National

‘मुझे आम कैदियों के तरह रखा जा रहा है’ लालू ने की शिकायत, मिला ये जवाब…

चारा घोटाले के एक मामले में लालू यादव को साढ़े तीन साल की सज़ा हो चुकी है। लालू अब झारखंड की राजधानी राँची की जेल में सज़ा भी काट रहे हैं। लालू के उपर चारा घोटाले के कुल छ: मामले में हैं। जिस मामले में लालू को अभी सज़ा हुई है वो झारखंड के देवघर के कोषाघर से अवैध निकासी का है।

लालू यादव पर अभी फिलहाल चारा घोटाले के एक मामले यानि कि दुमका खजाना मामले में सुनवाई चल रही है। इसका फैसला भी थोड़े ही दिन में आ जाने की उम्मीद है। लालू इसको लेकर बुधवार को कोर्ट में हाज़िर हुए थे। जज शिवपाल सिंह से उनकी हल्की फुल्की बातचीत भी होती हुई दिखी। इस बीच लालू से जज ने जेल में आने वाली दिक्कतों के बारे में पूछा तो लालू शुरु हो गए। लालू ने जज से कहा कि उन्हें अपने कार्यकर्ताओं से मिलने नही दिया जा रहा, जिस पर जज ने कहा कि जेल के कानून के हिसाब से ही सब होगा। इसलिए आपके लिए मैंने खुली जेल की सिफारिश की थी। इस पर लालू ने कहा कि अगर कार्यकर्ताओं को खुली जेल में बुलाया जाएगा तो वहाँ नरसंहार हो जाएगा तो जज ने कहा कि आप टेंशन ना लें, ऐसा कुछ नहीं होगा।

लालू यहीं नही रुके और जज से कहा कि उनके साथ आम कैदियों के तरह बिहेव किया जाता है जिस पर जज ने कहा कि सारे कैदियों के लिए एक जैसे नियम हैं। लालू ने दुमका मामले की  सुनवाई भी जल्द से जल्द करने की सिफारिश की और कहा कि इसमें उन्हें बस ढ़ाई साल की सज़ा दी जाए, जिस पर जज शिवपाल बिफर गए और कहा कि आप इस तरह नहीं बोलें, इस तरह की बात यहां नहीं होनी चाहिए।