Uttar Pradesh

Uttar Pradesh (2240)

1503154844 Image 1503154842362


आज सुबह हुए यहां एक तेज विस्फोट की घटना ने पूरे दार्जिलिंग को हिलाकर रख दिया है. अलग गोरखालैंड राज्य की मांग में पिछले दो महीनों से चल रही अनिश्चितकालीन हड़ताल के दौरान ऐसी घटना पहली बार हुई है.
पुलिस ने बताया कि विस्फोट में किसी के हताहत की कोई खबर नहीं है लेकिन कई दुकानें जलकर राख हो गई. इस पर्वतीय शहर के चौक बाजार इलाके में मोटर स्टैंड के पास हुए इस हमले के पीछे गोरखालैंड समर्थकों का हाथ होने का संदेह है.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘‘मध्य रात्रि के तकरीबन 12:15 से 12:30 बजे के बीच यह विस्फोट हुआ है. यह विस्फोट उस वक्त हुआ जब एक गश्त वाहन उस इलाके में गश्ती लगा रहे थे.’’ यहां चल रहे अनिश्चितकालीन बंद का आज 66वां दिन है.
दार्जिलिंग के पुलिस महानिरीक्षक मनोज वर्मा ने कहा, ‘‘कुछ दिनों पहले ऐसी खबर आयी थी कि बिजनबारी इलाके में एक बिजली संयंत्र से काफी मात्रा में विस्फोटक पदार्थ चोरी हुए हैं. हमें संदेह है कि उसी विस्फोटक पदार्थों का इस विस्फोट में इस्तेमाल किया गया है. हमें इस विस्फोट के पीछे जीजेएम के समर्थकों का हाथ होने का संदेह है. हमने इस मामले की जांच शुरू कर दी है और अपराधियों की तलाश की जा रही है.’’ पुलिस ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर दी है.
जीजेएम नेतृत्व हालांकि इस पर कोई टिप्पणी के लिए उपलब्ध नहीं हो सके.

1503154311 Image 1503154304251

यूपी के मुजफ्फनगर के पास खतौली में ट्रेन नंबर 18477 पुरी-उत्कल एक्सप्रेस के 6 डिब्बे पटरी से उतर गए हैं. अब तक 70 लोगों के घायल होने की सूचना है. बता दें कि ट्रेन पुरी से हरिद्वार जा रही थी. हादसा शनिवार की शाम 5 बजकर 46 मिनट पर हुआ है. उत्तर प्रदेश हाल के दिनों में ये चौथी रेल दुर्घटना है.।

फेल हुई जीरो एक्सीडेंट की पॉलिसी

रेल मंत्री सुरेश प्रभु की जीरो एक्सीडेंट की पॉलिसी उस समय बेमतलब साबित हो गई, जब एक बार फिर मुजफ्फनगर के पास खतौली में ट्रेन नंबर 18477 पुरी-उत्कल एक्सप्रेस के 6 डिब्बे पटरी से उतर गए. यह हादसा इतना भयानक है कि लोगों के लिए इस को भुला पाना संभव नहीं होगा. इस एक्सीडेंट के सही कारणों का पता तब भी चलेगा, जब रेलवे कमिश्नर सेफ्टी अपनी जांच पूरी करेगा. बहरहाल जो भी हो इस हादसे ने बुलेट ट्रेन की बड़ी-बड़ी बातें करने वाले रेल मंत्री सुरेश प्रभु और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पोलपट्टी खोल कर रख दी है. इस हादसे में यह साबित कर दिया है कि सेफ्टी के मामले में रेलवे पूरी तरह से फिसड्डी साबित हुआ है.

1503037588 Image 1503037583322

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में आज यूपी कैबिनेट की बैठक हुई। बैठक में कई महत्वपूर्ण प्रस्तावों को हरी झंडी दी गई। कैबिनेट में 8 महत्वपूर्ण प्रस्ताव पास किये गए। बैठक में राज्य भूजल संरक्षण योजना को मंजूरी दी गई। इस योजना के तहत 271 विकास खंडों और 22 शहरों का चयन किया गया है। बुंदेलखंड के 15, पूर्वांचल के 7 और पश्चिमी यूपी के 3 जिले चिह्नित किये गए हैं। प्रदेश के 25 विकास खण्डों में वाटर रिचार्ज का काम किया जाएगा।
डीएम की अध्यक्षता में गठित कमिटी योजना की मॉनिटरिंग करेगी। प्रदेश स्तर पर योजना की निगरानी मुख्य सचिव की अध्यक्षता में कमिटी करेगी। केंद्र की तरह ई-मार्केट प्लेस को राज्य सरकार अपनाएगी। यूपी सरकार इस योजना के लिए केंद्र सरकार के साथ एमओयू पर हस्ताक्षर करेगी। इसके अलावा 6.5 करोड़ रूपये के खर्चे से 22 नई इनोवा कारों की खरीद को मंजूरी दी गई है। प्रदेश में एलटी ग्रेड शिक्षकों के 9342 खाली पदों पर मानदेय के आधार पर नियुक्ति करने का निर्णय लिया गया है।
प्रदेश के जिन 20 जनपदों में बेसिक शिक्षा विभाग में सरप्लस शिक्षक हैं, उन्हें प्रतिनियुक्ति पर भेजे जाने का निर्णय सरकार ने लिया है। रिटायर शिक्षकों को मानदेय पर रखने का निर्णय लिया गया है। यूपी सरकार के पास 23 पुरानी गाड़ियां थीं जिनमें से 22 को बेचने का निर्णय लिया गया है।
यूपी कैबिनेट के ताजा निर्णयों में कई निर्णय महत्वपूर्ण माने जा रहे हैं। सबसे महत्वपूर्ण निर्णय शिक्षकों की प्रतिनियुक्ति से जुड़ा हुआ है। शिक्षकों के स्कूलों में न पहुंचने को लेकर मुख्यमंत्री पूर्व में भी कई बार सार्वजनिक तौर पर अपने गुस्से का इजहार कर चुके हैं। इससे पहले कई जनपदों से इस तरह की खबरें आईं थी कि शिक्षक जरूरत से अधिक हैं। इन सबके बीच प्रदेश कैबिनेट का ताजा निर्णय ऐसे शिक्षकों की परेशानी बढ़ाने वाला है जो घर से पगार उठा रहे थे। इसके अलावा रिटायर्ड शिक्षकों की मानदेय पर नियुक्ति का निर्णय भी काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

1502970229 Image 1502970224861

समायोजन रद्द होने के बाद से आन्दोलनरत शिक्षा मित्रों में बुधवार को एक बार फिर उबाल आ गया। शहर के निकट एक गेस्ट हाउस में सुबह एकत्र हुए सैकड़ों शिक्षा मित्रों ने पहले रणनीति बनाई। दोपहर बाद जुलूस की शक्ल में सैकड़ों शिक्षा मित्र शहर से गुजरे लखनऊ-फैजाबाद हाइवे पर आ गए। भारी सुरक्षा व्यवस्था के बाद भी हाइवे पर स्थित लखपेड़ाबाग चौराहे पर बैठ गए और जमकर नारेबाजी की। 15 मिनट तक हाइवे जाम रहा। प्रदर्शन के बाद वह फिर गेस्ट हाउस पहुंच गए।
पीएम-सीएम के खिलाफ नारेबाजी भीषण उमस बीच शिक्षामित्रों ने ‘योगी-मोदी होश में आओ’ और ‘रोजी रोटी दे ना सके जो वह सरकार निकम्मी है’ के जोरदार नारे लगाए। शिक्षा मित्र संघ के जिलाध्यक्ष विनोद कुमार वर्मा ने बताया कि 15 दिन का समय पूरा हो चुका है, मगर अभी तक शिक्षा मित्रों के बारे में सरकार ने कोई निर्णय नहीं लिया है।

1502969275 Image 1502969270768

थानों में जन्माष्टमी को लेकर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा दिए गए बयान पर बीजेपी नेता विनय कटियार ने अपनी राय व्यक्त की. उन्होंने कहा, "योगी जी ने जो कहा वो ठीक कहा है, मैं उनका समर्थन करता हूं. अगर और भी कदम उठाने पड़ेंगे उठाए जाएंगे, हम सब साथ हैं."
विनय कटियार ने कहा, "जब से योगी जी मुख्यमंत्री बने हैं तब से उन्होंने बहुत से काम किए हैं. मैं समझता हूं कि हिंदू धर्म के लिए वो आवश्यक कदम उठा रहे हैं. पहले जन्माष्टमी पुलिस थानो में मनाई जाती थी लेकिन तुष्टीकरण की राजनीति के कारण समाजवादी पार्टी की सरकार ने इस पर रोक लगा दी और सड़कों पर नमाज अदा करने को अनुमति दे दी. जैसा चाहो वैसा करो, उपद्रव करो, नरसंहार करो और छेड़छाड़ करने की छूट दे दी और हमें जन्माष्टमी मनाने पर भी रोक ये ठीक नहीं है. इसलिए योगी जी ने जो कहा वो ठीक कहा है, मैं उनका समर्थन करता हूं. अगर और भी कदम उठाने पड़ेंगे उठाए जाएंगे, हम सब साथ हैं."
कांवड़ यात्रा पर बात करते हुए विनय कटियार ने कहा, "कावड़ में ढोल, नगाड़ा और मंजीरा बजता है. ये ठीक है क्योंकि सब लोग दूर से आते हैं. इससे जागरण भी हो जाता है. इस पर भी योगी जी ने ठीक कहा कि अगर ये सब नहीं बजेंगे तो श्मशान यात्रा लगेगी. हां, कुछ लोग नशा कर लेते हैं. भोले के भक्त हैं, इसमें कोई आपत्ति नहीं है. सब भोले के दरबार में जा रहे हैं, वहां सब चलता है. लेकिन संयम से जाना चाहिए." मस्जिदों में लाउडस्पीकर पर बोलते हुए कटियार ने कहा, "मस्जिदों में पहले तो लाउडस्पीकर नहीं लगते थे. अब तो मस्जिदों में लाउडस्पीकर की बाढ़ आ गई है. अब मस्जिदों में लाउडस्पीकर लगाने के लिए लड़ाई झगड़ा करते हैं. सांप्रदायिक दंगा करने में मस्जिदों से लाउडस्पीकर का इस्तेमाल किया जाता है. अगर अजान का यूज किया जाए तो ठीक है लेकिन उसका उपयोग सांप्रदायिक दंगा कराने के लिए किया जाता है.
जैसे कहीं भी थोड़ा सा सांप्रदायिक तनाव होता है मस्जिदों से आल्हा-हू-अकबर के नारे लगाए जाते हैं. जिससे तनाव बढ़ता है. लाउडस्पीकर को बंद करना चाहिए."
विनय कटियार ने आगे कहा, "योगी सरकार हिंदू और मुसलमान दोनों को मजबूत करने के लिए काम कर रही है. हम कह रहे हैं कि अगर आप सड़क पर नमाज अदा करेंगे तो जन्माष्टमी भी मनेगी. यूपी में राम वनवास खत्म हो गया है. योगी जी राम भक्तों के लिए भी काम कर रहे हैं." ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर विनय कटियार ने कहा, "ये बात सही है कि तलाक महिलाओं का उत्पीड़न करने का काम है. ये दुर्भाग्यपूर्ण है इसलिए हमने विरोध किया. ट्रिपल तलाक मामला बंद होना चाहिए. हलाला पूरी तरह से खत्म होना चाहिए. हलाला उत्पीड़न करने का काम है. हलाला तो अपमान करने का काम है. इसमें मौलवियों की चांदी है. इसमें महिला को यातना सहनी पड़ रही है. ये ट्रिपल तलाक भारत में क्यों लागू हो. हमने कोर्ट में इसका विरोध किया है. अगर तलाक नहीं होगा तो हलाला नहीं होगा. ये पूरी तरह से गलत है. इसको बंद करना चाहिए. अगर कोर्ट का निर्णय ट्रिपल तलाक के खिलाफ आएगा तो खुशी होगी."

1502949296 Image 1502949292736


उत्तर प्रदेश सरकार और शिक्षामित्रों के बीच वार्ता विफल हो गई है. इसके बाद शिक्षामित्रों ने गुरुवार से सूबे के सभी जिलों में स्कूलों में शिक्षण कार्य का बहिष्कार कर फिर से आन्दोलन का ऐलान किया है. शिक्षामित्रों ने सरकार के उस प्रस्ताव को ठुकरा दिया जिसमें उन्हें दस हजार रुपये महीने मानदेय देने की बात कही गई थी.
दूसरी तरफ सरकार ने भी आन्दोलन से निपटने की तैयारी करते हुए ऐसे लोगों को चिन्हित कर उनके खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए हैं.
बेसिक शिक्षा विभाग के अपर प्रमुख सचिव राजप्रताप सिंह ने बुधवार को शिक्षामित्रों के संगठनों के पदाधिकारियों को वार्ता के लिए सचिवालय बुलाया था. सिंह ने उनके सामने दस हजार रूपये महीने मंदी और मूल विद्यालय या मौजूदा विद्यालय में ही नियुक्ति का प्रस्ताव रखा. सहायक अध्यापकों की भर्ती में वरीयता के प्रस्ताव पर विचार विमर्श का आश्वासन भी दिया. इस पर शिक्षामित्रों ने कहा कि इतने वर्ष के अनुभव के बाद भी वे दस हजार रूपये में पढ़ाने को तैयार नहीं हैं. उन्हें सहायक अध्यापक बनने पर 39 हजार रूपये वेतन व् भत्ते मिल रहे हैं. दस हजार रूपये में परिवार का पालन-पोषण संभव नहीं है.
दोनों पक्षों के अड़ने के बाद करीब पांच मिनट में ही वार्ता विफल हो गई. इसके बाद शिक्षामित्रों ने गुरुवार से प्रदेश के सभी जिलों में फिर से शिक्षण कार्य के बहिष्कार की घोषणा करते हुए कहा कि वे 21 अगस्त को लखनऊ में और 25 अगस्त को दिल्ली में आन्दोलन करें।

1502875686 Image 1502875680963

स्वतंत्रता दिवस  पर जिन मदरसों में राष्ट्रगान नहीं गया और सांस्कृतिक कार्यक्रमों की वीडियोग्राफी नहीं की गई, उन मदरसों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई हो सकती है. योगी सरकार द्वारा जारी फरमान को न मानने वाले मदरसों पर नेशनल सिक्यूरिटी एक्ट (एनएसए) के तहत कार्रवाई हो सकती है.
दरसरल कहा जा रहा है कि सरकार के इस आदेश का करीब 150 मदरसों में पालन नहीं किया गया. जिसकी शिकायत मिलने पर बरेली के डिविजनल कमिश्नर डॉ पीवी जगनमोहन ने कहा है कि अगर आरोप सही पाए गए तो इन मदरसों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.
ईटीवी के साथ फोन पर हुई बातचीत में डिविजनल कमिश्नर ने कहा कि जहां राष्ट्रगान नहीं गाने के सबूत मिले हैं उन मदरसों से जुड़े लोगों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) लगाया जाएगा.
उन्होंने कहा कि, “'शिकायतकर्ताओं से इस बाबत पुख्ता सबूत पेश करने को कहा गया है. अगर जांच में राष्ट्रगान नहीं गाए जाने की पुष्टि हुई और मदरसा प्रबंधन लिखित में यह स्वीकार करता है तो हम उनके खिलाफ केस दर्ज करेंगे. अगर पुख्ता सबूत मिले तो हम ऐसे लोगों के खिलाफ प्रिवेंशन ऑफ नैशनल ऑनर ऐक्ट और नैशनल सिक्यारिटी ऐक्ट के तहत कार्रवाई कर सकते हैं.”
बरेली के शहर काजी मौलाना असजद रजा खान ने पहले ही ऐलान कर रखा था कि राष्ट्रगान 'गैरइस्लामी' है क्योंकि इसमें कुछ ऐसे शब्द हैं जो इस्लाम के खिलाफ हैं. इसके अलावा दरगाह आलाहजरत से मदरसों में राष्ट्रगान न गाए जाने का फरमान भी जारी हुआ था. दरसल इस सरकारी आदेश को उलमा ने एक स्वर से नकार दिया. बरेलवी मरकज से जुड़े मदरसों में तिरंगा तो फेहराया गया लेकिन, राष्ट्रगान नहीं गया. इसके बदले सारे जहां से अच्छा हिदोस्तां हमारा.. गाया गया. बरेली के शहर काजी मौलाना असजद रजा खान ने पहले ही ऐलान कर रखा था कि राष्ट्रगान 'गैरइस्लामी' है क्योंकि इसमें कुछ ऐसे शब्द हैं जो इस्लाम के खिलाफ हैं. उन्हें राष्ट्रगान में अधिनायक शब्द को लेकर आपत्ति थी. इतना ही नहीं राष्ट्रगान में शामिल ‘भारत भाग्य विधाता’ को भी गैर इस्लामिक बताया गया है.
गौरतलब है कि लगभग 150 मदरसों में तिरंगा तो फहराया गया, लेकिन राष्ट्रगान नहीं गाया गया. इसकी जगह सारे जहां से अच्छा हिन्दोस्तां का तराना पढ़ा गया.
बताते चलें है कि उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा बोर्ड के रजिस्ट्रार राहुल गुप्ता ने 3 अगस्त को राज्य के सभी जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारियों को सर्कुलर जारी करते हुए कहा था कि राज्य के सभी मदरसों में तिरंगा फहराकर राष्ट्रगान गाया जाएगा. इस कार्यक्रम की वीडियोग्राफी भी की जाएगी. अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमंत्री बलदेव सिंह औलख ने कहा कि जिन मदरसों में सरकार के इस आदेश का पालन नहीं हुआ उनके खिलाफ कार्वाई की जाएगी.

1502872428 Image 1502872360683

राजधानी लखनऊ स्थित विधान भवन के सामने बुधवार को प्रदर्शन करने गए पुलिस भर्ती अभ्यर्थियों पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया।
वहां पहुंचे अभ्यर्थियों का कहना है कि वो शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन कर रहे थे लेकिन इसके बावजूद पुलिस ने बल का प्रयोग किया। उनके अनुसार इस लाठीचार्ज में कई अभ्यर्थी चोटिल भी हुए हैं। पुलिस की इस कार्रवाई से वहां भगदड़ मच गई। लाठीचार्ज के बाद वहां पहुंचे प्रदर्शनकारियों ने काफी देर तक हंगामा किया जिसके बाद पुलिस ने उन सभी को वहां से खदेड़ दिया।

1502872428 Image0

Page 1 of 187

Media News

  • Bollywood
  • Life Style
  • Trending
  • +18
  • IPL 2017
Post by साकेत सिंह धोनी
- Aug 04, 2017
नवाजुद्दीन सिद्दिकी की आने वाली फिल्म ‘बाबूमोशाय बंदूकबाज’ पिछले कुछ समय से लगातार चर्चा में है। अपने ट्रेलर से लेकर ...
Post by पुनीत पाण्डेय
- Jul 27, 2017
मुलेठी (यष्टीमधु ) - मुलेठी से हम सब परिचित हैं | भारतवर्ष में इसका उत्पादन कम ही होता है | यह ...
Post by साकेत सिंह धोनी
- Aug 09, 2017
दक्षिण-पूर्व चीन के गुआंगजौ शहर के लोग उस समय हैरान रह गए जब एक 12 साल के लड़के को शहर की सड़कों पर बस चलाते देखा। इससे ...
Post by साकेत सिंह धोनी
- Aug 17, 2017
बॉलीवुड की लैला सनी लियोनी का जादू लोगों पर ऐसा चलता है कि लोग उन्हें पर्दे पर देखकर दीवाने हो जाते हैं. हाल में सनी एक ...
Post by साकेत सिंह धोनी
- Aug 18, 2017
भारतीय टीम के मध्यक्रम के बल्लेबाज सुरेश रैना को यूएई में स्थित गल्फ पेट्रोकेम ग्रुप, जीपी पेट्रोलियम लिमिटेड ने ...
Top
We use cookies to improve our website. By continuing to use this website, you are giving consent to cookies being used. More details…