National

इस महिला IAS ने छीन ली मंत्री की कुर्सी, किया ऐसा खुलासा कि हिल गई पूरी सरकार।

जमीन हड़पने के आरोपों के चलते केरल के परिवहन मंत्री थॉमस चांडी ने इस्तीफा दे दिया है। राज्य के सबसे अमीर मंत्री थॉमस पर जमीन हड़प कर रिसोर्ट बनाने के आरोप लगे हैं। बता दें, 92 करोड़ रुपए से अधिक संपत्ति के साथ वह केरल कैबिनेट में सबसे अमीर सदस्य थे। इतने बड़े मंत्री के इतने बड़े घोटाले का खुलासा एक महिला IAS ने किया है। मंत्री के खिलाफ अलाप्पुझा की तत्कालीन कलेक्टर टी.वी. अनुपमा ने रिपोर्ट पेश की थी।

बताया जा रहा है कि इस घोटाले की आंच बाकी मंत्रियों पर भी आ सकती है। टी.वी. अनुपमा ने हाल ही में सरकार को सौंपी रिपोर्ट में चांडी पर जमीन कब्जा कर रिजॉर्ट बनाने का आरोप लगाया था। मंत्री के लग्जरी लेक रिसॉर्ट ने प्रदेश के भूमि संरक्षण कानून और धान भूमि संरक्षण कानून का उल्लंघन किया है। इस रिपोर्ट ने जैसे केरल की राजनीति में तूफान खड़ा कर दिया है। इन आरोपों के बीच थॉमस चांडी ने बुधवार को मुख्यमंत्री पिनराई विजयन को अपना इस्तीफा सौंप दिया।

इसके खिलाफ चांडी की ओर से दायर याचिका मंगलवार को केरल हाईकोर्ट ने खारिज कर दी थी। मंत्री के खिलाफ घोटालों का खुलासा करने वाली आईएएस अफसर अनुपमा अपने कड़े फैसले के लिए जानीं जाती है। अनुपमा का जन्म मल्लापुरम के मरान्चेरी में हुआ था। उन्होंने गोवा के बिट्स पिलानी से इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग की डिग्री ली है। अनुपमा सिविल सर्विसेस के 2010 बैच में सिलेक्ट हुई थीं और उनकी ऑल इंडिया में 4th रैंक थी। जानकारी के मुताबिक, टी.वी. अनुपमा के पति क्लिंसटन कोच्चि में आईटी आंत्रप्रेन्योर हैं। IAS बनने के बाद अनुपमा ने फूड सेफ्टी डिपार्टमेंट की कमिश्नर का पद संभाला। इसके बाद वो अलाप्पुझा की कलेक्टर के पद पर कार्यरत हुई। अनुपमा जब फूड सेफ्टी कमिश्नर थी तो उन्होंने मिलावटखोरी पर लगाम लगाना शुरू कर दिया था। उन्होंने 15 महीने के अंदर 750 व्यापारियों से 6 हजार से ज्यादा नमूने लेकर उन पर केस दर्ज किया था। फ़ूड सेफ्टी कमिश्नर के बाद वे अलाप्पुझा की कलेक्टर के रूप में पदस्थ हुई। सेंटर ऑफ इंडियन ट्रेड यूनियन के कन्वीनर के खिलाफ शिकायत करने के बाद ये पहली बार चर्चा में आई थी। अब अलाप्पुझा की 48वीं डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर बनने के बाद वो एक बार फिर सुर्खियों में है।

Leave a Reply