Uttar Pradesh

अब लोगो की हैसियत देख रहे अखिलेश यादव,लखनऊ के एसएसपी को कहा हैसियत ही क्या है……

प्रदेश की राजधानी लखनऊ की वीआइपी क्षेत्र की सड़कों पर छह जनवरी को आलू फेंके जाने के मामले में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव भी कूद पड़े हैं। समाजवादी पार्टी से जुड़े दो लोगों की कन्नौज से गिरफ्तारी के बाद अखिलेश यादव ने आज मीडिया से कहा कि इस ‘बड़े’ मामले को खोलने वाले लखनऊ के एसएसपी दीपक कुमार को तो मैं भविष्य में यश भारती से सम्मानित करूंगा। अखिलेश यादव ने आज लखनऊ में छात्रसंघ के तमाम पदाधिकारियों को संबोधित किया।

उन्होंने कहा कि लखनऊ में आलू फेंके जाने वाले मामले में समाजवादी पार्टी की भूमिका बताने वाले एसएसपी वाकई में बहुत काबिल अफसर हैं। उनको शायद पता नहीं है कि प्रदेश में कोल्ड स्टोर में आलू बर्बाद हो रहा है। हर किसान ने कर्ज ले रखा है। अगर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता किसान हैं और वह कन्नौज से लखनऊ आलू लाए तो क्या गुनाह कर दिया।

लखनऊ के एसएसपी की हैसियत क्या है। यह एसएसपी चोर और अपराधियों को नहीं रोक पाए रहे हैं। जिनको कानून व्यवस्था सही करनी हो वह आलू किसानों को गिरफ्तार कर रहे हैं। एसएसपी के घर के पास में ही पूर्व विधायक के बेटे की हत्या हो गई। अगर आलू हमारे नेताओं ने फेंका तो क्या गलत किया। अब हम किसानों से कह रहे कि एक-एक बोरी आलू जिले के डीएम को दें। उसके बाद एक-एक छुट्टा जानवर भी हर जिले के डीएम को देंगे। सरकार के रवैये से कानून व्यवस्था सही नहीं होगी।

अखिलेश यादव ने सपा कार्यालय पर पदाधिकारियों की बैठक को संबोधित करते हुए भाजपा सरकार पर जमकर हमला बोला। अखिलेश ने कहा अब कहीं सुन रहे हैं छापा पड़ा, भाजपा ध्यान हटाने में माहिर है। भाजपा वाले ओपीनियन जेब मे लेकर चलते हैं किसान बर्बाद हो गया यहां, गन्ना किसानों का भुगतान नही हो पा रहा किसान को उसी के आलू की कीमत नहीं मिल रही है।

कन्नौज के सपा कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी पर अखिलेश ने कहा कि किसान आलू डाल गए यहां और वो कन्नौज में ढूंढ रहे हैं। कोल्ड स्टोरेज वालों को भी सुविधा नही मिली है। यहां पर अब पुलिस कानून व्यवस्था सुधारने में नहीं, दूसरे कामों में लगी है। जिस तेजी से बाज़ार बदल रहा उस तरह सरकार तैयारी नही कर रही। छात्रसंघ नेताओं को अखिलेश ने बुलवाया सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लोकसभा चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है। वह चुनाव के पहले अपने संगठन को मजबूत करने पर पूरा ध्यान दे रहे हैं।

लगातार कई दलों के नेताओं को अखिलेश यादव सपा में शामिल करा रहे हैं जिससे उनका वोट बैंक मजबूत हो सके। साथ ही बूथ लेवल पर भी सपा को मजबूत करना अखिलेश यादव के लिए काफी चुनौती भरा साबित होने वाला है। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने छात्रसंघ के पदाधिकारियों को लखनऊ बुलाया है। अखिलेश यादव सपा कार्यालय में पार्टी पदाधिकारियों से मुलाकात की। सभी छात्रनेताओं को अखिलेश यादव 2019 विजय के लिए जिम्मेदारियां देंगे। बैठक में अखिलेश यादव 2019 की चुनावी भूमिका पर चर्चा करेंगे।

अखिलेश यादव ने छात्रनेताओं से कहा कि समाज में कुछ ऐसी ताकतें घुस गई हैं जो जाति व धर्म के नाम पर लोगों को तोड़ रही हैं। नौजवान को इन ताकतों से सावधान रहने की जरूरत है। इतने युवा किसी पार्टी के पास नहीं, जितने समाजवादी पार्टी के पास हैं। सदन में भी सपा के सबसे ज्यादा युवा एमएलसी हैं। हमारी पार्टी संगठन की पार्टी, कभी कभी पार्टी में अनुशासन नहीं दिखता। जिनसे हमारा मुकाबला है वो झूठा प्रचार करने में आगे हैं। अब नई पीढ़ी का रिश्ता टेक्नोलोजी से ज्यादा है।

भाजपा सरकार ने अयोध्या में सरकारी हेलिकॉप्टर को पुष्पक विमान बना दिया, राम, लक्ष्मण सीता को लाए उससे बाद में मोबाइल पर उन सीता की तस्वीर आई। टेक्नोलॉजी के दौर मे आज कुछ नही छुप सकता। अब तो युवा इसका बेहतर इस्तेमाल करें। लाल टोपी पहनने वाले संघर्ष से नहीं घबराते हैं।