Trending

मौत कभी भी आ घेरती है, इस न्यूज़ को पढ़ कर आपकी रूह कांप जाएगी!

कहते हैं मौत ही जिंदगी का असली अंत है. मौत को कोई नहीं रोक सकता. जीवन एक झूठ है जबकि, मौत एक कडवा सच है. इंसान चाहे मौत से दूर भागने के लाख प्रयास भी क्यूँ ना कर ले, फिर भी मौत उस इंसान तक पहुँच ही जाती है. हिन्दू धर्म के शास्त्रों के अनुसार मौत के लिए स्वयं यमराज धरती पर आते हैं और जब व्यक्ति का अंत निकट आ जाता है तो वह उसके प्राण हर लेते हैं. आज तक इस दुनिया में जितने भी राजा महाराजा ने जन्म लिया, उनकी एक ना एक दिन मृत्यु भी हुई. क्यूंकि, इस दुनिया में कोई भी ऐसा व्यक्ति नहीं है जो तमाम उम्र के लिए जीवित रह सके. कहते हैं कि यमराज मृत्यु से कुछ क्षणपहले ही मरने वाले को उसकी मौत के संकेत दे देते हैं. लेकिन, फिर भी वह इंसान खुद को मौत से बचा नहीं पाता.

इन दिनों सोशल साइट्स पर कोई न कोई विडियो या फोटो वायरल होती ही रहती है. अभी हाल ही में एक मौत का विडियो सोशल साइट्स पर बवाल मचा रहा है. दरअसल, इस विडियो को देख कर आप भी समझ पाएंगे कि अनहोनी कभी भी घट सकती है. भले इंसान शेर पर बैठा हो या फिर चूहे पर, जिसकी मृत्यु का समय आ जाए उसे कोई नहीं बचा सकता. यहाँ तक कि कईं बार इंसान एक पल हँसता खेलता नजर आता है तो दुसरे ही पल हमसे हमेशा के लिए मौत द्वारा छीन लिया जाता है.

मृत्यु आने से पहले रात और दिन नही देखती. कुछ ऐसा ही अजीबो गरीब किस्सा हाल ही में हमारे सामने आया है. जहाँ एक परिवार के चार जनों ने सोचा भी नहीं था कि रात भर में उनकी जिंदगी हमेशा के लिए बदलने वाली है. दरअसल भागलपुर के तिलकामांझी के मुंदीचक में दो मंजिला मकान ढहने से उसके मलबे में दबकर एक महिला किरण देवी (32) की मौत हो गई. मकान में चैन से सो रहे इस परिवार की किस्मत यूँ बदल जाएगी, ऐसा उन्होंने सपने में भी नहीं सोचा था.

जानकारी के अनुसार मृतक किरण देवी का पति गोविंद शर्मा और 20 दिन का नवजात भी उस समय उसके साथ ही सो रहे थे लेकिन वह हादसे में किसी तरह से बच निकले. आपकी जानकारी के लिए हम आपको  बता दें कि ये दर्दनाक हादसा तिलकामांझी के मुंदीचक डॉ. आर बाखला गली में मंगलवार की देर रात लगभग तीन बजे हुआ था. हादसे के बाद ही घटनास्थल पर मृतक के परिजन और मोहल्ले वाले पहुँच गए. लोगों ने बताया कि इस हादसे का पूरा ज़िम्मा बगल में  बन रहे मकान को जाता है.

शर्मा के मकान के बगल में जेसीबी से ज्यादा गड्ढा खोद दिया था. जिसके चलते मकान की नींव कमज़ोर पड़ गई और कुछ ही पल में पूरा मकान गिरकर मलबे में बदल गया. मृतका के पति गोविंद ने पुलिस को बताया कि उसकी पत्नी की मौत के जिम्मेदार सुखदेव और उसके दो साथी हैं. जिसके बाद  ने तीनो को गिरफ्तार कर मामला दर्ज़ कर लिया है.

जानकारी के अनुसार पुराने मकान को तोड़कर नए मकान को बनाने के लिए नक्शा नगर निगम ने पास किया था. जिसके चलते फिलहाल पुलिस नगर निगम को चपेट में लेने की सोच रही है.