय पहल
3 साल से वीडियो कांफ्रेंसिंग से हो रही गोरखपुर-बस्ती मंडल की जेलों में रिमांड वाले बंदियों की पेशी
01 लाख रुपये की प्रतिदिन की हो रही फोर्स और गाड़ियों पर होने वाले खर्च में बचत
03 गुना हो सकती है बचत यदि सभी बंदियों की सुनवाई वीडियो कांफ्रेंसिंग हो 

Leave a Reply